लाइव टीवी

अमेरिका से दोस्ती, चीन-पाक को संदेश- 'ट्रंप' कार्ड साबित हुआ हाउडी मोदी

News18Hindi
Updated: September 23, 2019, 12:18 PM IST
अमेरिका से दोस्ती, चीन-पाक को संदेश- 'ट्रंप' कार्ड साबित हुआ हाउडी मोदी
'हाउडी मोदी' कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने हाउडी मोदी (Howdy Modi) कार्यक्रम को संबोधित किया. इस इवेंट में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप (Donald Trump) भी पहुंचे.2020 में होने वाले अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव को देखते हुए Howdy Modi इवेंट ट्रंप कार्ड साबित हुआ.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 23, 2019, 12:18 PM IST
  • Share this:
(भवदीप कांग)

दुनिया के दो सबसे बड़े लोकतांत्रिक देशों के नेताओं ने रविवार को ह्यूस्टन में एक साथ रैली की. भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने हाउडी मोदी (Howdy Modi) इवेंट के जरिए विश्व के सामने भारत-अमेरिका की दोस्ती और मजबूत संबंध का नज़ारा पेश किया. वैश्विक रूप से देखें तो 'Howdy Modi' से भारत-अमेरिका दोनों देशों को ही लाभ हुआ है.

'Howdy Modi' इवेंट में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने भारत के साथ मिलकर कट्टरपंथी इस्लामी आतंकवाद के खिलाफ मजबूती से लड़ने पर जोर दिया. ट्रंप ने बीजिंग (चीन) और इस्लामाबाद (पाकिस्तान) को आतंकवाद पर अपना रुख साफ किया, जबकि ट्रेड वॉर को लेकर चीन को आड़े हाथ लिया. वहीं, भारत ने कश्मीर को अंतरराष्ट्रीय मसला बनाने की पाकिस्तान की कोशिशों का एक बार फिर से सफलतापूर्वक विरोध किया.

पाकिस्तान पर कसे तंज

भारत के प्रधानमंत्री ने जम्मू-कश्मीर में 70 साल से चले आ रहे संविधान के आर्टिकल 370 को खत्म करने को भारत का एक मजबूत फैसला बताते हुए आतंकवाद को बढ़ावा देने के लिए पाकिस्तान पर तंज कसे. वहीं, आतंकवाद को खत्म करने के प्रयासों के लिए ट्रंप सरकार की तारीफ की. मोदी ने कहा कि इसकी वजह ये है कि भारत और अमेरिका का आतंकवाद पर एक जैसा रवैया रहा है.

अगर असर की बात करें, तो 'Howdy Modi' में डोनाल्ड ट्रंप की मौजूदगी से अमेरिका को कई फायदे हुए हैं. भारतीय मूल के अमेरिकी लोगों के सामने पीएम मोदी की तस्वीर एक रॉकस्टार जैसी है. इसका नज़ारा ह्यूस्टन के खचाखच भरे एनआरजी स्टेडियम में देखने को मिला. लोग पीएम मोदी को सुनने के लिए और उनकी एक झलक के लिए बहुत उत्साहित थे, बेशक ये ट्रंप को हैरान करने वाला था लेकिन, वह इसे भुनाने में कामयाब रहे.


Modi Trump
हाउडी इवेंट में पीएम मोदी को सुनने के लिए 50 हजार लोग जुटे थे.

Loading...

कई परंपराएं टूटीं
इवेंट में पीएम मोदी ने कहा कि POTUS (प्रेसिडेंट ऑफ द यूनाइटेड स्टेट्स) के सामने आज कई परंपराएं टूटी हैं, क्योंकि, हजारों की संख्या में भारतीय मूल के अमेरिकी भाई-बहन मुझे सुनने आए हैं. मोदी ने कहा कि ये अभूतपूर्व और असाधारण है. अमेरिका में हेड ऑफ स्टेट और हेड ऑफ गवर्नमेंट को POTUS कहा जाता है.

पीएम मोदी ने ट्रंप को भारत का सच्चा दोस्त बताया. इसके साथ ही उन्होंने अमेरिका में अगले साल होने जा रहे राष्ट्रपति चुनाव में डोनाल्ड ट्रंप को दोबारा जिताने के लिए 2014 के लोकसभा चुनाव में अपने कैंपेन 'अबकी बार मोदी सरकार' की तर्ज पर अमेरिका में 'अबकी बार ट्रंप सरकार' कहा.

माना जा रहा है कि पीएम मोदी की अपील के बाद अमेरिका के चार मिलियन PIOs (पर्सनंस ऑफ इंडियन ओरिजिन) का वोट ट्रंप को 2020 के चुनाव में जरूर मिलेगा. 2016 में भारतीय मूल के अमेरिकियों ने हिलेरी क्लिंटन के पक्ष में वोट किया था. अगले राष्ट्रपति चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी 'मोदी बूस्टर' को टेक्सास जैसे राज्यों में अच्छे से भुना सकती है, जहां के ज्यादातर वोटर्स भारतीय मूल के अमेरिकी लोग हैं.


howdy modi
हाउडी मोदी में परफॉर्म करने वाले बच्चों से मिलते पीएम मोदी और डोनाल्ड ट्रंप


प्रवासी भारतीयों के सहयोग की सराहना
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस मेगा रैली में पीएम मोदी के साथ मंच साझा करते हुए प्रवासी भारतीयों के सहयोग की सराहना की. साथ ही ये स्पष्ट किया कि उनकी गैर-आप्रवासी बयानबाजी केवल उन लोगों पर लागू होती है, जो अवैध रूप से सीमा पार कर आते हैं.

वास्तव में ये इवेंट खुद में द्विदलीय था. इस इवेंट में रिपब्लिकन और डेमोक्रेटिक दोनों दलों के नेता और सांसद मौजूद रहे. हाउस मेजॉरिटी के नेता स्टेनी होयर (डेमोक्रेट) ने इस इवेंट को भारत के साथ अमेरिकी संबंधों की द्विदलीय प्रकृति को रेखांकित करने का एक बिंदु करार दिया.

पीएम मोदी के पहनावे और हावभाव ने भी इस इवेंट में लोगों को दिल जीत लिया. कैसे पीएम मोदी उनके स्वागत में बिछाए रेड कार्पेट पर पड़े फूल को उठाने के लिए नीचे झुके, भावुक कश्मीरी पंडित एनआरआई को जिस तरह सांत्वना दी, भारतीय मूल के अमेरिकी बच्चों पर जिस तरह प्यार दिखाया, इससे उन्होंने वहां के लोगों से खुद को जोड़ने की कोशिश की. यही नहीं, पीएम मोदी ने अपने भाषण की शुरुआत भी 'अमेरिका में रह रहे मेरे 50 हजार परिवारों' से की.


HOWDY2
पीएम मोदी ने ट्रंप को भारत का सच्चा दोस्त बताया.


इसके जरिए आर्थिक वृद्धि में सुधार करने का प्रयास
ऐसे समय में जब भारतीय अर्थव्यवस्था की धीमी गति चिंता का विषय है, पीएम मोदी ने डिजिटल टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर भारत की निरंतर आर्थिक वृद्धि और सुशासन में सुधार करने के प्रयास को रेखांकित करने के लिए इस इवेंट का बखूबी इस्तेमाल किया. इसी तरह, ट्रंप ने अमेरिकी अर्थव्यवस्था की ताकत पर जोर दिया, जो अमेरिका-चीन ट्रेड वॉर के कारण अनिश्चितता के दौर से गुजर रही है.

एनएसजी स्टेडियम में 'मिनी इंडिया' की झलक के साथ साथ मिनी ट्रेड डील की संभावना भी दिखी. जब ट्रंप ने कहा कि वह भारत को एक बड़े बाजार के रूप में देखना चाहते हैं. खासतौर पर ऊर्जा और रक्षा के क्षेत्र में भारत में अपार संभावनाएं हैं.

'हाउडी मोदी' इवेंट में दुनिया के दो ताकतवर नेताओं के हावभाव आपसी सहयोग और परस्पर निर्भरता कहानी बयां कर रहे थे. दोनों एक दूसरे का हाथ थामे सहज थे. एक दूसरे के कंधे पर हाथ डाले उन्होंने अपनी मजबूत दोस्ती जाहिर की. इस दौरान ट्रंप ने ये संकेत भी दिए कि वो जल्द भारत आना चाहते हैं. आखिरकार अमेरिका में एक साथ आकर मोदी-ट्रंप दोनों एक दूसरे के लिए 'ट्रंप कार्ड' साबित हुए हैं.

ये भी पढ़ें:-

'अमेरिका में विदेशी नेता का सबसे शानदार रिसेप्‍शन'-हाउडी मोदी पर ऐसा था विदेशी मीडिया का रिएक्शन
Howdy Modi: पीएम मोदी ने साधा पाक पर निशाना, पूछा- 9/11 और 26/11 के हमलावर कहां पाए गए?
Howdy Modi में इस वजह से एक घंटे लेट पहुंचे डोनाल्ड ट्रंप

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 23, 2019, 10:17 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...