Lockdown : गर्लफ्रेंड के साथ मौज-मस्‍ती के लिए निकला फर्जी पुलिस इंस्‍पेक्‍टर पकड़ा गया

आरोपी तैय्यब पुलिस की वर्दी पहने एक महिला के साथ जा रहा था, जब पुलिस ने उसे धर दबोचा. फोटो साभार/ट्विटर
आरोपी तैय्यब पुलिस की वर्दी पहने एक महिला के साथ जा रहा था, जब पुलिस ने उसे धर दबोचा. फोटो साभार/ट्विटर

आरोपी जालसाजी करने और सुरक्षा कर्मियों को धोखा देने के लिए पुलिस की वर्दी पहन कर निकलता था. पुलिस ने आरोपी के पास से एक नकली पुलिस कार्ड भी बरामद किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 27, 2020, 1:04 PM IST
  • Share this:
लाहौर. पाकिस्‍तान (Pakistan) में एक फर्जी इंस्‍पेक्‍टर को अपनी गर्ल फ्रेंड के साथ लॉकडाउन (Lockdown) में सैर-सपाटे करना महंगा पड़ गया. लाहौर (Lockdown) की रिंग रोड पुलिस (Police) ने उसे धर दबोचा. उसके पास से पुलिस का एक नकली पहचान पत्र बरामद किया है. आरोपी को डिफेंस सी पुलिस स्टेशन को सौंप दिया गया, जबकि महिला को उसके माता-पिता के हवाले कर दिया गया है.

गर्ल फ्रेंड के साथ सैर-सपाटे को निकला था
'सिटी 42' की खबर के मुताबिक रिंग रोड पुलिस ने एक फर्जी इंस्‍पेक्‍टर को तब पकड़ा, जब वह लॉकडाउन के दौरान अपनी गर्ल फ्रेंड के साथ सैर-सपाटे के लिए निकला था. आरोपी तैय्यब पुलिस की वर्दी पहने एक महिला के साथ जा रहा था, जब पुलिस ने उसे चेक पोस्ट पर रोक दिया. जांच के बाद पुलिस ने पाया कि आरोपी पुलिस विभाग का कर्मचारी नहीं था, बल्कि एक फर्जी इंस्‍पेक्‍टर था. वह जालसाजी करने और सुरक्षा कर्मियों को धोखा देने के लिए पुलिस की वर्दी पहन कर निकलता था. पुलिस ने आरोपी के पास से एक नकली पुलिस कार्ड भी बरामद किया है.

इसके बाद पुलिस ने आरोपी तैय्यब को वाहन समेत थाना डिफेंस से स्थानांतरित करके उसके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है. वहीं लड़की को उसके परिवार के हवाले कर दिया गया है. पुलिस ने कहा कि आरोपी तैय्यब मोटरवे फाइन कलेक्शन टीम का सदस्य है. वह एक फर्जी इंस्पेक्टर की वर्दी पहने एक महिला के साथ सैर-सपाटे करने निकला था.
सुरक्षा एजेंसियों की आंखों में धूल झोंकने को जालसाज माफिया सक्रिय


गौरतलब है कि जालसाज माफिया सुरक्षा एजेंसियों की आंखों में धूल झोंकने में सक्रिय हैं. इसी साल के पहले महीने में एक ऐसा ही मामला सामने आया था. तब पुलिस सब-इंस्‍पेक्टर का रूप धारे एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया था. तब पुलिस ने सब-इंस्पेक्टर की वर्दी पहने आरोपी मलिक मुदस्सिर अहमद नाम के आरोपी ने कहा था कि वह एचआरएम का कर्मचारी है. हालांकि उसका एचआरएम का कर्मचारी होने का कोई रिकॉर्ड नहीं पाया गया था.

जांच के दौरान यह सामने आया कि नकली सब-इंस्पेक्टर आरोपी मुदस्सिर अहमद कोट अब्दुल मालिक का रहने वाला था और पुलिस की वर्दी में विभिन्न सरकारी और अर्ध-सरकारी कार्यालयों में अपने काम निकलवाता रहता था.

ये भी पढ़ें - PAK : बच्‍ची से दुष्‍कर्म की कोशिश करने वाला गिरफ्तार, 18 बच्‍चे बने शिकार

                PAK : लॉकडाउन में भी लोगों पर लगाया दोगुना जुर्माना, वसूले 2 करोड़, 92 लाख

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज