UAE के लिए आज से शुरू हो रहीं फ्लाइट्स, दो डोज ले चुके वीसाहोल्डर को ही मिलेगी एंट्री

चुनिंदा देशों के साथ एयर बबल समझौते के तहत भी उड़ानों को ऑपरेट किया जा रहा है.

अमीरात एयरलाइंस ( Emirates Airlines) ने पुष्टि की है कि यूएई सरकार डेल्टा वेरिएंट (Covid Delta Varient) के चलते कोई जोखिम लेने के मूड में नहीं है. इसीलिए 3 लेयर टेस्टिंग और वैक्सीनेशन की शर्त रखी गई है.

  • Share this:
    दुबई. कोरोना वायरस के मामले (Covid Cases in India) कम होने के बाद भारत से दुबई की उड़ानें बुधवार से शुरू हो रही हैं. कोरोना के डेल्टा वेरिएंट को देखते हुए दुबई ने भारत से आने वाले यात्रियों के लिए नया प्रोटोकॉल जारी किया है. यूएई में मान्य वैक्सीन की दो डोज ले चुके सिर्फ वैध निवास वीसाधारक (visaholder) यात्रियों को ही एंट्री मिलेगी. यूएई में फाइजर (Pfizer), कोविशील्ड (Covishiled), सिनोफार्म (Sinopharm) और स्पूतनिक (Sputnik-V) वैक्सीन सरकारी तौर पर मान्य है.

    तीन बार होगा कोरोना टेस्ट
    अमीरात एयरलाइंस ने पुष्टि की है कि यूएई सरकार डेल्टा वेरिएंट के चलते कोई जोखिम लेने के मूड में नहीं है. इसीलिए 3 लेयर टेस्टिंग और वैक्सीनेशन की शर्त रखी गई है. फ्लाइट में बोर्डिंग के लिए यात्रियों को डिपार्चर से 48 घंटे पहले लिए गए आरटीपीसीआर टेस्ट (RT-PCR) की निगेटिव रिपोर्ट भी देनी होगी. सिर्फ क्यूआर कोड वाली आरटीपीसीआर रिपोर्ट ही स्वीकार की जाएगी. यात्रियों को उड़ान प्रस्थान से 4 घंटे पहले भी एक आरटीपीसीआर टेस्ट से गुजरना होगा. दुबई हवाई अड्डे पहुंचने पर यात्रियों का एक और टेस्ट होगा.

    कोरोना की दूसरी लहर में कहां और कैसे कर सकते हैं हवाई यात्रा, जानें नियम

    यात्रियों को तब तक संस्थागत क्वारेंटाइन में रहना होगा, जब तक रिपोर्ट नहीं आ जाती. हालांकि यूएई के नागरिकों और राजनयिकों को इससे छूट है.

    भारत की शिड्यूल्ड अंतरराष्ट्रीय उड़ानें कोरोना महामारी के कारण 23 मार्च के बाद से निलंबित है, लेकिन मई से विशेष अंतरराष्ट्रीय उड़ानें वंदे भारत मिशन के तहत उड़ रही हैं. इनके अलावा जुलाई से चुनिंदा देशों के साथ एयर बबल समझौते के तहत भी उड़ानों को ऑपरेट किया जा रहा है.

    इन देशों के साथ भारत ने किया है एयर बबल समझौता
    भारत ने अमेरिका (United states), ब्रिटेन (Britain), संयुक्त अरब अमीरात (UAE), केन्या (Kenya), भूटान (Bhutan) और फ्रांस के साथ विशेष द्विपक्षीय उड़ान समझौता (Air bubble pact) किया है. DGCA ने अपने सर्कुलर में साफ किया कि यह रोक केवल नियमित अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ानों पर जारी रहेगी.

    Coronavirus: कोरोना की मार, अब 30 जून तक अंतरराष्ट्रीय फ्लाइट्स पर लगी पाबंदी

    इन देशों ने भी फ्लाइट्स पर लगाई रोक
    भारत के अलावा कई विदेशों ने अपनी फ्लाइट्स पर रोक लगा दी है. कनाडा (Canada) ने भारत और पाकिस्तान की ओर से आने वाले यात्री विमानों के आगमन पर लगे प्रतिबंध को 30 दिन के लिए बढ़ा दिया है, जो की 21 जून तक प्रभावी रहेगा. इस बात की जानकारी कनाडा के परिवहन मंत्री ओमार अलघाबरा ने दी है, जिनका कहना है कि भारत में संक्रमण (Coronavirus) के मामले बढ़ने के चलते उड़ानों पर प्रतिबंध लगाया गया है.

    दुबई ने भारतीयों के लिए फिर से खोला द्वार, फ्लाइट टिकट बुक करने से पहले जान लें जरूरी बातें

    कनाडा के अलावा हांगकांग और मलेशिया ने भी भारत के लिए हवाई उड़ानों पर प्रतिबंध लगाया दिया है. मिली जानकारी के अनुसार वंदे भारत मिशन की उड़ानों को मलेशिया से अस्थायी रूप से निलंबित करने का निर्णय लिया गया है. वहीं दूसरी ओर ऑस्ट्रेलिया ने भारत से आने वाली फ्लाइट्स पर लगी पाबंदी को निश्चित रूप से हटा दिया है, जो कि 14 मई की रात को हट चुका है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.