Israel-Gaza Clash: इजरायली हमलों का गज़ा पर असर, काटनी पड़ी शहर की बिजली

फोटो सौ. (Reuters)

फोटो सौ. (Reuters)

गज़ा पट्टी (Gaza Strip) के खिलाफ इजरायल (Israel) के हमलों के परिणामस्वरूप, फिलिस्तीन के सबसे बड़े शहर गाजा में बिजली की आपूर्ति काट दी गई थी.

  • Share this:

येरूशलम. इजरायल के हमास (Hamas) पर हमला लगातार जारी है. इस बीच एक सूत्र ने स्पुतनिक को बताया कि गज़ा पट्टी के खिलाफ इजरायल (Israel) के हमलों के परिणामस्वरूप, फिलिस्तीन के सबसे बड़े शहर गाजा में बिजली की आपूर्ति काट दी गई थी. सूत्र ने कहा, "इजरायल की वायु सेना ने एक साथ गाजा पट्टी, गज़ा के शहरों- खान यूनिस, उत्तरी क्षेत्र और राफा पर कई रॉकेट दागे. हमलों के बीच गाजा शहर में बिजली काट दी गई." गाजा में हमास के राजनीतिक ब्यूरो के मुख्य कार्यालय के नष्ट होने की खबरें आई हैं, लेकिन इस जानकारी की आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है. इजरायली हमले शनिवार से रविवार की रात गज़ा पट्टी से रॉकेट हमले फिर से शुरू होने के बाद हुए.

स्पुतनिक के सूत्रों के अनुसार, इजरायली बलों ने शनिवार को गाजा में एक ऊंची इमारत को निशाना बनाया. इससे पहले, इज़राइल रक्षा बलों (IDF) ने कहा कि उन्होंने एक 15-मंजिला इमारत पर हमला किया, जिसमें कई अंतरराष्ट्रीय मीडिया जैसे कि एसोसिएटेड प्रेस और अल-जज़ीरा, के दफ्तर थे. आईडीएफ ने कहा कि इमारत का इस्तेमाल हमास ने अन्य चीजों के अलावा अपने खुफिया मुख्यालय के रूप में किया था. इजराइली बलों ने कहा कि हमले से पहले लोगों को इमारत से बाहर निकलने के लिए पर्याप्त समय दिया गया था.

ये भी पढ़ें: Isreal-Palestine Conflict: लड़ाई के सातवें दिन इजराइल का बड़ा हमला, गज़ा में हमास चीफ के घर पर बरसाए बम

हमास के एक शीर्ष नेता के घर पर हमला
इजरायली सेना ने कहा कि उसने गज़ा में हमास के एक शीर्ष नेता के घर पर हमला किया है. गज़ा से इजरायल में हवाई हमले और रॉकेट दागे जाने के करीब एक हफ्ते बाद यह हमला किया गया. सेना के प्रवक्ता ब्रिगेडियर जनरल हिदाई जिल्बरमैन ने रविवार को इजरायली सेना के रेडियो को बताया कि सेना ने गज़ा में हमास के सबसे वरिष्ठ नेता येहियेह सिनवार के घर को निशाना बनाया है जो संभवत: वहां छिपा था. उसका मकान दक्षिण गाजा पट्टी में खान युनूस शहर में स्थित है. हमास और इस्लामिक जिहाद समूह ने सोमवार को यह संघर्ष शुरू होने के बाद से 20 लड़ाकों के मारे जाने की बात कही है जबकि इजरायल ने कहा कि असल संख्या इससे कहीं अधिक है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज