पुलवामा हमले के 75 दिन बाद भारत की कूटनीतिक जीत, मसूद अजहर वैश्विक आतंकी घोषित

पुलवामा हमले के 75 दिन बाद भारत की कूटनीतिक जीत, मसूद अजहर वैश्विक आतंकी घोषित
मसूद अजहर (फाइल फोटो)

पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत लगातार जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को ग्‍लोबल आतंकी घोषित कराने की कोशिश कर रहा था.

  • News18.com
  • Last Updated: May 1, 2019, 9:25 PM IST
  • Share this:
पाकिस्तान के आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित कर दिया गया है. अब मसूद अजहर का नाम संयुक्त राष्ट्र की प्रतिबंधित सूची से जुड़ गया है. पुलवामा और पठानकोट के गुनहगार आतंकी मसूद अजहर पर प्रतिबंध को मोदी सरकार की बड़ी कूटनीतिक जीत करार दिया जा रहा है. पुलवामा आतंकी हमले के ठीक 75 दिन बाद एक मई को मसूद अजहर को ग्‍लोबल आंतंकी घोषित कर दिया गया है.

बता दें कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में इसी साल 14 फरवरी को जैश-ए-मोहम्मद के एक फिदायीन हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे. जैश के आतंकवादी ने विस्फोटकों से भरी कार सीआरपीएफ जवानों को ले जा रही बस में टकरा दी. इससे पहले जैश के आतंकियों ने 2016 में भी उरी हमले को अंजाम दिया था.

पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत लगातार जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को ग्‍लोबल आतंकी घोषित कराने की कोशिश कर रहा था. इससे पहले 13 मार्च को यूएन में मसूद अजहर को अंतरराष्‍ट्रीय आतंकी घोषित करने के लिए प्रस्‍ताव पेश किया गया था. हालांकि उस समय चीन ने वीटो पावर का इस्‍तेमाल करके मसूद अजहर को बचा लिया था.



ये भी पढ़ें: Masood Azhar पर बैन के बाद खिसियाया पाकिस्तान बोला- हम आतंकवाद के खिलाफ
मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के लिए संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा समिति के सदस्य देश अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस भी भारत के साथ लगातार कोशिश कर रहे थे. लेकिन, हर बार चीन अपनी वीटो पावर का इस्‍तेमाल करता था. मसूद अजहर के मामले में अभी तक चीन चार बार वीटो का इस्‍तेमाल कर चुका था. हालांकि जब पांचवीं बार प्रस्‍ताव पेश हुआ तो चीन मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने पर राजी हो गया. यानी पुलवामा आतंकी हमले के 75 दिन बाद भारत को बड़ी कामयाबी मिली.

ये भी पढ़ें: हिज्बुल से लश्कर तक, पाकिस्तान में कितने वैश्विक आतंकी संगठन मौजूद?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading