Home /News /world /

al jazeera journalist killed in west bank israel and palestine blame each other

वेस्ट बैंक में अल-जजीरा की पत्रकार की मौत, इजरायल और फलस्‍तीन ने एक-दूसरे को बताया जिम्‍मेदार

पत्रकार शिरीन अबू अकलेह. (  साभार फोटो Al Jazeera )

पत्रकार शिरीन अबू अकलेह. ( साभार फोटो Al Jazeera )

वेस्ट बैंक शहर जेनिन में एक इजराइली सेना (Israeli Army) की कार्रवाई के दौरान अल-जजीरा की एक पत्रकार शिरीन अबू अकलेह (51) की बुधवार को मौत हो गई. इजराइली सेना ने इससे इनकार किया कि सेना ने पत्रकारों को निशाना बनाया और कहा कि सच्चाई का पता लगाने के लिए जांच की जायेगी.

अधिक पढ़ें ...

यरुशलम. वेस्ट बैंक शहर जेनिन में एक इजराइली सेना (Israeli Army) की कार्रवाई के दौरान अल-जजीरा की एक पत्रकार की बुधवार को मौत हो गई. फलस्तीनी (Palestine) प्राधिकरण (पीए) और कतर के नेटवर्क ने उसकी मौत के लिए इजराइली सेना को जिम्मेदार ठहराया है. फलस्तीनी स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि अल-जजीरा के लिए यरुशलम में कार्यरत पत्रकार शिरीन अबू अकलेह (Shireen Abu Akleh) को सिर में गोली लगी. मंत्रालय ने बताया कि एक अन्य पत्रकार अली समोदी को पीठ में गोली लगने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उनकी हालत स्थिर बताई गई है. समोदी अल-कुद्स अखबार में कार्यरत हैं.

इजराइली सेना ने इस बात से इनकार किया कि उसकी सेना ने पत्रकारों को निशाना बनाया और साथ ही कहा कि सच्चाई का पता लगाने के लिए जांच की जायेगी. सेना ने कहा कि इजराइली सेना जेनिन शरणार्थी शिविर और वेस्ट बैंक के कई अन्य क्षेत्रों में ‘आतंकवादी संदिग्धों’ को पकड़ने के लिए अभियान चला रही थी. इजराइली रक्षा बलों (आईडीएफ) के अनुसार आतंकवादियों ने छापेमारी के दौरान इजराइली बलों पर गोलियां चलाईं और उन पर विस्फोटक फेंके. फलस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास ने कहा कि वह शिरीन अबू अकलेह की मौत के लिए इजराइली बलों को ‘पूरी तरह से जिम्मेदार’ मानते हैं.

अंतरराष्ट्रीय समुदाय से आह्वान करते हैं कि …

कतर के प्रसारक ने अपने चैनल पर जारी किए गए एक बयान में कहा, ‘हम अंतरराष्ट्रीय समुदाय से आह्वान करते हैं कि वह हमारी सहयोगी शिरीन अबू अकलेह को जानबूझकर निशाना बनाने और उनकी जान लेने के लिए इजराइली बलों की निंदा करें और उनकी जवाबदेही तय करें.’ घटना के एक वीडियो में, अबू अकलेह नीले रंग की जैकेट पहने नजर आ रही हैं, जिस पर स्पष्ट रूप से ‘प्रेस’ लिखा हुआ है. वहीं, इजराइली सेना ने कहा कि जेनिन में उनके बल पर भारी गोलीबारी की गई तथा विस्फोटकों से हमले किए गए और तब उसकी सेना ने जवाबी कार्रवाई की. सेना ने कहा, ‘वह घटना की जांच कर रही है और हो सकता है कि पत्रकार फलस्तीनी बंदूकधारियों की गोलीबारी की चपेट में आ गई हों.’

फलस्तीनी उस समय गोलीबारी कर रहे थे, वे पत्रकार की मौत के लिए जिम्मेदार

इस बीच इजराइल के प्रधानमंत्री नफ्ताली बेनेट ने संयुक्त जांच की मांग की है. उन्होंने एक बयान में कहा, ‘हमने जो जानकारी एकत्र की है, उसके अनुसार सशस्त्र फलस्तीनी उस समय अंधाधुंध गोलीबारी कर रहे थे और ऐसा प्रतीत होता है कि वे पत्रकार की मौत के लिए जिम्मेदार हैं.’ फलस्तीनी प्राधिकरण ने हमले की निंदा की और कहा कि यह इजराइली बल द्वारा किया गया एक ‘चौंकाने वाला अपराध’ है. फलस्तीनी प्राधिकरण, कब्जे वाले वेस्ट बैंक के कुछ हिस्सों पर शासन करता है और सुरक्षा मामलों पर इजराइल का सहायोग भी करता है. यरुशलम में जन्मी अबू अकलेह 51 वर्ष की थीं. उन्होंने 1997 में अल-जजीरा के लिए काम शुरू किया था और नियमित रूप से फलस्तीनी क्षेत्रों से रिपोर्टिंग कर रहीं थीं.

Tags: Israeli Army, Palestine

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर