जनसंख्या बढ़ाने के लिए ईरान ने निकाला ये तरीका, 'हमदम' से करेगी जनता की मदद

फोटो सौ. (Reuters)

ईरान (Iran) की सरकार ने यहां शादियों (Marriages) को बढ़ावा देने के लिए ‘मैचमेकिंग एप' लॉन्च किया है. इस एप का नाम ‘हमदम' है. इसे सरकार के इस्लामिक सांस्कृतिक निकाय ने बनाया है.

  • Share this:
    तेहरान. पिछले कुछ सालों में ईरान (Iran) जन्म दर कम होने की समस्या से बुरी तरह से जूझ रहा है. ईरान में विश्व के कई दूसरे देशों के मुकाबले जन्म दर (Birth Rate) काफी कम हो गया है, जिससे परेशान ईरान की सरकार ने एक नया नुस्खा निकाला है. जन्म दर बढ़ाने के लिए ईरान सरकार ने 'मैच मेकिंग एप' को लॉन्च किया है, ताकि युवाओं में आकर्षण बढ़ सके, वो एप के जरिए अपने लिए सही जीवन साथी चुन सके और फिर ईरान की आबादी को बढ़ाई जा सके.

    अधिकारियों के मुताबिक, इस एप का नाम ‘हमदम' है. इसे सरकार के इस्लामिक सांस्कृतिक निकाय ने बनाया है. यह एप संभावित जोड़ों, उनके परिवारों को मैचिंग और परामर्श सेवाएं प्रदान करता है. इसके साथ ही शादी के चार साल बाद तक जोड़े के संपर्क में रहता है. ईरान में इस्लामी कानून के तहत पश्चिम शैली की डेटिंग पर पाबंदी है. लेकिन कई युवा पारंपरिक तरीके विवाह करना पसंद नहीं करते. ईरानी महिलाओं में प्रजनन दर पिछले 4 साल में 25 प्रतिशत कम हुई है. यहां प्रजनन दर प्रति महिला 1.7 बच्चे हैं. ईरान ने एक दशक पहले अपनी परिवार नियोजन नीतियों को उलटना शुरू कर दिया था. इससे देश में गर्भनिरोधक प्राप्त करना कठिन हो गया था.

    ये भी पढ़ें: इस देश ने बादलों को लगाया इलेक्ट्रिक शॉक, 50 डिग्री तापमान में होने लगी झमाझम बारिश

    2014 में ईरान में सुप्रीम लीडर अयातुल्ला खमेनेई ने एक आदेश में कहा था कि जनसंख्या को बढ़ावा देने से राष्ट्रीय पहचान मजबूत होगी. पश्चिमी जीवन शैली के अवांछित पहलुओं से मुकाबला किया जा सकेगा. इसके बाद ईरानी संसद ने शादियों और बच्चों के जन्म को प्रोत्साहित करने के लिए कर्ज और अन्य वित्तीय प्रोत्साहन दिए.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.