'फेक ट्वीट' के मामले में ट्रंप के समर्थन में उतरे जुकरबर्ग, ट्विटर को दी नसीहत

'फेक ट्वीट' के मामले में ट्रंप के समर्थन में उतरे जुकरबर्ग, ट्विटर को दी नसीहत
जुकरबर्ग ने की ट्विटर की आलोचना

मार्क जुकरबर्ग (Mark Zuckerberg) ने बुधवार को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) का समर्थन करते हुए ट्विटर (Twitter) की आलोचना की. जुकरबर्ग के ट्विटर द्वारा ट्रंप के दो ट्वीट के साथ फैक्ट चेक (Fact Check) रिपोर्ट्स चस्पा करने को पूरी तरह गलत करार दिया है.

  • Share this:
वाशिंगटन. फेसबुक (Facebook) के सीईओ मार्क जुकरबर्ग (Mark Zuckerberg) ने बुधवार को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) का समर्थन करते हुए ट्विटर (Twitter) की आलोचना की. जुकरबर्ग के ट्विटर द्वारा ट्रंप के दो ट्वीट के साथ फैक्ट चेक (Fact Check) रिपोर्ट्स चस्पा करने को पूरी तरह गलत करार दिया है. मंगलवार को ट्विटर ने ट्रंप के मेल-इन-बैलेट को लेकर किये गए फ्रॉड के दावों वाले ट्वीट को 'भ्रामक जानकारी' बताते हुए उसके साथ कुछ फैक्ट चेक रिपोर्ट्स अटैच कर दीं थीं.

ट्विटर के इस कदम के बाद ट्रंप भड़क गए थे और उन्होंने ट्विटर फैक्ट चेक को ही गलत ठहरा दिया था. यहां तक कि ट्रंप ने ट्विटर पर अमेरिकी इलेक्शन (US Elections 2020) में दखलंदाजी करने का आरोप लगा दिया था. न्यूजवीक की एक रिपोर्ट के मुताबिक इस मुद्दे पर फॉक्स से बातचीत करते हुए जुकरबर्ग ने कहा- 'इस बारे में हमारी पॉलिसी अलग है, ट्विटर इस बारे में अलग तरीके से काम करता है.' जुकरबर्ग ने आगे कहा- मेरा मानना है कि लोग ऑनलाइन क्या लिख रहे हैं इस मामले में हम हर बार पंच या मध्यस्थ की भूमिका नहीं निभा सकते. ऐसे मामलों में निजी कंपनियों खासकर ऐसी जो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स चलाती हैं, उन्हें ये तय करने की भूमिका में नहीं होना चाहिए.'

'जब तक कोई स्पष्ट खतरा न हो हम दखल नहीं देते'
जुकरबर्ग ने कहा कि फेसबुक इस मामले में ज्यादा सावधानी बरतता है और जब तक कोई स्पष्ट खतरा न हो पब्लिक पोस्ट को सेंसर नहीं करता. उन्होंने आगे कहा कि राजनीतिक कंटेंट और पॉलिटिकल स्पीच में इसका ख़ास ध्यान रखा जाता है. जुकरबर्ग ने बताया- हमने एक यूजर्स में भरोसा पैदा करने के लिए एक इंटीग्रटी टीम बनाई है, हम अपनी पॉलिसियों को और मजबूत कर रहे हैं और समाज पर बुरा प्रभाव डालने वाले कंटेंट को लगातार रिव्यू करते हैं. उन्होंने आगे कहा कि हमने बीती फरवरी में ही इस बारे में रिसर्च प्रोजेक्ट आमंत्रित किये हैं और 2 मिलियन डॉलर का फंड भी दे रहे हैं.
 





ट्रंप ने ट्विटर को दी चेतावनी
ट्रंप ने ट्वीट कर कहा- 'ट्विटर अब अमेरिकी चुनाव-2020 में दखल देने की कोशिश कर रहा है. इनका कहना है कि मैंने जो मेल-इन-बैलेट और इससे जुड़े करप्शन और फ्रॉड को लेकर दावा किया है वो गलत है. इनका ये दावा फेक न्यूज़ CNN और अमेजन वाशिंगटन पोस्ट के फैक्ट चेक पर आधारित है.' ट्रंप ने एक अन्य ट्वीट कर कहा कि 'ट्विटर अब बोलने की आज़ादी को छीनने का कम कर रहा है और बतौर एक अमेरिकी राष्ट्रपति मैं इसे बिलकुल सहन नहीं करूंगा.'

 

ये भी पढ़ें:

जम्मू-कश्मीर में बदले डोमिसाइल रूल्‍स से कश्‍मीरी पंडितों और पाकिस्‍तानी शरणार्थियों को कैसे होगा फायदा

जानें क्या है चीन का मार्स मिशन तियानवेन-1, कितने दिन में पहुंचेगा लाल ग्रह

कोरोना वायरस के मरीजों में बन रहे खून के थक्‍कों ने बढ़ाया मौत का खतरा

जानें कौन-कौन से देश कोरोना वायरस की वैक्‍सीन बनाने के पहुंच गए हैं काफी करीब
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज