लाइव टीवी

ईरान की यूरोप को चेतावनी, कहा-अमेरिकी सैनिक खतरे में, आपके भी हो सकते हैं

भाषा
Updated: January 15, 2020, 10:40 PM IST
ईरान की यूरोप को चेतावनी, कहा-अमेरिकी सैनिक खतरे में, आपके भी हो सकते हैं
पहली बार है जब ईरानी राष्ट्रपति हसन रुहानी ने यूरोपियन देशों को धमकी दी है. फोटो.एपी

अमेरिका (America) से तनातनी के बीच यह पहली बार है जब राष्ट्रपति हसन रूहानी (Hassan Rouhani) ने यूरोप को धमकी दी है. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मई 2018 में एकतरफा तरीके से इस समझौते से अमेरिका के अलग होने की घोषणा की थी.

  • Share this:
तेहरान. ईरान (Iran) के राष्ट्रपति ने बुधवार को पश्चिम एशिया में तैनात यूरोपीय सैनिकों के संबंध में चेतावनी दी कि वे ‘खतरे में पड़ सकते हैं.’ यह चेतावनी ऐसे समय आयी है, जब ब्रिटेन, फ्रांस और जर्मनी ने 2015 के परमाणु समझौते की सीमाओं को तोड़ने को लेकर ईरान को चुनौती दी है. बहरहाल, ईरान के विदेश मंत्री जवाद जरीफ (Javed Zarif) ने स्वीकार किया है कि यूक्रेन के विमान को गलती से मार गिराने के कुछ दिनों तक ईरानी अधिकारियों ने ‘झूठ बोला था.’ इस घटना में 176 लोगों की मौत हो गई.

ईरान (Iran) के राष्ट्रपति हसन रूहानी (Hassan Rouhani) ने मंत्रिमंडल की बैठक में इसकी घोषणा की. इसका प्रसारण टीवी के जरिए किया गया. समझौते में तय सीमा को पार करने के ईरान (Iran) के कदम पर राष्ट्रों की आपत्ति के बाद रूहानी ने ये चेतावनी दी है. अमेरिका से तनातनी के बीच यह पहली बार है जब रूहानी ने यूरोप को धमकी दी है. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मई 2018 में एकतरफा तरीके से इस समझौते से अमेरिका के अलग होने की घोषणा की थी. ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद जरीफ एक शिखर वार्ता में हिस्सा लेने के लिए बुधवार को दिल्ली पहुंचे.

अपने मंत्रिमंडल को संबोधित करते हुए रूहानी ने कहा, ‘आज अमेरिकी सैनिक खतरे में हैं, कल यूरोपीय सैनिक खतरे में हो सकते हैं.’ रूहानी ने कहा, ‘हम आपको इस क्षेत्र से हटाना चाहते हैं, लेकिन युद्ध से नहीं. हम चाहते हैं कि आप समझदारी से चलें. यह आपके ही हित में होगा.’यूरोपीय सैनिक इराक और अफगानिस्तान में अमेरिकियों के साथ तैनात हैं. फ्रांस का संयुक्त अरब अमीरात की राजधानी अबू धाबी में एक नौसैन्य केंद्र हैं, जबकि ब्रिटेन ने द्वीपीय देश बहरीन में एक सैन्य केंद्र खोला है. रूहानी ने परमाणु समझौते को लेकर यूरोप की आधारहीन दलीलों की भी आलोचना की.

यूक्रेन ने ईरान से गिराए गए विमान के ब्लैक बॉक्स मांगे

यूक्रेन ने ईरान से कहा है कि वह उस यूक्रेनी यात्री विमान के ब्लैक बॉक्स सौंपे, जो एक ईरानी मिसाइल लगने के बाद क्रैश हो गया था. अभियोजकों ने बुधवार को यह जानकारी दी. सामान्य अभियोजक के कार्यालय ने कहा कि वह ब्लैक बॉक्सों को समुचित तरीके से डिकोड करने के लिये “सभी उपाय” करेगा और “हादसे की जांच में साक्ष्यों को सुरक्षित रखेगा.” कीव जा रहा यूक्रेन इंटरनेशनल एयरलाइंस का बोइंग 737 पिछले बुधवार को तेहरान से उड़ान भरने के कुछ समय बाद ही मार गिराया गया था. इस हादसे में विमान में सवार सभी 176 लोगों की मौत हो गई थी.

अमेरिकी हमले में कमांडर कासिम सुलेमानी की हत्या के विरोध में जवाबी कार्रवाई के दौरान अमेरिकी ठिकानों पर ईरान द्वारा मिसाइलों से हमला शुरू करने के कुछ घंटों बाद ही विमान गिरने की यह घटना हुई थी. ईरान ने शुरू में पश्चिमी देशों के उस दावे को खारिज किया था कि यह विमान मिसाइल हमले में गिरा है, लेकिन बाद में उसने स्वीकार किया कि दुर्घटनावश विमान मिसाइल हमले का शिकार हुआ.

यह भी पढ़ें...गधे की सवारी करने वाले PAK एंकर का नया VIDEO, तलवार लहराकर की रिपोर्टिंग

पुतिन के भाषण के बाद रूस में पूरी सरकार ने दिया इस्तीफा, पीएम ने छोड़ा पद

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मध्य पूर्व से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 15, 2020, 10:08 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर