• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • इराक की गिरफ्त में आया IS का खूंखार आतंकी सामी जसीम, US ने रखा था 37 करोड़ रुपये का इनाम

इराक की गिरफ्त में आया IS का खूंखार आतंकी सामी जसीम, US ने रखा था 37 करोड़ रुपये का इनाम

सामी जसीम अबू बक्र अल-बगदादी (Abu Bakr al-Baghdadi) के अंडर में रहते हुए IS के एक डिप्टी लीडर के रूप में काम करता था. (AP)

सामी जसीम अबू बक्र अल-बगदादी (Abu Bakr al-Baghdadi) के अंडर में रहते हुए IS के एक डिप्टी लीडर के रूप में काम करता था. (AP)

स्टेट डिपार्टमेंट ने बताया, जसीम (Sami Jasim)2014 में दक्षिणी मोसुल में IS डिप्टी के रूप में काम करता था. आतंकी ने कथित तौर पर IS के वित्त मंत्री के रूप में कार्य किया. ये तेल, गैस, पुरावशेषों और खनिजों की अवैध बिक्री से मिलने वाले पैसे की निगरानी करता था.

  • Share this:

    बगदाद. इराक (Iraq) ने सोमवार को कहा कि उसने खूंखार आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (Islamic State) के एक टॉप नेता और लंबे समय तक अल-कायदा (Al-Qaida) के सीमा क्रॉस-बॉर्डर ऑपरेशन करने वाले एक सदस्य को हिरासत में लिया है. इराकी प्रधानमंत्री मुस्तफा अल-कादीमी (Mustafa al-Kadhimi) ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी. उन्होंने बताया कि गिरफ्तार व्यक्ति की पहचान सामी जसीम (Sami Jasim) के रूप में हुई है. ये आतंकी अबू बक्र अल-बगदादी (Abu Bakr al-Baghdadi) के अंडर में रहते हुए IS के एक डिप्टी लीडर के रूप में काम करता था.

    अल-कदीमी ने आतंकी को गिरफ्तार करने के लिए चलाए गए इराकी बलों के अभियान को सबसे कठिन सीमा पार खुफिया अभियानों में से एक के रूप में बताया है. जसीम के सिर पर यूएस स्टेट डिपार्टमेंट के रिवार्ड्स फॉर जस्टिस प्रोग्राम ने 5 मिलियन (37 करोड़ रुपये) का इनाम रखा हुआ था. इसने बताया कि ये आतंकी इस्लामिक स्टेट आतंकवादी अभियानों के लिए वित्त प्रबंधन में सहायक के रूप में भी काम करता था.

    इस्लामिक देशों से नाराज हुआ भारत, दिया करारा जवाब, कहा- हमारे मामलों में दखल न दें

    sami jamin 1

    जसीम (Sami Jasim) 2014 में दक्षिणी मोसुल में IS डिप्टी के रूप में काम करता था.

    स्टेट डिपार्टमेंट ने बताया, जसीम 2014 में दक्षिणी मोसुल में IS डिप्टी के रूप में काम करता था. आतंकी ने कथित तौर पर IS के वित्त मंत्री के रूप में कार्य किया. ये तेल, गैस, पुरावशेषों और खनिजों की अवैध बिक्री से मिलने वाले पैसे की निगरानी करता था.

    इराकी खुफिया अधिकारियों ने द एसोसिएटेड प्रेस को बताया कि जसीम को एक पहचाने गए विदेशी देश में हिरासत में लिया गया था और कुछ दिन पहले इराक में लाया गया था. उन्होंने नाम न छापने की शर्त पर बात की क्योंकि वे रिकॉर्ड पर इस ऑपरेशन को लेकर बातचीत नहीं कर सकते हैं. जसीम ने इराक के नेता अबू मुसाब अल-जरकावी के साथ अल-कायदा में काम किया. अबू मुसाब अल-जरकावी जॉर्डन का एक आतंकवादी था, जो 2006 में इराक में अमेरिकी हवाई हमले में मारा गया था.

    सीरिया के होम्स प्रांत के ऊपर से गुजरी मिसाइलें, एयरफोर्स ने किया जवाबी हमला

    2015 में सीरिया गया था आतंकी
    आतंकी सामी जसीम ने इराक में इस्लामिक स्टेट के तहत विभिन्न सुरक्षा पदों पर आतंकी गतिविधियों को अंजाम दिया. वहीं, अल-कायदा की एक शाखा इस्लामिक स्टेट ने जब 2014 में खिलाफत की घोषणा की तो जसीम 2015 में सीरिया चला गया. इसके बाद चरमपंथी समूह के नेता अबू बक्र अल-बगदादी का डिप्टी बन गया. 2019 में उत्तर-पश्चिमी सीरिया में अमेरिकी नेतृत्व वाली छापेमारी में अल बगदादी को ढेर कर दिया गया. अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने छापेमारी का आदेश दिया था. (एजेंसी इनपुट के साथ)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज