होम /न्यूज /दुनिया /ड्रोन हमले में बाल-बाल बचे PM मुस्तफा, जानें इराक में कैसे हैं ताजा हालात

ड्रोन हमले में बाल-बाल बचे PM मुस्तफा, जानें इराक में कैसे हैं ताजा हालात

इराक के प्रधानमंत्री मुस्तफा अल-कदीमी (AP)

इराक के प्रधानमंत्री मुस्तफा अल-कदीमी (AP)

सुरक्षा बलों और ईरान समर्थक शिया मिलिशिया के बीच गतिरोध के बीच ये हमला हुआ है, जिनके समर्थक लगभग एक महीने से ग्रीन जोन ...अधिक पढ़ें

    बगदाद. इराक (Iraq) के प्रधानमंत्री मुस्तफा अल-कदीमी (Mustafa Al-Kadhimi) के आवास को सशस्त्र ड्रोन के साथ निशाना बनाकर उनकी हत्या के असफल प्रयास के बाद देश में हाई अलर्ट है. रविवार को बगदाद के आसपास सैनिकों को तैनात किया गया है. इस हमले ने पिछले महीने के संसदीय चुनाव परिणामों को स्वीकार करने से ईरान समर्थित मिलिशिया (Militia Group) के इनकार के कारण उत्पन्न तनाव को और बढ़ा दिया है. इराक के दो अधिकारियों ने नाम गोपनीय रखने की शर्त पर बताया कि बगदाद के भारी किलेबंदी वाले ‘ग्रीन जोन’ क्षेत्र में कम से कम दो सशस्त्र ड्रोनों के हमले में प्रधानमंत्री मुस्तफा के सात सुरक्षा गार्ड घायल हो गए.

    अल-कदीमी को इस मामले में कोई खास चोट नहीं आई (Iraq PM Survives Drone Attack). बाद में वह इराकी टेलीविजन पर एक सफेद कमीज पहने और शांत दिखाई दिए. उनके बाएं हाथ पर पट्टी बंधी दिख रही थी. एक सहयोगी ने हल्की खरोंच आने की पुष्टि की. उन्होंने कहा, ‘कायरतापूर्ण रॉकेट और ड्रोन हमले ना तो देश बनाते हैं और ना ही भविष्य का निर्माण करते हैं.’ बाद में रविवार को उन्होंने इराकी राष्ट्रपति बरहाम सालिह से मुलाकात की और सरकारी सुरक्षा बैठक की अध्यक्षता की.

    अफगानिस्‍तान: तालिबान से बचाने को अमेरिकी सैनिकों को सौंपा था बच्‍चा, अब तक है लापता

    बगदाद के निवासियों ने विदेशी दूतावासों और सरकारी कार्यालयों वाले ग्रीन जोन की दिशा से एक विस्फोट की आवाज सुनी, जिसके बाद भारी गोलाबारी हुई. तस्वीरों में अल-कदीमी का आवास क्षतिग्रस्त दिख रहा है, जिनमें टूटी हुई खिड़कियां और दरवाजे भी शामिल हैं. हमले की किसी ने जिम्मेदारी नहीं ली, लेकिन ईरान समर्थित मिलिशिया पर तुरंत शक जताया गया, जो सार्वजनिक रूप से अल-कदीमी पर निशाना साध रहे थे और धमकी दे रहे थे.

    इराकी पीएम के घर पर ड्रोन लदे विस्फोटक से हमला, मुस्‍तफा कदीमी पूरी तरह सुरक्षितः रिपोर्ट

    सुरक्षा बलों और ईरान समर्थक शिया मिलिशिया के बीच गतिरोध के बीच ये हमला हुआ है, जिनके समर्थक लगभग एक महीने से ग्रीन जोन के बाहर डेरा डाले हुए हैं. वे इराक के संसदीय चुनावों (Iraq Elections 2021) के परिणामों को खारिज करने के बाद एकत्र हुए. चुनावों में उन्होंने अपनी लगभग दो-तिहाई सीटें खो दी थीं. इस हमले की दुनियाभर के देशों ने आलोचना की है. अमेरिका ने इसे आतंकी हमला करार दिया है. (AP इनपुट के साथ)

    Tags: Iraq

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें