लाइव टीवी

कश्मीर मुद्दे पर PAK का किया था समर्थन, तेल पर अब भारत से गुहार लगा रहा मलेशिया

News18Hindi
Updated: October 24, 2019, 5:45 PM IST
कश्मीर मुद्दे पर PAK का किया था समर्थन, तेल पर अब भारत से गुहार लगा रहा मलेशिया
मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर बिन मोहम्मद

मलेशिया (Malaysia) के व्यापार मंत्री डेरेल लेकिंग ने कहा कि हम न केवल भारत (India) के साथ बल्कि दूसरों देशों के साथ भी पॉम तेल (Palm oil) खरीदने को लेकर बातचीत कर रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 24, 2019, 5:45 PM IST
  • Share this:
कुआलालंपुर. जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के मसले पर पाकिस्तान (Pakistan)  का साथ देने वाले मलेशिया (Malaysia) के सुर अब बदलने लगे हैं. भारत के साथ ट्रेड वॉर की बढ़ती आंशका को देखते हुए मलेशिया अब गुहार की स्थिति में आ गया है. मलेशिया के व्यापार मंत्री ने गुरुवार को कहा कि वह भारत व अन्य देशों से मलेशियाई पॉम तेल (Palm oil) खरीदने की अपील करते हैं.

कश्मीर (Kashmir) मुद्दे पर मलेशियाई प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद (Mahathir Bin Mohamad) ने भारत (India) विरोधी बयान दिया था. जिसके बाद भारतीय व्यापारियों ने मलेशिया से पॉम तेल (Palm oil) खरीदना बंद कर दिया था. मलेशिया (Malaysia) के व्यापार मंत्री डेरेल लेकिंग ने कहा कि हम न केवल भारत के साथ बल्कि दूसरों देशों के साथ भी पॉम तेल खरीदने को लेकर बातचीत कर रहे हैं.

व्यापारियों ने पॉम ऑयल खरीदना किया था बंद
भारत की खाद्य तेल की व्यापारिक इकाई ने सोमवार को एक बयान जारी कर कहा था, अपने देश के साथ एकजुटता दिखाते हुए हमें कुछ समय के लिए मलेशिया से पॉम ऑयल खरीदना बंद कर देना चाहिए. टेडर्स ने यह भी कहा था कि वह अब नया कॉन्ट्रेक्ट भी नहीं कर रहे.

कश्मीर पर पाकिस्तान का किया था समर्थन
बता दें कि कुछ दिन पहले मलेशियाई पीएम महातिर मोहम्मद ने कहा था कि वह कश्मीर मसले पर अपने पुरान बयान पर अब भी कामय हैं. उन्होंने कहा था कि वह दिल की बात बोलते हैं और उससे वह पीछे नहीं हटेंगे. 27 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक में महातिर ने अपने बयान में कहा था, ‘संयुक्त राष्ट्र के संकल्प के बावजूद, कश्मीर पर हमला कर कब्जा किया जा रहा है. इस कार्रवाई के पीछे कुछ वजहें हो सकती हैं. लेकिन फिर ये गलत है. इस मुद्दे का समाधान शांतिपूर्ण तरीके से होना चाहिए.’

Loading...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 24, 2019, 3:11 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...