अपना शहर चुनें

States

सुरक्षित हिंद प्रशांत क्षेत्र के लिए चीन के मुकाबले भारत संग आया मॉरीशस

मॉरीशस में भारतीय उच्चायोग के नए भवन का विदेश मंत्री एस जयशंकर ने उद्घाटन किया (फाइल फोटो)
मॉरीशस में भारतीय उच्चायोग के नए भवन का विदेश मंत्री एस जयशंकर ने उद्घाटन किया (फाइल फोटो)

S Jaishankar in Mauritius: मॉरीशस के प्रधानमंत्री ने कहा, “डॉ. जयशंकर के साथ हमने जिन मुद्दों पर चर्चा की, उनमें हिंद प्रशांत क्षेत्र में शांति और कानून के शासन के प्रति सम्मान सुनिश्चित करना भी शामिल था.”

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 23, 2021, 8:57 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. हिंद प्रशांत क्षेत्र (Indo-Pacific Region) में शांति और कानून के शासन के प्रति भारतीय दृष्टिकोण का समर्थन करते हुए मॉरीशस (Mauritius) ने भारत के साथ मिलकर काम करने की अपनी प्रतिबद्धता को फिर दोहराया है. विदेश मंत्री एस. जयशंकर (S Jaishankar) के साथ मीडिया को संबोधित करते हुए मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद जगन्नाथ ने कहा कि सुरक्षित और समृद्ध हिंद महासागर के संरक्षण और इस दिशा में काम करने की हमारी साझी महत्वाकांक्षा और जिम्मेदारी है. चीन (China) के परोक्ष संदर्भ में जगन्नाथ ने कहा, “ डॉ. जयशंकर के साथ आज अपनी बैठक के दौरान हमने जिन मुद्दों पर चर्चा की, उनमें हिंद प्रशांत क्षेत्र में शांति और कानून के शासन के प्रति सम्मान सुनिश्चित करना भी शामिल था.” जगन्नाथ ने आगे कहा कि समुद्री संसाधनों के सतत प्रबंधन के लिए क्षमता बढ़ाने और समुद्री क्षेत्र की चुनौतियों के निराकरण के लिए मॉरीशस और भारत एक साथ द्विपक्षीय और क्षेत्रीय साझेदारों के तौर पर काम करने को लेकर प्रतिबद्ध हैं.

उच्चायोग के नए भवन का उद्घाटन
बता दें कि विदेश मंत्री जयशंकर दो देशों के दौरे के अंतिम चरण में मालदीव से रविवार रात मॉरीशस पहुंचे थे. विदेश मंत्री एस. जयशंकर (S Jaishankar) ने मंगलवार को मॉरीशस में भारतीय उच्चायोग के नए और पर्यावरण अनुकूल भवन का उद्घाटन किया और भारत की मदद से निर्मित 950 से ज्यादा आवासीय इकाइयों के काम की समीक्षा की. उन्‍होंने सोमवार को प्रधानमंत्री प्रविंद जगन्नाथ के साथ भेंटकर द्विपक्षीय संबंधों पर चर्चा की थी. जयशंकर ने ट्वीट किया, ‘‘मॉरीशस में उच्चायोग के नए भवन का उद्घाटन किया. यह पर्यावरण अनुकूल परियोजना नए भारत को प्रदर्शित करती है.’’

950 आवासीय इकाइयों से जुड़े कार्यों की समीक्षा
उन्होंने विश्वास जताया कि नए भवन से भारतीय मिशन में और कार्य करने की प्रेरणा मिलेगी. मॉरीशस स्थित भारतीय उच्चायोग ने बताया कि जयशंकर ने मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद जगन्नाथ और विदेश मंत्री एलन गन्नू की मौजूदगी में इबेने में भारतीय उच्चायोग के कार्यालय सह आवास इमारत का उद्घाटन किया. जयशंकर ने समारोह में शामिल होने के लिए प्रधानमंत्री जगन्नाथ और विदेश मंत्री गन्नू का शुक्रिया अदा किया. विदेश मंत्री ने भारत की मदद से निर्मित 950 आवासीय इकाइयों से जुड़े कार्यों की समीक्षा करने के बाद ट्वीट किया, ‘‘उप प्रधानमंत्री और आवास मंत्री लुईस स्टीवन ओबीगाडो के साथ डगोटिरे सामाजिक आवासीय परियोजना की समीक्षा की. खुशी है कि भारत की मदद से निर्मित 956 आवासीय इकाइयों में जल्द ही लोग रहने लगेंगे.’’



PM मोदी के ‘सागर’ में मॉरीशस अहम
अपने दौरे के दौरान विदेश मंत्री ने भारत के सहयोग से तैयार मेट्रो एक्सप्रेस की भी यात्रा की. हिंद महासागर क्षेत्र में मॉरीशस भारत का महत्वपूर्ण समुद्री पड़ोसी है और प्रधानमंत्री के ‘सागर’ (क्षेत्र में सब की सुरक्षा और विकास) दृष्टिकोण में उसका विशेष स्थान है. मॉरीशस में करीब 70 प्रतिशत आबादी भारतीय मूल की है. इससे पहले विदेश मंत्री जयशंकर के साथ मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद जगन्नाथ ने संयुक्त रूप से मीडिया को संबोधित करते हुए कहा, “सोमवार सुबह जयशंकर के साथ मेरी बेहद सार्थक बैठक हुई जहां हमने द्विपक्षीय सहयोग और संबंधों के कई पहलुओं की समीक्षा की और इस बारे में चर्चा की कि हम कैसे सर्वश्रेष्ठ रूप में आगे बढ़ सकते हैं.”
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज