पहली बार जूम वीडियो ऐप के जरिए कोर्ट ने सुनाई फांसी की सजा

जूम ऐप पर वीडियो चैट करने के दौरान एक बेटे ने अपने पिता की हत्या कर दी.
जूम ऐप पर वीडियो चैट करने के दौरान एक बेटे ने अपने पिता की हत्या कर दी.

सिंगापुर (Singapore) में पहली बार एक मामले में जूम वीडियो ऐप (Zoom video App) के जरिए कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई है.

  • Share this:
सिंगापुर (Singapore) में पहली बार एक मामले में कोर्ट ने दोषी को जूम वीडियो ऐप (Zoom Video App) के जरिए फांसी की सजा (capital punishment) सुनाई गई है. ड्रग डील के एक मामले में सिंगापुर की कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई है.

सिंगापुर में पहली बार कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए जूम ऐप के जरिए वीडियो कॉल करके मामले की सुनवाई हुई और दोषी को फांसी की सजा सुनाई गई.

मलेशिया के रहने वाले 37 साल के पुनीतन जिनसन को फांसी की सजा सुनाई गई है. जिस मामले में फांसी की सजा सुनाई गई है, वो 2011 का एक हेरोइन ट्रांजैक्शन से जुड़ा मामला है. शुक्रवार को इस मामले में सजा सुनाई गई.



सिंगापुर में कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते लगा है लॉकडाउन
सिंगापुर में कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए लॉकडाउन लगाया गया है. सिंगापुर एशियाई देशों में कोरोना वायरस से सबसे बुरी तरह से प्रभावित देशों में है. वहां वायरस संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं.

रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक सिंगापुर सुप्रीम कोर्ट के प्रवक्ता ने कहा है कि इस मामले में सुनवाई में भाग लेने वाले सभी लोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के जरिए प्रोसिडिंग हुई. वायरस संक्रमण के खतरे को कम से कम करने के लिए ऐसा किया गया है.

प्रवक्ता ने कहा है कि सिंगापुर में ये पहला मामला है, जिसमें कोर्ट ने फांसी की सजा दूर रहकर सुनवाई के दौरान सुनाई. इस मामले में दोषी साबित हुए पुनीतन जिनसन के वकील फर्नांडो ने कहा है कि उनके मुवक्किल को जज साहब ने जूम वीडियो ऐप के जरिए फांसी की सजा दी है. वो इस मामले में अपील दाखिल करेंगे.

जूम वीडियो ऐप के जरिए फांसी की सजा सुनाने की आलोचना
कुछ दक्षिणपंथी समूहों ने फांसी सजा सुनाने में जूम वीडियो ऐप के इस्तेमाल की आलोचना की है. हालांकि दोषी साबित हुए व्यक्ति के वकील फर्नांडो ने कहा है कि उन्हें इस बात पर कोई आपत्ति नहीं है. शुक्रवार को जज साहब को सिर्फ फैसला सुनाना था. इस मामले में सारी सुनवाई पूरी हो चुकी थी और किसी तरह के कानून दस्तावेज को सामने नहीं रखना था.

सिंगापुर में लॉकडाउन के दौरान कोर्ट की कई सुनवाई स्थगित हुई है. अप्रैल की शुरुआत से वहां लॉकडाउन लगा है. ज्यादा जरूरी मामलों की सुनवाई दूर रहकर की जा रही है.

सिंगापुर में अवैध ड्रग्स के कारोबार पर काफी सख्त सजा का प्रावधान है. ऐसे मामलों में सैकड़ों लोगों को फांसी की सजा सुनाई जा चुकी है. इसमें दर्जनों विदेशी नागरिक शामिल हैं.

सिंगापुर में मानवाधिकार आयोग के एशिया डिवीजन के डिप्टी डायरेक्टर फिल रॉबर्टसन ने कहा है कि सिंगापुर में फांसी की सजा अमानवीय और बेहद क्रूर है. जूम वीडियो ऐप के जरिए दूर रहकर फांसी की सजा सुनाना, मामले को और भी खराब कर गया है.

नाइजीरिया में भी इसी तरह के एक मामले में जूम वीडियो ऐप के जरिए फांसी की सजा सुनाई गई है.

ये भी पढ़ें:

आसमान से गिरने लगे कोरोना के आकार वाले ओले, खौफ में घरों में कैद हुए लोग

बांग्लादेश में अम्फान तूफान से पहली मौत, गांववालों को बचाने गए वोलंटियर की डूबने से मौत

अमेरिका में पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा वायरस संक्रमण पर बोले ट्रंप- ये सम्मान की बात
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज