Home /News /world /

बच्चे और वैक्सीन लगवा चुके लोग भी ओमिक्रॉन से संक्रमित! वायरस का पता लगाने वाली डॉक्टर ने किया खुलासा

बच्चे और वैक्सीन लगवा चुके लोग भी ओमिक्रॉन से संक्रमित! वायरस का पता लगाने वाली डॉक्टर ने किया खुलासा

डॉक्टर कोएत्जी ने कहा कि जिन लोगों को टीका नहीं लगाया है उनमें ओमिक्रॉन के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. (फाइल फोटो)

डॉक्टर कोएत्जी ने कहा कि जिन लोगों को टीका नहीं लगाया है उनमें ओमिक्रॉन के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. (फाइल फोटो)

Omicron, Omicron News, WHO, Omicron in India: भारत ने गुरुवार को कर्नाटक (Karnataka) में नए कोविड -19 वैरिएंट ओमाइक्रोन (Covid-19 Omicron) के अपने पहले दो मामलों की सूचना दी. देश में संक्रमण के नए मामले से लोगों में चिंता बढ़ गई क्योंकि खुद विश्व स्वास्थ्य संगठन चिंता बढ़ गई. सरकारी सूत्रों ने सीएनएन-न्यूज18 को बताया कि मामले एक-दूसरे से संबंधित नहीं हैं और दोनों को पूरी तरह से टीका लगाया गया था.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली: कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन (Covid New Variant) को लेकर इस समय दुनिया भर में दहशत बनी हुई है. विश्व के बड़े बड़े वैज्ञानिक इस समय वायरस (Omicron Infection) के नेचर को लेकर अध्ययन करने में लगे हुए हैं. इस बीच ओमिक्रॉन (Omicron symptoms) का पता लगाने वाली दक्षिण अफ्रीका (South Africa) की डॉ. एजेलिक कोएत्जी ने वायरस को लेकर कई बड़े खुलासे किए हैं. डॉ. कोएत्जी ने बताया कि ओमिक्रॉन से ग्रसित मरीज में क्या लक्षण होते हैं और यह एक मनुष्य के शरीर को किस तरह से प्रभावित करता है.

    CNBV-TV18 के साथ एक विशेष साक्षात्कार में, डॉ. एंजेलिक कोएत्ज़ी ने एक हैरान करने वाला खुलासा किया. उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं कह सकते कि जिनका टीकाकरण (Covid Vaccination) हो चुका है कि वे ओमिक्रॉन से संक्रमित नहीं हो सकते क्योंकि दक्षिण अफ्रीका में टीकाकरण के साथ-साथ बिना टीकाकरण वाले दोनों लोगों को कोविड के नए वेरिएंट से ग्रसित पाए गए हैं हालांकि उनमें सभी को हल्के लक्षण हैं.

    यह भी पढ़ें- Chili in Space: नासा के एस्ट्रोनॉट का एक और कारनामा, अंतरिक्ष में उगाई मिर्च की फसल फिर डिश बनाकर की पार्टी

    डॉक्टर कोएत्जी ने कहा कि जिन लोगों को टीका नहीं लगाया है उनमें ओमिक्रॉन के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और पॉजिटिव रेट 16.5 प्रतिशत है. कोएत्जी की एक बात ने सबको चिंता में डाल दिया है कि जहां वयारस के पहले के दूसरे वेरिएंट बच्चों को संक्रमित नहीं कर रहे थे लेकिन दक्षिण अफ्री का में कुछ शिशु भी इससे ग्रसित पाए गए हैं. उन्होने बताया कि इस वेरिएंट के कुछ मामले ऐसे भी सामने आए जिन्होंने वैक्सीनेशन करवाया हुआ था.

    डॉ. एंजेलिक कोएत्जी ने कहा कि अभी शुरुआती दौर में एक ओमिक्रॉन से ग्रसित व्यक्ति की दैनिक तस्वीर को ठीक प्रकार से चित्रित करना बेहद मुश्किल है, लेकिन अभी तक रोगियों में हल्के लक्षण ही सामने आए हैं और किसी को भी अभी तक ऑक्सीजन की जरूरत नहीं पड़ी है. जब डॉक्टर से ओमिक्रॉन के संक्रमण के मामले बढ़ने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि लोग तेजी से अस्पताल में टेस्टिंग के लिए आ रहे हैं.

    इस बीच, भारत ने गुरुवार को कर्नाटक में नए कोविड -19 वैरिएंट ओमाइक्रोन के अपने पहले दो मामलों की सूचना दी. देश में संक्रमण के नए मामले से लोगों में चिंता बढ़ गई क्योंकि खुद विश्व स्वास्थ्य संगठन चिंता बढ़ गई. सरकारी सूत्रों ने सीएनएन-न्यूज18 को बताया कि मामले एक-दूसरे से संबंधित नहीं हैं और दोनों को पूरी तरह से टीका लगाया गया था. जो लोग वायरस से संक्रमित पाए गए हैं उनमें से एक पुरुषों की उम्र 66 साल और एक पुरुष की उम्र 46 साल है. सरकार ने बयान जारी करके उन लोंगों का पता लगाया जा रहा है जो लोग संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए हैं और घबराने की जरूरत नहीं है.

    Tags: Covid-19 Case, Omicron variant

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर