लाइव टीवी

जानवर को नुकसान पहुंचाए बिना पहली बार 'अंतरिक्ष' में बनाया गया ईको फ्रेंडली मांस

News18Hindi
Updated: October 10, 2019, 5:28 PM IST
जानवर को नुकसान पहुंचाए बिना पहली बार 'अंतरिक्ष' में बनाया गया ईको फ्रेंडली मांस
ऐसा पहली बार हुआ जब अंतरिक्ष जैसे वातावरण में मांस को तैयार किया गया है. Photo: Reuters

इजरायली कंपनी अलेफ फार्म्स (Aleph Farms) ने ऐलान किया कि उसने इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन (International Space Station) में जानवर के मांस के टुकड़े को बनाने में कामयाबी हासिल की है. सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी एक कदम आगे बढ़ाते हुए बिना जानवर को मारे इको फ्रेंडली मांस (slaughter-free eco-friendly meat) बनाने का दावा कर रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 10, 2019, 5:28 PM IST
  • Share this:
तेल अवीव (इजरायल): इजरायल (Israel) की एक कंपनी ने अंतरिक्ष में मांस को बनाने का दावा किया है. सोमवार को इजरायली कंपनी अलेफ फार्म्स (Aleph Farms) ने ऐलान किया कि उसने इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन (International Space Station) में जानवर के मांस के टुकड़े को बनाने में कामयाबी हासिल की है. सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी एक कदम आगे बढ़ाते हुए बिना जानवर को मारे इको फ्रेंडली मांस (slaughter-free eco-friendly meat) बनाने का दावा कर रही है.

अब सवाल है कि कंपनी ये मांस तैयार कैसे करेगी. इसके लिए शोधकर्ताओं ने किसी जानवर से उसकी एक कोशिका ली, उसे पोषक तत्व दिए. इसके बाद इस कोशिका को जानवर के शरीर जैसे वातावरण वाले हिस्से में रख दिया. इसके बाद ये कोशिकाएं मांसपेशियों और टिशू के रूप में तैयार होने लगती हैं. थोड़े दिनों में इससे मांस का एक पूरा टुकड़ा तैयार हो जाता है.

अलेफ फार्म्स (Aleph Farms) ने रूस की एक बायोप्रिंटिंग कंपनी के साथ मिलकर 26 सितंबर को इस प्रक्रिया को अंजाम दिया था. इसमें 3डी बायोप्रिंटिंग सोल्यूशन के जरिए 3डी बायोप्रिंटर में एक छोटे आकार का मांस का टुकड़ा तैयार किया गया. ये टुकड़ा अंतरिक्ष जैसे वातावरण में तैयार किया गया,

कंपनी के बयान के अनुसार, ये खोज कई मायनों में अहम है. इससे कई मुश्किल जगहों पर मांस का उत्पादन किया जा सकेगा. इसमें जमीन, पानी का किसी भी तरह से दुरुपयोग नहीं होगा. इस प्रक्रिया में प्रदूषण भी नहीं फैलेगा. इस तरह के मीट से उन अंतरिक्ष यात्रियों को भोजन मिल सकेगा, जो लंबे समय तक अंतरिक्ष में रहते हैं. इसके अलावा बढ़ती जनसंख्या के बाद सबसे बड़ी समस्या सभी को भोजन उपलब्ध कराने की है, इस खोज से भोजन की उपलब्धता भी आसान और सहज हो सकती है.

कंपनी के अनुसार, ये मीट अभी तुरंत नहीं मिलेगा. व्यवसायिक रूप से ये मीट कम से कम 3 या 4 साल में मिलने लगेगा. अलेफ फार्म्स (Aleph Farms) के सीईओ डीडियर तौबिया का कहना है कि खेती में जानवरों का इस्तेमाल कम होता जा रहा है. ऐसे में बिना जानवरों को मारे उनका मांस तैयार करने की विधि एक बेहतर विकल्प बन सकता है. कंपनी के अनुसार, ये मांस पर्यावरण के लिहाज से भी काफी सही है. इसमें प्रदूषण और कार्बन उत्पादन जीरो है.

आम तौर पर जानवरों के मांस के लिए काफी सारी जमीन और संसाधनों की जरूरत होती है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मध्य पूर्व से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 10, 2019, 5:24 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...