वैक्सीन की तीसरी डोज लगाने वाला पहला देश बना इजरायल, डेल्टा वेरिएंट की वजह से लिया फैसला

डेल्टा वेरिएंट (Delta Variant) के केस बढ़ने के बाद सरकार ने ये टीके का तीसरा डोज लगाने का फैसला लिया.

इजरायल (Israel) के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली (कम इम्यूनिटी) वाले लोगों को फाइजर-बायोएनटेक (Pfizer-BioNTech) वैक्सीन की तीसरी डोज लगाई जा सकती है. इसके अलावा दिल, फेफड़े, कैंसर और किडनी ट्रांसप्लांट कराने वाले लोगों को तीसरी डोज लग सकती है.

  • Share this:
    यरूशलम. इजरायल (Israel) कोरोना वायरस वैक्सीन (Covid Vaccine) की तीसरी डोज लगाने वाला पहला देश बन गया है. सोमवार से वयस्कों को फाइजर-बायोएनटेक (Pfizer-BioNTech) वैक्सीन की तीसरी डोज लगनी शुरू हुई है. देश में कोरोना के डेल्टा वेरिएंट (Delta Variant) के केस बढ़ने के बाद सरकार ने ये टीके का तीसरा डोज लगाने का फैसला लिया.

    इन लोगों को लग सकती है वैक्सीन की तीसरी डोज
    न्यूयॉर्क टाइम्स की खबर के मुताबिक, इजरायल के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली (कम इम्यूनिटी) वाले लोगों को तीसरी डोज लगाई जा सकती है. इसके अलावा दिल, फेफड़े, कैंसर और किडनी ट्रांसप्लांट कराने वाले लोगों को तीसरी डोज लग सकती है.

    COVID-19 in India: देश में 24 घंटे में आए 38792 नए कोरोना केस, अकेले केरल में मिले 14539 मरीज

    इजरायल में शेबा मेडिकल सेंटर के विशेषज्ञ प्रो. गालिया रहव ने कहा, ‘मौजूदा स्थिति में तीसरी डोज लगाने का फैसला उचित है. हम लगातार तीसरी डोज की उपयोगिता पर रिसर्च कर रहे थे.’ एक महीने पहले डेल्टा वेरिएंट के रोज 10 से कम मरीज मिलते थे, जो अब 452 हो गए हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार अभी देश के अस्पतालों में कोरोना के 81 मरीज भर्ती हैं. इनमें से 58% कोरोना का टीका लगा चुके हैं.

    57.4% आबादी का किया पूर्ण टीकाकरण
    हालांकि, अध्ययनों से पता चलता है कि डेल्टा वेरिएंट के खिलाफ कोरोना के टीके प्रभावी हैं. इजरायल में टीकाकरण अभियान की रफ्तार तेज रही है. यहां की 57.4% आबादी का पूर्ण टीकाकरण किया जा चुका है.

    क्या है गुलियन-बैरे सिंड्रोम? जॉनसन एंड जॉनसन वैक्सीन का इससे क्या संबंध है

    इस तीसरे कोविड -19 खुराक से कोरोना के बीटा वेरिएंट के खिलाफ बेहतर सुरक्षा की उम्मीद की जा रही है. बीटा वेरिएंट सबसे पहले दक्षिण अफ्रीका में पाया गया था. यह वेरिएंट अबतक का सबसे शक्तिशाली है. यह डेल्टा वेरिएंट से भी ज्यादा असरदार है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.