लाइव टीवी

लंदन-सिडनी के बीच हाइपरसोनिक विमान पर काम शुरू, चार घंटे में तय करेगा 17 हजार KM

News18Hindi
Updated: November 2, 2019, 3:08 PM IST
लंदन-सिडनी के बीच हाइपरसोनिक विमान पर काम शुरू, चार घंटे में तय करेगा 17 हजार KM
हाइपरसोनिक विमान से यात्रियों को सफर कराने की हो रही तैयारी.

लंदन (London) से सिडनी (Sydney) की दूरी 17 हजार किमी है. आमतौर पर इस सफर में 25 घंटे लगते हैं. लेकिन हाइपरसोनिक विमान (Hypersonic plane) के जरिये यह सफर 4 घंटे में होने का दावा किया जा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 2, 2019, 3:08 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. हवाई सफर (Air Travel) को आसान और तेज बनाने के लिए दुनिया भर में कोशिशें हो रही हैं. इसी क्रम में ब्रिटेन के लंदन (London) और ऑस्‍ट्रेलिया के सिडनी (Sydney) के बीच 2030 से हाइपरसोनिक विमान (Hypersonic Plane) के जरिये सफर कराने की योजना पर काम हो रहा है. इसके लिए ब्रिटेन की अंतरिक्ष एजेंसी ऑस्‍ट्रलियाई एजेंसी के साथ काम कर रही है.

दोनों देशों के बीच हाइपरसोनिक विमान को लेकर वर्ल्‍ड फर्स्‍ट स्‍पेस ब्रीज नामक समझौता हुआ है. वैसे तो लंदन से सिडनी की दूरी 17 हजार किमी है. आमतौर पर इस सफर में 25 घंटे लगते हैं. लेकिन हाइपरसोनिक विमान के जरिये यह सफर 4 घंटे में होने का दावा किया जा रहा है.

बेहद तज रफ्तार होगी
हाइपरसोनिक विमान में इस्‍तेमाल होने वाला इंजन सिनर्जेटिक एयर-ब्रेथिंग रॉकेट इंजन तकनीक पर आधारित है. इस तकनीक वाले इंजन की रफ्तार मैक 5 (करीब 6200 किमी प्रति घंटा) से अधिक होती है. इसके अलावा पृथ्‍वी के वायुमंडल से बाहर जाने पर इसकी रफ्तार 30 हजार किमी प्रति घंटा के करीब भी पहुंच सकती है.



कॉनकोर्ड को 2003 में सेवा से बाहर कर दिया गया था.




ब्रिटिश स्पेस एजेंसी के प्रमुख ग्राहम टर्नाक का इस संबंध में कहना है कि रॉकेट इंजन के लगे होने से हम चार घंटे में ऑस्ट्रेलिया पहुंच सकेंगे. यह बेहद उन्नत तकनीक है. 2030 तक हम विमान का परिचालन शुरू कर पाएंगे.

कॉनकोर्ड से अधिक होगी रफ्तार
इस हाइपरसोनिक विमान की रफ्तार कॉनकोर्ड विमान से 50 गुना अधिक होगी. ब्रिटेन के कॉनकोर्ड सुपरसोनिक विमान की अधिकतम रफ्तार 2179 किमी प्रति घंटा से अधिक थी. 1976 में इसने पहली बार लंदन से पेरिस के लिए उड़ान भी थी, लेकिन बाद में इसके इंजन में होने वाली तेज आवाज की शिकायत और कुछ अन्‍य खामियों के चलते इसे 2003 में सेवा से बाहर कर दिया गया था. यह अब तक का सबसे तेज यात्री विमान था.

यह भी पढ़ें: ब्वॉयफ्रेंड ने पायलट से किया झगड़ा, ब्रिटिश एयरवेज ने एयरहॉस्टेस को किया सस्पेंड
First published: November 2, 2019, 2:40 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading