• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • 6वीं से 12वीं तक के पुरुष छात्र और पुरुष शिक्षक शनिवार से स्कूल जाएं: तालिबान

6वीं से 12वीं तक के पुरुष छात्र और पुरुष शिक्षक शनिवार से स्कूल जाएं: तालिबान

अफगानिस्‍तान में काबिज तालिबान के शिक्षा मंत्रालय ने शनिवार से पुरुष छात्र और शिक्षकों को स्‍कूल जाने का आदेश दिया है.  (फाइल फोटो)

अफगानिस्‍तान में काबिज तालिबान के शिक्षा मंत्रालय ने शनिवार से पुरुष छात्र और शिक्षकों को स्‍कूल जाने का आदेश दिया है. (फाइल फोटो)

अफगानिस्तान पर कब्‍जा करने वाले तालिबान (Taliban in Afghanistan) के शिक्षा मंत्रालय ने छठवीं से 12वीं तक के सभी पुरुष छात्रों और पुरुष शिक्षकों से कहा है कि वे शनिवार से स्कूल जाना शुरू करें. फेसबुक पर पोस्ट किए गए बयान में इस आयुवर्ग की लड़कियों/छात्राओं के बारे में कुछ नहीं कहा गया है और निर्देशों में इस कमी ने लोगों की चिंताएं बढ़ा दी हैं कि तालिबान फिर से लड़कियों और महिलाओं पाबंदियां लगाएगा.

  • ए पी
  • Last Updated :
  • Share this:

    इस्तांबुल. अफगानिस्तान पर कब्‍जा करने वाले तालिबान (Taliban in Afghanistan) के शिक्षा मंत्रालय (Ministry of Education) ने  छठवीं से 12वीं तक के सभी पुरुष छात्रों और पुरुष शिक्षकों से कहा है कि वे शनिवार से स्कूल जाना शुरू करें. फेसबुक पर पोस्ट किए गए बयान में इस आयुवर्ग की लड़कियों/छात्राओं के बारे में कुछ नहीं कहा गया है और निर्देशों में इस कमी ने लोगों की चिंताएं बढ़ा दी हैं कि तालिबान फिर से लड़कियों और महिलाओं पाबंदियां लगाएगा.

    सूत्रों का कहना है कि  तालिबान ने पूर्व में पहली से छठी कक्षा तक की बच्चियों को स्कूल जाने की अनुमति दी थी. सोशल मीडिया पर आए इस बयान को लेकर भी तमाम चर्चाएं हो रही हैं. पिछले महीने फिर से अफगानिस्तान पर पूर्ण नियंत्रण करने वाले तालिबान ने अतीत में महिलाओं/बच्चियों के स्कूल और दफ्तर जाने पर प्रतिबंध लगा दिया था. खबरों में बताया गया है कि कुछ प्रांतों में महिलाओं को हालांकि काम करने की अनुमति दी जा रही है. स्वास्थ्य और शिक्षा विभाग में काम करने वाली महिलाएं इनमें शामिल हैं.

    ये भी पढ़ें :   अफगानिस्तान में बेरोजगारी और गरीबी का आलम, खाने के लिए घर का कीमती सामान बेच रहे लोग

    ये भी पढ़ें :  तालिबान के वकील बने इमरान खान, वर्ल्ड कम्युनिटी को आतंक का डर दिखाया, बोले- तालिबान की मदद करो

    वहीं अफगानिस्‍तान से आने वाली खबरों में कहा गया है कि तालिबान फिलहाल महिलाओं को घर के भीतर ही देखना चाहता है. उसने लड़कियों और औरतों को लेकर कोई बयान जारी नहीं किया है, लेकिन तालिबानी लड़ाके और मंत्री, अपनी-अपनी राय जाहिर कर चुके हैं. उन्‍होंने साफ कहा है कि औरतें घरों के भीतर रहें और बहुत जरूरी होने पर ही अपने पति के साथ ही बाहर निकलें.

    हक्कानी नेटवर्क पावरफुल, लेकिन उसका नुकसान भी
    1990 के दौर में भले ही तालिबान का दबदबा रहा हो, लेकिन मौजूदा समय में हक्कानी नेटवर्क की ताकत और रसूख ज्यादा है. वह अलकायदा और पाकिस्तान की आईएसआई से गहरे रिश्ते रखते हुए मजबूत सैन्य शक्ति है. हक्कानी परिवार का मुखिया सिराजुद्दीन हक्कानी अमेरिका की आतंकियों की लिस्ट में है और उस पर 10 मिलियन डॉलर का इनाम है. उसकी ताकत के प्रभाव में उसे गृह मंत्रालय का जिम्मा दिया गया. लेकिन इसमें दिक्कत ये है कि हक्कानी के सरकार में रहते हुए तालिबान के पश्चिमी देशों से संबंध कभी ठीक नहीं हो सकेंगे. जैसा कि हाल में अमेरिका ने अफगानिस्तान की संपत्ति और विदेशी मुद्रा भंडार फ्रीज कर दिया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज