मलाला यूसुफजई ने शिक्षा के मोर्चे पर मारी बाजी, ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से हुईं ग्रैजुएट

मलाला यूसुफजई ने शिक्षा के मोर्चे पर मारी बाजी, ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से हुईं ग्रैजुएट
मलाला यूसुफजई ने ऑक्सफोर्ड यूनवर्सिटी से पूरी की पढ़ाई.

पाकिस्तान की सामाजिक कार्यकर्ता और नोबेल शांति पुरस्कार विजेता (Noble Peace Prize Winner) मलाला यूसुफजई (Malala Yousafzai) ने ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय से दर्शनशास्त्र, राजनीति और अर्थशास्त्र में डिग्री की पढ़ाई पूरी कर ली.

  • Share this:
इस्लामाबाद. पाकिस्तान की सामाजिक कार्यकर्ता और नोबेल शांति पुरस्कार विजेता (Noble Peace Prize Winner) मलाला यूसुफजई (Malala Yousafzai) ने ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय (Oxford University) से दर्शनशास्त्र, राजनीति और अर्थशास्त्र में डिग्री (B. A. Degree) की पढ़ाई पूरी कर ली. डिग्री पूरी होने पर बहादुर युवती मलाला ने ट्वीट कर अपनी ख़ुशी जाहिर की. ट्वीट में वे लिखती हैं कि फिलहाल मेरे लिए अभी अपनी खुशी और कृतज्ञता व्यक्त कर पाना बहुत मुश्किल है. मैंने ऑक्सफोर्ड से दर्शनशास्त्र, राजनीति और अर्थशास्त्र में अपनी डिग्री की पढ़ाई पूरी कर ली है. मुझे नहीं पता कि भविष्य में क्या छिपा है. अभी बस नेटफ्लिक्स पर मनोरंज करना, पढ़ना और सोना ही काम रहेगा.

मलाला के ट्वीट को अबतक 58  हजार बार रि-ट्वीट किया गया

मलाला के इस पोस्ट पर अब तक 3.87 लाख लाइक्स और 58 हजार बार रि-ट्वीट किया जा चुका है. 2 हजार से ज्यादा लोगों ने उनको ग्रेएजुएट होने की बधाई दी है. 22 वर्षीया मलाला ने दो तस्वीरें साझा की हैं. एक तस्वीर में वो अपने परिवार के साथ जश्न मनाती दिख रही हैं. उन्होंने परिवार के साथ केक काटा. केक में लिखा हुआ है, 'हैप्पी ग्रेजुएशन मलाला.' दूसरी तस्वीर में मलाला के चेहरे पर बहुत सारा केक लगा है और वो मुस्कुरा रही हैं.





सबसे कम्र में नोबेल पुरस्कार विजेता बनीं मलाला

मलाला एक पाकिस्तानी लड़की हैं जो 17 साल की उम्र में नोबल पुरस्कार जीतने वाली सबसे कम उम्र की इंसान है. शिक्षा के समर्थन में उठ खड़े होने और अपनी आवाज बुलंद करने के कारण तालिबानी उग्रवादियों ने उन्हें 9 अक्टूबर 2012 की सुबह गोली मार दी थी. मलाला की उम्र उस वक्त 15 वर्ष के लगभग थी.

ये भी पढ़ें: पाकिस्‍तानी विदेश मंत्री 'पीर बाबा' बन युवतियों के काटे बाल, बदले में सोना लिया, देखें VIDEO

नहीं ख़त्म हो रहा चीन में 'डॉग मीट' का शौक, मार्केट से कुत्तों को कराया गया मुक्त

ड़कियों की शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए जानी जाती हैं मलाला

तालिबानी आतंकवादियों द्वारा उसकी हत्या के प्रयास के बाद मलाला बच गई और वर्ष 2017 में मलाला को संयुक्त राष्ट्र ने शान्ति दूत घोषित किया
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading