लाइव टीवी

मलेशिया में पूर्व प्रधानमंत्री के भाई समेत कई लोगों पर लगा 10 करोड़ डॉलर का जुर्माना

भाषा
Updated: October 7, 2019, 3:17 PM IST
मलेशिया में पूर्व प्रधानमंत्री के भाई समेत कई लोगों पर लगा 10 करोड़ डॉलर का जुर्माना
मलेशिया के पूर्व राष्ट्रपति नजीब रजाक

मलेशिया के पूर्व प्रधानमंत्री नजीब रजाक (Nazir Razak) के भाई नजीर रजाक पर घोटाले में शामिल होने का आरोप है.

  • Share this:
कुआलालंपुर. मलेशियाई एजेंसियों (Malaysian Agency) ने पूर्व प्रधानमंत्री नजीर रजाक के भाई (Nazir Razak) पर भ्रष्टाचार के आरोप में शिकंजा कसा है. देश की भ्रष्टाचार निरोधी आयोग के प्रमुख ने सोमवार को इसकी जानकारी दी है. एजेंसी ने एमडीबी भ्रष्टाचार मामले की जांच करते हुए 80 इकाइयों पर करीब 10 करोड़ डॉलर का जुर्माना लगाया है.

यह जुर्माना सरकारी निवेश कोष 1 एमडीबी से 2009-2014 के बीच लूटे गए अरबों डॉलर की जांच से जुड़ा है. इन पैसों को यॉच से लेकर महंगी कलाकृति खरीदने तक पर खर्च किया गया है. मलेशिया के पूर्व प्रधानमंत्री पर भी इस घोटाले में शामिल होने का आरोप है.

मलेशिया के पूर्व प्रधानमंत्री नजीर रजाक


एजेंसी 80 लोगों से 10 करोड़ डॉलर वसूले गी

मलेशियाई भ्रष्टाचार रोधी आयोग की प्रमुख लतीफा कोया ने कहा कि एजेंसी को 80 लोगों , कंपनियों और राजनीतिक दलों से करीब 42 करोड़ रिंगित (10 करोड़ डॉलर) की वसूली होने की उम्मीद है. इसमें पूर्व प्रधानमंत्री नजीब रजाक के छोटे भाई नजीर रजाक भी शामिल हैं.

लतीफा ने संवाददाताओं को बताया कि नजीर मलेशिया के दूसरे सबसे बड़े बैंक सीआईएमबी ग्रुप होल्डिंग्स के चेयरमैन थे. दिसंबर 2018 में उन्होंने बैंक छोड़ दिया था. इन लोगों और इकाइयों पर नजीब से जुड़े खाते के जरिए 1 एमडीबी से पैसे निकालने का आरोप है.

पूर्व प्रधानमंत्री नजीब को सत्ता जाने के बाद पिछले साल गिरफ्तार किया गया था और इस घोटाले से जुड़े दर्जनों आरोप लगाए गए थे. उन्होंने कहा कि इन इकाइयों को जुर्माने का भुगतान करने के लिए दो सप्ताह का समय दिया गया है.
Loading...

ये भी पढ़ें: 

अंतरिक्ष से ऐसा दिखता है मक्‍का, पहले अरबी एस्ट्रोनॉट ने शेयर की तस्वीर

फिर बेनकाब हुआ पाक, चेतावनी के बाद भी नहीं लिया आतंकियों पर कोई एक्शन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 7, 2019, 3:17 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...