माइक्रोसॉफ्ट 15 सितंबर तक TikTok को खरीदे और मुनाफे का बड़ा हिस्सा US को दे: ट्रंप

माइक्रोसॉफ्ट 15 सितंबर तक TikTok को खरीदे और मुनाफे का बड़ा हिस्सा US को दे: ट्रंप
डोनाल्ड ट्रंप ने टिकटॉक की बिक्री मुनाफे का एक बड़ा हिस्सा अमेरिका को देने को कहा है.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donal Trump) ने मांग की है कि लोकप्रिय चीनी ऐप टिकटॉक के बिक्री (Sale of TikTok) से प्राप्त मुनाफे का एक बड़ा हिस्सा अमेरिका को मिलना चाहिए.

  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donal Trump) ने मांग की है कि लोकप्रिय चीनी ऐप टिकटॉक के बिक्री (Sale of TikTok) से प्राप्त मुनाफे का एक बड़ा हिस्सा अमेरिका को मिलना चाहिए. उन्होंने कहा है कि टिकटॉक 15 सितंबर तक या तो किसी अमेरिकी कंपनी को अपना कारोबार बेच दे या फिर अमेरिका में अपना कारोबार बंद (Ban On TikTok) कर दे.

टिकटॉक की 100 फीसदी खरीद के पक्ष में हैं ट्रंप
अमेरिका में टिकटॉक को 15 सितंबर तक कारोबार समेटने की चेतावनी देने के कुछ घंटे बाद ट्रंप सोमवार को व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से बात कर रहे थे. प्रौद्योगिकी कंपनी माइक्रोसॉफ्ट, टिकटॉक की मूल कंपनी बाइटडांस से इसका अमेरिकी कारोबार खरीदने के लिए बात कर रही है. हालांकि, राष्ट्रपति 100 प्रतिशत खरीद के पक्ष में हैं, न कि 30 प्रतिशत खरीद के पक्ष में जैसी अभी खबर आ रही है.

'पट्टे के बिना किराएदार की अहमियत नहीं होती'
ट्रंप ने कहा कि अमेरिका को उस कीमत का एक बहुत बड़ा हिस्सा मिलना चाहिए क्योंकि हम इसे संभव बना रहे हैं. हमारे बिना, जैसा आप जानते हैं, मैं कहता हूं कि यह मालिक और किराएदार जैसा है और पट्टे के बिना किराएदार की कोई अहमियत नहीं होती. उन्होंने कहा कि यह बड़ी सफलता प्राप्त करने के लिए हम इसे संभव बनाते हैं. टिकटॉक एक बड़ी सफलता है. लेकिन इसका एक बड़ा हिस्सा इस देश में होना चाहिए. यह बिक्री से आएगा, हां. संख्या कुछ भी हो, यह बिक्री से आएगी.



'टिकटॉक की नहीं हो पाई खरीददारी तो बंद कर दिया जाएगा'
इससे पहले, ट्रंप ने कहा कि अगर माइक्रोसॉफ्ट या कोई अन्य अमेरिकी कंपनी इसे नहीं खरीद पाती है तो टिकटॉक को 15 सितंबर को बंद कर दिया जाएगा. उचित सौदे पर काम करिए. राष्ट्रपति ने इस मामले पर माइक्रोसॉफ्ट के भारतीय मूल के सीईओ सत्य नडेला से भी बात की.

15 सितंबर तक टिकटॉक के साथ हो जाएगी डील: नडेला
माइक्रोसॉफ्ट ने रविवार को एक बयान में कहा कि नडेला और ट्रंप के बीच बातचीत के बाद कंपनी अमेरिका में टिकटॉक का कारोबार खरीदने की संभावना पर चर्चा जारी रखने को तैयार है. उन्होंने कहा कि माइक्रोसॉफ्ट खरीद की बात को आगे बढ़ाने के लिए टिकटॉक की मूल कंपनी बाइटडांस से बात कर रही है और इस चर्चा को किसी भी तरह 15 सितंबर तक पूरा कर लेगी.

भारत ने जून में 59 चीनी ऐप पर रोक लगा दिया था
भारत द्वारा टिकटॉक सहित चीन के दर्जनों ऐप पर रोक लगाए जाने के बाद अमेरिका में भी राष्ट्रीय बहस शुरू हो गई है और चीनी ऐप के खिलाफ ऐसा ही कदम उठाए जाने की मांग जोर पकड़ती जा रही है. भारत ने जून में टिकटॉक, यूसी ब्राउजर सहित चीन के 59 ऐप पर रोक लगा दी थी और कहा था कि ये ऐप देश की संप्रभुता, अखंडता और सुरक्षा के लिए हानिकारक हैं.

हम सुरक्षा संबंधी कोई समस्या नहीं चाहते हैं: ट्रंप
ट्रंप ने कहा कि टिकटॉक का अमेरिकी कारोबार अमेरिकी कंपनी द्वारा खरीदा जाना चाहिए क्योंकि ‘हम सुरक्षा संबंधी कोई समस्या नहीं चाहते.’ राष्ट्रपति ने एक सवाल के जवाब में कहा कि ‘इसे (टिकटॉक के अमेरिकी कारोबार) खरीदने को लेकर माइक्रोसॉफ्ट ही नहीं, अन्य कंपनियों में भी उत्साह है. इसलिए, हम देखेंगे कि क्या होता है. लेकिन हम चाहते हैं कि हम अमेरिका में, खजाने में आ रहे मूल्य का एक बड़ा हिस्सा पाने के हकदार हैं.’

ये भी पढ़ें:-
भारतीय आईटी प्रोफेशनल्स को झटका! ट्रंप ने H-1B वीज़ा को लेकर किया आदेश जारी
खुशखबरी: रूस में कोरोना वैक्सीन तैयार, अगले महीने से शुरू होगा प्रोडक्शन

इससे पहले, व्हाइट हाउस के व्यापार सलाहकार एवं राष्ट्रपति के सहायक पीटर नवारो ने कहा कि टिकटॉक से देश को खतरा है. उन्होंने सीएनएन से कहा कि चीन की कम्यूनिस्ट पार्टी जानती है कि आपके बच्चे कहां हैं. असल में यह एक समस्या है. आप टिकटॉक जैसे चीनी ऐप को लॉगइन करते हैं तो उन्हें आपका नाम और पासवर्ड प्राप्त हो जाता है.’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज