मैक्सिको: डॉक्टर ने लगवाया Pfizer-BioNTech का लगवाया कोरोना वैक्सीन, पड़ने लगे दौरे

मैक्सिको में महिला डॉक्टर को कोरोना वैक्सीन लगाने के बाद एलर्जी शुरू हो गई. (सांकेतिक तस्वीर)

मैक्सिको में महिला डॉक्टर को कोरोना वैक्सीन लगाने के बाद एलर्जी शुरू हो गई. (सांकेतिक तस्वीर)

कोरोना वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) के दुष्प्रभाव आने शुरू हो गए हैं. मैक्सिको में 32 साल की महिला डॉक्टर (Women Doctor) पर वैक्सीन के दुःप्रभाव सामने आये हैं. महिला डॉक्टर को फाइजर-बायोएनटेक (Pfizer-BioNTech) कोविड-19 वैक्सीन लगने के बाद अस्पताल में भर्ती (Hospitalised) करवाया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 3, 2021, 1:05 PM IST
  • Share this:

मैक्सिको सिटी. कोरोना वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) के दुष्प्रभाव आने शुरू हो गए हैं. मैक्सिको में 32 साल की महिला डॉक्टर (Women Doctor) पर वैक्सीन के दुःप्रभाव सामने आये हैं. मैक्सिको के अधिकारियों ने कहा कि वे इस मामले का अध्ययन कर रहे हैं. महिला डॉक्टर को फाइजर-बायोएनटेक (Pfizer-BioNTech) कोविड-19 वैक्सीन लगने के बाद अस्पताल में भर्ती (Hospitalised) करवाया गया है. डॉक्टर का नाम जारी नहीं किया गया है. डॉक्टर को उत्तरी राज्य नूएवो लियोन के एक सरकारी अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कराया गया था. उसे सांस लेने में दिक्क्त हो रही थी और इसके साथ ही उसे दौरे भी पड़ रहे थे. उसकी त्वचा पर खुजली और अन्य समस्याएं दिखने लगी थी.

महिला डॉक्टर को हुआ था एन्सेफैलोमेलाइटिस

स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार रात जारी एक बयान में कहा कि महिला डॉक्टर के शुरूआती डायग्नोसिस एन्सेफैलोमेलाइटिस बताया है जिसमें मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डी में सूजन आ जाती है.

महिला डॉक्टर पहले से रह रही थी बीमार
मैक्सिको के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि जिस महिला डॉक्टर पर कोरोना वैक्सीन के दुष्प्रभाव दिखे उसका एलर्जिक रिएक्शंस का इतिहास रहा है. साथ ही यह भी कहा कि क्लिनिकल ट्रायल्स में इस तरह का कोई सुबूत नहीं मिला कि वैक्सीन लगाने के बाद किसी भी व्यक्ति में मस्तिष्क की सूजन देखी गई हो.

ये भी पढ़ें: अमेरिका: कोविड-19 का प्रकोप बढ़ा, कब्रिस्तानों में शवों के लिए नहीं बची जगह

जाकिर नाइक ने पाकिस्तान में हिंदू मंदिर तोड़े जाने का किया समर्थन, ये कहा...



Pfizer और BioNTech से किसी तरह की टिप्पणी नहीं मिली है. मेक्सिको में कोविड -19 से 126,500 से अधिक लोग मारे गए हैं. देश में 24 दिसंबर से स्वास्थ्य कर्मचारियों को कोविड -19 के वैक्सीन लगाने का पहले दौर शुरू हुआ था.

वहीं, पिछले दिनों अमेरिका के बोस्टन में एक डॉक्टर ने कोरोनावायरस वैक्सीन लगवाने के बाद एलर्जी शुरू हो गई. डॉक्टर ने कोरोनावायरस से बचने के लिए मॉर्डना का वैक्सीन लगवाया था. डॉ. हुसैन सद्रजादेह बोस्टन मेडिकल सेंटर में कैंसर स्पेशलिस्ट हैं. उन्होंने कहा कि कोरोना वैक्सीन लगवाने के तत्काल बाद मुझे बहुत ज्यादा एलर्जी शुरू हो गई.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज