Explained: आज चुना जाएगा ईरान का राष्ट्रपति, 42 साल बाद सबसे कम मतदान की उम्मीद; जानें सियासी समीकरण

बाएं से दाएं: अब्दुलनसीर हेम्मती, मोहसिन रेजाई, अमीर हुसैन गाजीजादेह हाशमी और इब्राहिम रईसी (फोटो: AP)

Iran Presidential Election: इब्राहिम रईसी का नाम सबसे ऊपर है. इनके अलावा ईरान के केंद्रीय बैंक के पूर्व प्रमुख अब्दुलनसीर हेम्मती, पूर्व रिवॉल्युशनरी गार्ड कमांडर मोहसिन रेजाई और मौजूदा सांसद आमिर हुसैन गाजिजादेह चुनावी मैदान में हैं.

  • Share this:
    तेहरान. ईरान की जनता आज अपना राष्ट्रपति (Presidential Election in Iran) चुनेगी. शुक्रवार को होने वाले इस चुनाव में कुल 4 उम्मीदवार मैदान में हैं. परमाणु समझौते (Nuclear Deal) समेत कई अंतरराष्ट्रीय मुद्दों के चलते दुनियाभर में चुनाव को लेकर चर्चा है. इस चुनाव में जीतने वाला उम्मीदवार दो बार के राष्ट्रपति हसन रूहानी (Hassan Rouhani) की जगह लेगा. खास बात है कि ईरान में कोई भी नेता दो कार्यकाल तक राष्ट्रपति बना रह सकता है.

    आंकड़ों में समझें
    आठ करोड़ की आबादी वाले ईरान में मतदाताओं की संख्या 5.9 करोड़ है. जानकारों ने इस बार कम मतदान होने का अनुमान लगाया है. बीबीसी के अनुसार, एक सरकार समर्थित ईरानी स्टूडेंट पोलिंग एजेंसी आईएसपीए ने कहा है कि इस बार मतदान 42 प्रतिशत तक रह सकता है. वहीं, अगर पिछले चुनाव को देखें, तो 2017 में 73 फीसदी वोटिंग हुई थी. अगर अनुमान सही निकलते हैं, तो 1979 के बाद यह पहली बार होगा जब राष्ट्रपति चुनाव में लोगों की भागीदारी कम होगी. देश के शीर्ष नेता आयातुल्लाह खामेनेई ने लोगों से वोटिंग में हिस्सा लेने की अपील की है.

    कौन-कौन है उम्मीदवार?
    इस बार राष्ट्रपति पद के लिए चार लोगों ने दावेदारी पेश की है. इनमें न्यायिक व्यवस्था के प्रमुख इब्राहिम रईसी का नाम सबसे ऊपर है. इनके अलावा ईरान के केंद्रीय बैंक के पूर्व प्रमुख अब्दुलनसीर हेम्मती, पूर्व रिवॉल्युशनरी गार्ड कमांडर मोहसिन रेजाई और मौजूदा सांसद आमिर हुसैन गाजिजादेह चुनावी मैदान में हैं. कहा जा रहा है कि रईसी का पलड़ा चुनाव में सबसे ज्यादा भारी है. चुनाव में उम्मीदवार बनने के लिए 600 से ज्यादा लोगों ने नामांकन भरा था. जबकि, उम्मीदवारों को मंजूरी देने वाली गार्जियन काउंसिल ने केवल 7 लोगों को चुनाव लड़ने की अनुमति दी है.

    कहा जा रहा है कि इस बार 12 सदस्यीय काउंसिल ने काफी लोगों को चुनाव लड़ने से रोका है. इनमें सदन के पूर्व स्पीकर अली लार्जियानी, पूर्व कट्टर राष्ट्रपति महमूद अहमदीनेजाद को भी चुनाव नहीं लड़ रहे हैं. इस बात से खफा महमूद ने समर्थकों से वोट नहीं डालने की अपील की है. चुनाव में महिलाओं को भी शामिल नहीं होने दिया गया. इस बार 40 महिलाओं ने भी चुनाव लड़ने की इच्छा जताई थी.

    सुप्रीम लीडर के पास क्या ताकत होती है?
    88 सदस्यों वाली एक चुनी हुई पैनल के पास शीर्ष नेता को नियुक्त करने और हटाने का हक है. इस पैनल को एसेंबली ऑफ एक्सपर्ट्स कहा जाता है. ईरान के मौजूदा शीर्ष नेता 82 साल के अयातुल्लाह खामेनेई हैं. सुप्रीम लीडर देश की सेना के कमांडर इन चीफ के तौर पर भी काम करता है. सुप्रीम लीडर के पास सरकार से जुड़े सभी मुद्दों पर अंतिम फैसला लेने का अधिकार होता है.

    चारों उम्मीदवारों के बारे में जानते हैं
    इब्राहिम रईसी: 60 साल के रईसी को कट्टरपंथी मौलवी कहा जाता है. वे खामेनेई के करीबियों में गिने जाते हैं. 2017 में उन्होंने रुहानी के खिलाफ चुनाव लड़ा था, लेकिन उस दौरान उन्हें हार का सामना करना पड़ा था. हार के बाद खामेनेई ने रईसी को देश की न्यायिक व्यवस्था का प्रमुख नियुक्त कर दिया था.

    अब्दुलनसीर हेम्मीती: 64 साल के हम्मेती ने कई सालों तक देश की सेंट्रल बैंक के प्रमुख रहे. रुहानी सरकार में काम करते हुए, वे खुद को एक निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर पेश करते रहे हैं. अपने कार्यकाल में उन्होंने निजी और सरकारी दोनों तरह की बैंकों में प्रमुख के तौर पर काम किया. वे इकोनॉमिक्स के प्रोफेसर भी हैं. कुछ समय तक उन्होंने चीन के लिए ईरान के राजदूत के तौर पर भी काम किया है.

    आमिर हुसैन गाजिजादेह हाशमी: 50 साल के हाशमी पेशे से नाक, कान और गले के विशेषज्ञ हैं. उन्हें राजनीतिक जानकार रूढ़िवादी नेता मानते हैं. उन्होंने 2007 से संसद सदस्य के तौर पर काम किया है. फिलहाल वे संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष हैं. उन्होंने शपथ ली है कि कार्यालय संभालने के महज तीन दिनों में वे ईरान के स्टॉक मार्केट की स्थिति बेहतर कर देंगे.

    मोहसिन रेजाई: 66 साल के रेजाई कई चुनाव में एक कट्टरपंथी उम्मीदवार के तौर पर सामने आए हैं. 1994 में ब्यूनस आयर्स के यहूदी सेंटर में हुई धमाके में वे इंटरपोल के 'रेड नोटिस' पर वे अर्जेंटीना में वांछित हैं. इस हमले में 85 लोगों की मौत हो गई थी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.