लाइव टीवी

इस देश में अचानक बहने लगी लाल नदी, चौंक गए लोग, वजह जान आप भी होंगे हैरान

News18Hindi
Updated: November 14, 2019, 11:24 AM IST
इस देश में अचानक बहने लगी लाल नदी, चौंक गए लोग, वजह जान आप भी होंगे हैरान
दक्षिण कोरिया में इमजिन नदी का पानी हुआ लाल.

दक्षिण कोरिया (South Korea) की इमजिन नदी (Imjin River) का पानी हुआ है लाल (Red River). वहां अफ्रीकी स्वाइन फीवर तेजी से फैल रहा है. यह बुखार सूअरों (Pig) में फैलता है. ऐसे में वहां बड़ी संख्‍या में सूअरों को मारा जा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 14, 2019, 11:24 AM IST
  • Share this:
सियोल. आमतौर पर नदियों (River) के पानी का रंग साफ होने के अलावा मटमैला होता है. लेकिन दक्षिण कोरिया (South Korea) और उत्‍तर कोरिया (North Korea) की सीमा के पास बहने वाली इमजिन नदी (Imjin River) में कुछ ऐसा हुआ कि यहां का पानी लाल (Red River) हो गया. नदी के इस बदले रूप को देखकर पहले तो आसपास रहने वाले लोग भी चौंक गए. लेकिन कुछ देर बाद उन्‍हें पूरा मामला समझ आ गया.

दक्षिण कोरिया में मारे जा रहे हैं सूअर
दरअसल दक्षिण कोरिया में अफ्रीकी स्वाइन फीवर तेजी से फैल रहा है. यह बुखार सूअरों के चलते फैलता है. ऐसे में सरकारी स्‍तर पर सूअरों के खिलाफ अभियान छेड़ा गया है. इस अभियान के तहत सूअरों को बड़ी संख्‍या में मारा जा रहा है. दक्षिण कोरिया की सरकार ने इस अभियान में अब तक 3.80 लाख सूअरों को मार दिया है. दक्षिण कोरिया की राजधानी सियोल में स्‍वाइन फीवर या स्‍वाइन बुखार का पहला मामला सितंबर में सामने आया था. वैसे तो इंसानों को इससे कोई खतरा नहीं होता, लेकिन यह सूअरों के लिए खतरनाक होता है.

इस वजह से लाल हुआ पानी

स्‍वाइन फीवर या स्‍वाइन बुखार का मौजूदा समय में कोई इलाज नहीं है. ऐसे में सरकार के पास स्वाइन फीवर को फैलने से रोकने के लिए जानवरों को मारने के अलावा कोई रास्ता नहीं बचा. नदी के लाल होने के पीछे भी यही सूअर हैं. सियोल के एक एनजीओ के मुताबिक पिछले हफ्ते वहां काफी बारिश हुई. ऐसे में जिस जगह पर सूअरों को मारा जा रहा था, वहां से बारिश के पानी के साथ खून बहकर इमजिन नदी में पहुंच गया. ऐसे में उसका रंग पूरा लाल हो गया. उसके अनुसार उस स्‍थान पर करीब 47,000 सूअरों को मारा गया है.

लोगों को हो रही है परेशानी
इमजिन नदी का पानी अचानक लाल हो जाने के कारण आसपास रहने वाले लोग हैरान रह गए. उनको समझ ही नहीं आया कि आखिर ऐसा क्‍यों हुआ. लेकिन कुछ देर बाद उन्‍हें सब समझ आ गया. इसके बाद बनी स्थिति से वे काफी परेशान हैं और आसपास तेज बदबू फैली हुई है. वहीं इस पर प्रशासनिक अफसरों का कहना है कि नदी में बह रहे सूअरों के खून से कोई संक्रमण फैलने की आशंका नहीं है. क्‍योंकि उन्‍हें मारने से पहले ही सभी को संक्रमणरहित कर दिया गया था.
Loading...

यह भी पढ़ें: ISRO कर रहा चंद्रयान-3 की तैयारी, चंद्रयान-2 ने भेजी चांद की सबसे खूबसूरत तस्वीर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 14, 2019, 10:21 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...