Home /News /world /

भारत से प्यार, बड़ा मित्र.. इजरायल के पीएम बेनेट ने दोनों देशों के बीच दिया दोस्ती का बड़ा पैगाम

भारत से प्यार, बड़ा मित्र.. इजरायल के पीएम बेनेट ने दोनों देशों के बीच दिया दोस्ती का बड़ा पैगाम

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने इजराइल के प्रधानमंत्री नफ्ताली बेनेट के साथ कई मुद्दों पर चर्चा की.

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने इजराइल के प्रधानमंत्री नफ्ताली बेनेट के साथ कई मुद्दों पर चर्चा की.

भारत और इजरायल (India-Israel) के बीच दोस्ती की डोर लगातार मजबूत हो रही है. इसका ताजा सबूत इजरालय के दौरे पर गए विदेश मंत्री एस जयशंकर (EAM S Jaishankar) और इजरायली पीएम (Israeli PM) नफ्ताली बेनेट (Naftali Bennett) के उस बयान से मिलता है जिसमें उन्होंने भारत काे बड़ा मित्र बताया. इस बीच, भारत ने भी बेनेट को पीएम नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) की तरफ से शुभकामनाएं दीं और उन्हें भारत की यात्रा का निमंत्रण दिया.

अधिक पढ़ें ...

    यरूशलम. भारत और इजरायल (India-Israel) के बीच दोस्ती की डोर लगातार मजबूत हो रही है. इसका ताजा सबूत इजरालय के दौरे पर गए विदेश मंत्री एस जयशंकर (EAM S Jaishankar) और इजरायली पीएम (Israeli PM) नफ्ताली बेनेट (Naftali Bennett) के उस बयान से मिलता है जिसमें उन्होंने भारत काे बड़ा मित्र बताया. उन्होंने कहा कि वह भारत से प्यार करते हैं और सभी क्षेत्रों में संबंध बढ़ाने के लिए तेजी से आगे बढ़ रहे हैं. इस बीच, भारत ने भी बेनेट को पीएम नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) की तरफ से शुभकामनाएं दीं और उन्हें भारत की यात्रा का निमंत्रण दिया.

    बैठक शुरू होने पर इजराइल के प्रधानमंत्री नफ्ताली बेनेट ने जयशंकर से कहा, ‘मैं इजराइल के लोगों की ओर से कहता हूं: हम भारत से प्यार करते हैं. हम भारत को अपना बड़ा मित्र मानते हैं और हम सभी क्षेत्रों में अपने संबंध बढ़ाने को आशान्वित हैं.’  बैठक के बाद विदेश मंत्री जयशंकर ने ट्वीट किया, ‘आज हम अपने संबंधों के एक महत्वपूर्ण चरण में हैं क्योंकि हमारे लिये चीजें काफी अच्छी चल रही हैं. इसने कई संभावनाओं के द्वार खोल दिये हैं. इसलिये मैं समझता हूं कि चुनौती यह है कि हम अपने संबंधों को अगले स्तर तक कैसे ले जायेंगे.’

    इजराइल के प्रधानमंत्री नफ्ताली बेनेट के मीडिया सलाहकार ने कहा, ‘जयशंकर ने प्रधानमंत्री नफ्ताली बेनेट से भेंट की और भारत एवं इजराइल के बीच गर्मजोशी से भरे मित्रतापूर्ण संबंधों को और प्रगाढ़ बनाने, द्विपक्षीय संबंधों को बढ़ाने तथा सामरिक गठबंधन को मजबूत बनाने पर चर्चा की.’ सलाहकार ने कहा कि प्रधानमंत्री बेनेट ने भारत और इजराइल के गठबंधन के प्रति उनकी निजी प्रतिबद्धता के लिये अपने भारतीय समकक्ष प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री जयशंकर को धन्यवाद दिया. उन्होंने कहा, ‘इजराइल के साथ संबंधों को लेकर भारत में भावनाएं एवं हित काफी मजबूत हैं.’ उन्होंने कहा, ‘ हमारे सामरिक गठबंधन की सम्पूर्ण क्षमता को हासिल करने के लिये गर्मजोशी से पूर्ण एवं विस्तृत चर्चा की. इसके बारे में प्रधानमंत्री बेनेट का उद्देश्यपूर्ण और केंद्रित रुख काफी उत्साहवर्द्धक था.’

    ये भी पढ़ें :  विश्व हिंदू परिषद चलायेगा मंदिरों को सरकारी नियंत्रण से मुक्त कराने का अभियान

    जयशंकर ने कहा कि बेनेट का सामरिक दृष्टिकोण भी काफी मूल्यवान रहा. उन्होंने कहा, ‘भारत और इजराइल अगले 30 वर्षो के लिये गठबंधन की दृष्टि को हासिल करने के लिये और करीब से काम करेंगे.’ इससे पहले, जयशंकर ने इजराइल के राष्ट्रपति इसाक हर्जोग से भेंट की तथा द्विपक्षीय संबंधों को और मजबूत बनाने सहित आपसी हितों से जुड़े क्षेत्रीय एवं वैश्विक मुद्दों पर विचारों का आदान प्रदान किया. जयशंकर पांच दिवसीय यात्रा पर इजराइल में हैं. विदेश मंत्री के रूप में यह उनकी पहली इजराइल यात्रा है. वह इजराइल के विदेश मंत्री येर लेपिड के निमंत्रण पर यहां आए हैं. यह बैठक बेत हानासी में हुई, जो इजराइली राष्ट्रपति का अधिकारिक आवास है. जयशंकर ने ट्वीट किया, ‘राष्ट्रपति इसाक हर्जोग से मिलकर प्रसन्न हूं . हमारी चर्चा में बदलते भू राजनीतिक परिदृश्य के आयाम शामिल रहे.’

    ये भी पढ़ें  :   कश्मीर में बोले सैन्य अधिकारी-क्या आप पाकिस्तान जैसा समाज बनना चाहते हैं?

    उन्होंने कहा कि हम द्विपक्षीय संबंधों को अगले स्तर तक ले जाने की प्रतिबद्धता की काफी सराहना करते हैं. वहीं, राष्ट्रपति हर्जोग ने अपने ट्वीट में कहा, ‘दो प्राचीन राष्ट्र, दो गौरवशाली लोकतंत्र. हमारे करीबी मित्र और सहयोगी भारत के विदेश मंत्री डा. जयशंकर के साथ सफल चर्चा रही . प्रौद्योगिकी, कारोबार, ऊर्जा और अन्य क्षेत्र में इजराइल भारत गठजोड़ के लिये काफी संभावनाएं हैं . काफी कुछ ऐसा है जिसे हम अपनी संयुक्त रचनात्मकता से कर सकते हैं.’  राष्ट्रपति कार्यालय द्वारा जारी बयान के अनुसार, राष्ट्रपति हर्जोग ने इजराइल के साथ संबंधों को प्रगाढ़ करने एवं उन्हें मजबूती प्रदान करने के लिये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, विदेश मंत्री जयशंकर एवं अन्य मंत्रियों की प्रतिबद्धता के लिये धन्यवाद दिया. राजनयिक कामकाजी बैठक के दौरान हर्जोग ने विविध क्षेत्रों में आगे बढ़ते इजराइल-भारत संबंधों की सराहना की. बयान के अनुसार, भारत और इजराइल के राजनयिक संबंध स्थापित होने की अगले वर्ष 30वीं वर्षगांठ से पहले राष्ट्रपति हर्जोग ने इस महत्वपूर्ण संबंध को प्रगाढ़ करने में सहयोग के प्रति अपने व्यक्तिगत इरादों पर जोर दिया. इसमें कहा गया है कि राष्ट्रपति हर्जोग और जयशंकर ने वैश्विक सामरिक मामलों पर चर्चा की.

    जयशंकर ने कहा कि राष्ट्रपति हर्जोग से उनकी मुलाकात ‘बड़े सम्मान’ की बात है. विदेश मंत्री जयशंकर ने बेत हानासी में आगंतुक पुस्तिका में लिखा, ‘जब हम अपने संबंधों को उन्नत बनाने की 30वीं वर्षगांठ की ओर बढ़ रहे हैं, ऐसे में मैं भारत के लोगों और सरकार की शुभकामनाएं लाया हूं.’ मंगलवार को, विदेश मंत्री जयशंकर ने इजराइल की संसद नेसेट के स्पीकर मिकी लेवी से मुलाकात की. जयशंकर ने ट्वीट किया, ‘इजराइल के नेसेट के स्पीकर माइके लेवी से आज सुबह मुलाकात की.’ उन्होंने कहा था, ‘विदेश मामलों और रक्षा समिति के अध्यक्ष राम बेन बराक से व्यापक चर्चा की.’ विदेश मंत्री ने कहा कि वह भारत के साथ संबंधों को नेसेट में व्यापक समर्थन की सराहना करते हैं. वे आधुनिक पशुधन प्रबंधन प्रौद्योगिकी देखने किबुत्ज बेरॉत यित्जाक भी गए. सोमवार को जयशंकर ने इजराइल के विदेश मंत्री येर लेपिड के साथ ‘सार्थक’ चर्चा की थी और दोनों देशों ने मुक्त व्यापार समझौते पर वार्ता शुरू करने पर सहमति व्यक्त की थी जिसका मकसद अगले साल जून तक इस समझौते को पूरा करना है, जो काफी समय से लंबित है.

    Tags: EAM S Jaishankar, India-Israel, Israeli PM, Naftali Bennett, Prime Minister Narendra Modi

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर