लाइव टीवी

संयुक्त राष्ट्र के कोर्ट में रोहिंग्या का मामला उठाएंगी अमाल क्लूनी, मालदीव ने किया हायर

News18Hindi
Updated: February 26, 2020, 2:51 PM IST
संयुक्त राष्ट्र के कोर्ट में रोहिंग्या का मामला उठाएंगी अमाल क्लूनी, मालदीव ने किया हायर
संयुक्त राष्ट्र के कोर्ट में रोहिंग्या का मामला उठाएंगी अमाल क्लूनी

साल 2017 में म्यांमार के सैन्य हमले की वजह से करीब साढ़े सात लाख रोहिंग्या मुस्लिमों को भागकर पड़ोसी बांग्लादेश में शरण लेनी पड़ी थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 26, 2020, 2:51 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. मालदीव (Maldives) ने म्यांमार (Myanmar) में सताए जा रहे रोहिंग्या मुसलमानों (Rohingya Muslims) को न्याय दिलाने के लिए संयुक्त राष्ट्र (United Nations) की अदालत में प्रतिनिधित्व करने के लिए अमाल क्लूनी (Amal Clooney) को हायर किया है. अमाल क्लूनी संयुक्त राष्ट्र की प्रमुख मानवाधिकार वकील हैं. अमाल क्लूनी को हायर करते हुए मालदीव की सरकार ने बताया कि वह म्यांमार के साल 2017 के सैन्य हमले को चुनौती देने वाले मुस्लिम अफ्रीकी राज्य द गाम्बिया के मामले में औपचारिक रूप से शामिल होंगी. बता दें कि साल 2017 में म्यांमार के सैन्य हमले की वजह से करीब साढ़े सात लाख रोहिंग्या मुस्लिमों को भागकर पड़ोसी बांग्लादेश में शरण लेनी पड़ी थी.

गौरतलब है कि अंतरराष्ट्रीय न्यायालय ने पिछले महीने ही एक अहम फैसले में म्यांमार को आदेश दिए थे कि वह रोहिंग्या के नरसंहार को रोकने के लिए तत्काल प्रभाव से विशेष उपायों पर अमल करे. जानकारी के मुताबिक अमाल क्लूनी ने सुनवाई के दौरान सफलतापूर्वक मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद का प्रतिनिधित्व किया और संयुक्त राष्ट्र का निर्णय सुरक्षित रख लिया था कि उनको साल 2015 में दी गई 13 साल जेल की सजा अवैध थी.

बता दें कि अमाल क्लूनी मानवाधिकार वकील हैं. मूल रूप से लेबनान की रहने वाली ब्रिटिश वकील अमाल क्लूनी ने कई अहम मुद्दों पर संयुक्त राष्ट्र की अदालत में बहस की है. अमाल क्लूनी ने उन मामलों पर संयुक्त राष्ट्र में आवाज उठाई है, जिसे कोई अन्य वकील उठाने को तैयार ही नहीं था. अमाल इससे पहले विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांज के प्रत्यर्पण का मामला भी उठा चुकी हैं.

इसे भी पढ़ें :-  दिल्ली हिंसा: सोनिया गांधी ने किया वाजपेयी को याद, सरकार पर दागे 5 सवाल



अमेरिका और लंदन में प्रैक्टिस करती हैं अमाल क्लूनी
अमाल क्लूनी अपनी प्रैक्टिस अमेरिका और लंदन में करती हैं. क्लूनी को साल 2002 में न्यूयॉर्क में और 2002 में इंग्लैंड और वेल्स में काम करने की इजाजत मिली थी. क्लूनी द हेग में इंटरनेशनल कोर्ट में प्रैक्टिस कर चुकी हैं. इसी के साथ ही वह इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस और द इंटरनेशनल क्रिमिनल कोर्ट में भी काम कर चुकी हैं. वह क्लूनी फाउंडेशन फॉर जस्टिस की प्रेसिडेंट हैं.

इसे भी पढ़ें :-

शाहीन बाग प्रोटेस्ट: SC बोला- अभी माहौल नहीं, अब 23 मार्च को होगी सुनवाई
बूंदी में बस मेज नदी में गिरी, अब तक 3 बच्चों समेत 24 लोगों की मौत
सलमान खान की वजह से बढ़ी अक्षय कुमार की मुसीबत, होली पर होगा बड़ा धमाका!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 26, 2020, 2:29 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर