Home /News /world /

इराक में मिली 27000 साल पुरानी वाइन फैक्ट्री और गज़ब की नक्काशी

इराक में मिली 27000 साल पुरानी वाइन फैक्ट्री और गज़ब की नक्काशी

 इराक में पुरातत्वविदों के मुताबिक, यहां असीरियन राजाओं के लिए वाइन बनाई जाती थी (AP)

इराक में पुरातत्वविदों के मुताबिक, यहां असीरियन राजाओं के लिए वाइन बनाई जाती थी (AP)

इन कारखानों पर पांच मीटर (16 फीट) चौड़ी और दो मीटर ऊंची 12 पैनलों पर नक्काशी की गई है. जिसमें देवताओं, राजाओं और पवित्र जानवरों को दिखाया गया है. वे सरगोन II (721-705 ईसा पूर्व) और उनके बेटे सन्हेरीब के शासनकाल से हैं.

    बगदाद. इराक में पुरातत्वविदों (Archaeologists in Iraq)ने रविवार को 2700 साल पहले असीरियन राजाओं (Assyrian kings)के शासन की शराब कारखाने (wine factory) की खोज की है. इसके साथ ही उत्तरी इराक के फैदा में लगभग 9 किलोमीटर लंबी (5.5-मील) सिंचाई नहर की दीवारों पर गज़ब की नक्काशी भी मिली हैं.

    इन कारखानों पर पांच मीटर (16 फीट) चौड़ी और दो मीटर ऊंची 12 पैनलों पर नक्काशी की गई है. जिसमें देवताओं, राजाओं और पवित्र जानवरों को दिखाया गया है. वे सरगोन II (721-705 ईसा पूर्व) और उनके बेटे सन्हेरीब के शासनकाल से हैं.

    मछली पकड़ने गए शख्स के कांटे में फंसी पीले रंग की दुर्लभ मछली! पानी से बाहर निकालते ही उड़ गए होश

    इटली के पुरातत्वविद् डेनियल मोरांडी बोनाकोसी ने कहा, ‘इराक में विशेष रूप से कुर्दिस्तान में ऐसी चट्टानें हैं, लेकिन इतना विशाल स्मारक नहीं है.’

    उन्होंने कहा, ‘ये नक्काशी असीरियन देवताओं के सामने प्रार्थना करते हुए असीरियन राजा का प्रतिनिधित्व करते हैं. हमें सात प्रमुख देवताओं की नक्काशियां मिली हैं. इसमें प्रेम और युद्ध की देवी ईशर भी शामिल है, जिसे शेर के शीर्ष पर चित्रित किया गया है.’

    द मरकरी डॉट कॉम की रिपोर्ट के मुताबिक, पहाड़ियों से किसानों के खेतों तक पानी ले जाने के लिए सिंचाई नहर को काट दिया गया था. यहां उन राजाओं की नक्काशियां बनाई गई हैं, जिन्होंने ये आदेश दिया था.

    मोरांडी बोनाकोसी ने कहा, ‘यह न केवल प्रार्थना का एक धार्मिक दृश्य था, यह राजनीतिक भी था. एक तरह का प्रचार दृश्य था.’ बोनाकोसी के मुताबिक, ‘राजा संभव तौर पर इस तरह क्षेत्र में रहने वाले लोगों को दिखाना चाहता था कि वह वही है जिसने इन विशाल सिंचाई प्रणालियों को बनाया है. इसलिए लोगों को इसे याद रखना चाहिए और उनके लिए वफादार रहना चाहिए.’

    इंडोनेशिया में मछुआरों ने ढूंढ़ा 700 साल पुराना खोया हुआ बहुमूल्य खजाना, दुर्लभ प्रतिमाएं भी मिली

    इराक दुनिया के कुछ शुरुआती शहरों का जन्मस्थान था. अश्शूरियों के साथ-साथ यह कभी सुमेरियन और बेबीलोनियों का घर था और मानव जाति के लेखन के पहले उदाहरणों में से एक था. लेकिन अब यह प्राचीन कलाकृतियों की तस्करी का भी एक स्थान है.

    इस साल की शुरुआत में संयुक्त राज्य अमेरिका ने इराक को लगभग 17,000 कलाकृतियां लौटा दीं, जो लगभग 4,000 साल पहले सुमेरियन काल की थीं.

    पिछले महीने, गिलगमेश के महाकाव्य का वर्णन करने वाली 3,500 साल पुरानी एक टैबलेट को तीन दशक पहले चोरी हो जाने और अवैध रूप से अमेरिका में आयात करने के बाद इराक वापस कर दिया गया था.

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर