लाइव टीवी

भारत के खिलाफ बयानबाज़ी मलेशिया को और पड़ेगी भारी, पाम ऑयल के बाद कई चीज़ों के आयात में होगी कटौती

News18Hindi
Updated: January 23, 2020, 1:29 PM IST
भारत के खिलाफ बयानबाज़ी मलेशिया को और पड़ेगी भारी, पाम ऑयल के बाद कई चीज़ों के आयात में होगी कटौती
पिछले कुछ समय मलेशिया कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने का विरोध कर रहा है

मलेशिया पिछले कुछ समय से कश्मीर और CAA जैसे मुद्दों को लेकर भारत के खिलाफ बयान देता रहा है. इसके साथ ही वो इसे अंतराष्ट्रीय मंचों पर भी उठा रहा है. ऐसे में वो अब भारत से बातचीत का रास्ता तलाश रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 23, 2020, 1:29 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली.  कश्मीर और नागरिक संशोधन कानून (CAA) पर बयानबाज़ी के चलते मलेशिया की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं. खबर है कि भारत अब पाम ऑयल (Palm Oil) के आयात में कटौती के बाद कई और चीज़ों की खरीददारी पर रोक लगाने वाला है. हालांकि मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद (Prime Minister Mahathir Mohamad ) ने कहा है कि भारत को जवाब देने के लिए वो बहुत छोटे देश हैं. ऐसे में वह कोई समाधान निकालने की कोशिश करेंगे.

कई और चीज़ों के आयात पर बैन!
इंडिया टुडे वेब साइट के मुताबिक भारत अब मलेशिया से आयात होने वाली कई और चीज़ों पर पाबंदी लगाने की तैयारी में है. वेब साइट ने दावा किया है कि कैबिनेट सचिव ने इसको लेकर वाणिज्य मंत्रालय को एक पत्र भी लिखा है. इसमें पाम ऑयल के अलावा पेट्रोलियम क्रूड ऑयल, रिफाइंड पाम ऑयल, क्रूड पाम ऑयल, कॉपर, एलुमिनियम वायर, माइक्रोप्रोसेसर, कम्प्यूटर के पार्ट्स और LNG शामिल हैं. इन चीज़ों के आयात में कटौती के चलते मलेशिया को भारी नुकसान पड़ सकता है.

मलेशिया की बौखलाहट

दावोस में चल रहे वर्ल्ड इकनॉमिक फोरम की मीटिंग से मलेशिया के वाणिज्य मंत्री डारेल लेइकिंग भारतीय समकक्ष पीयूष गोयल से मुलाकात कर सकते हैं. माना जा रहा है कि पाम ऑयल के आयात पर बातचीत हो सकती है. मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ने पिछले दिनों कहा था कि भारत को जवाब देने के लिए वो बहुत छोटा देश हैं. ऐसे में वह कोई समाधान निकालने की कोशिश करेंगे. भारत ने मलेशिया से पाम ऑयल की खरीददारी में कटौती कर दी है, जिसके बाद मलेशियाई पीएम की तरफ से ये बयान सामने आया.

भारत के खिलाफ बयानबाज़ी
पिछले कुछ समय मलेशिया कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने का विरोध कर रहा है. पिछले साल संयुक्त राष्ट्र महासभा में भी मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ने जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने का मुद्दा उठाया था.CAA पर बयान
महातिर मोहम्मद ने कहा था, 'स्वयं को धर्मनिरपेक्ष होने का दावा करने वाले भारत को देखकर मुझे दुख होता है कि अब वह कुछ मुसलमानों को नागरिकता से वंचित करने के लिए कदम उठा रहा है.' इस  बयान के बाद विदेश मंत्रालय ने मलेशियाई उच्चायोग के इंचार्ज को तलब किया था.

ये भी पढ़ें:-

विजय रूपाणी का सोशल मीडिया मेकओवर कर रहे हैं शशि थरूर के भतीजे जय

DSP दविंदर सिंह पर सनसनीखेज खुलासा, आतंकियों को पनाह देने के लिए बनाए थे 3 घर

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 23, 2020, 1:06 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर