US Violence: ट्रंप का फेसबुक और इंस्टाग्राम अकाउंट बैन, मार्क जुकरबर्ग ने दी जानकारी

ट्रंप के खिलाफ फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग ने एक पोस्ट के जरिए इस असाधारण कदम की घोषणा की. फाइल फोटो

ट्रंप के खिलाफ फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग ने एक पोस्ट के जरिए इस असाधारण कदम की घोषणा की. फाइल फोटो

अमेरिका (America) के निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के फेसबुक और इंस्टाग्राम अकाउंट को अनिश्चितकाल के लिए बैन कर दिया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 8, 2021, 5:26 AM IST
  • Share this:
वॉशिंगटन. अमेरिका (America) के निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के फेसबुक और इंस्टाग्राम अकाउंट को अनिश्चितकाल के लिए बैन कर दिया गया है. फेसबुक के चीफ मार्क जुकरबर्ग ने इसकी जानकारी दी है. इससे पहले फेसबुक ने नीति उल्लंघन के चलते राष्ट्रपति के अकाउंट को 24 घंटे के लिए बैन कर दिया था. ट्विटर ने भी 12 घंटे के लिए ट्रंप के हैंडल को बैन कर दिया.

अमेरिका के निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप कम से कम तब तक फेसबुक का इस्तेमाल नहीं कर सकेंगे, जब तक देश के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन के कार्यकाल का उद्घाटन नहीं हो जाता.  फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग ने एक पोस्ट के जरिए इस असाधारण कदम की घोषणा करते हुए कहा कि ट्रंप के भड़काने पर भीड़ द्वारा बुधवार को कैपिटल भवन (अमेरिकी संसद भवन) में घातक हमला किए जाने के बाद निवर्तमान राष्ट्रपति को इस मंच का इस्तेमाल करते रहने की अनुमति देने का जोखिम बहुत बड़ा है.



बता दें, अमेरिकी मीडिया ने भी कैपिटल पर निर्वतमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों के हमले के बाद ट्रंप को एक 'खतरा' करार दिया है, और कहा है कि वह कार्यालय में रहने के योग्य नहीं हैं, इसलिए उन्हें पद से हटाया जाए. अमेरिकी मीडिया ने ट्रंप को महाभियोग प्रक्रिया या आपराधिक मुकदमे के तहत जिम्मेदार ठहराने की मांग की है. ट्रंप के हजारों समर्थक बुधवार को कैपिटल में घुस आए और इस दौरान पुलिस के साथ उनकी हिंसक झड़प हुई. इस घटना में कम से कम चार लोगों की मौत हो गई और नए राष्ट्रपति के रूप में जो बाइडन के नाम पर मोहर लगाने की संवैधानिक प्रक्रिया बाधित हुई.
ये भी पढ़ें: US Violence: बराक ओबामा बोले- कैपिटल बिल्डिंग में हुई हिंसा देश के लिए 'अपमान और शर्मिंदगी' का पल

वहीं, अमेरिका (America) के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा (Barack Obama) ने कैपिटल बिल्डिंग में हिंसा भड़काने के लिए निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर तीखा प्रहार करते हुए कहा कि यह देश के लिए 'बेहद अपमान और शर्मिंदगी' का पल है. यूएस कैपिटल में बुधवार को हजारों ट्रंप समर्थक दंगाइयों के घुसने और संसद के संयुक्त सत्र को बाधित करने के बाद पूर्व राष्ट्रपति ओबामा का यह बयान आया है. घटना के वक्त संसद का संयुक्त सत्र चल रहा था जिसमें नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन की जीत की पुष्टि होनी थी. ओबामा ने एक बयान में कहा, 'इतिहास कैपिटल में हुई आज की हिंसा की घटना को याद रखेगा, जिसे वैध चुनावी नतीजे के बारे में लगातार निराधार झूठ बोलने वाले एक निवर्तमान राष्ट्रपति ने भड़काया. यह अमेरिका के लिए बेहद अपमान और शर्म की बात है.' पूर्व राष्ट्रपति ओबामा ने कहा, 'लेकिन, अगर हम ऐसा कहेंगे कि यह एकदम अचानक हुई घटना है तो हम खुद से मजाक कर रहे होंगे.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज