Home /News /world /

ये है दुनिया की पहली प्रेग्नेंट ममी, पेट में मिला बिना हड्डियों वाला भ्रूण

ये है दुनिया की पहली प्रेग्नेंट ममी, पेट में मिला बिना हड्डियों वाला भ्रूण

मौत के वक्त इस महिला की उम्र करीब 30 साल रही होगी. उसकी मौत फर्स्ट सेंचुरी BC में हुई होगी.  (फोटो- Science alert)

मौत के वक्त इस महिला की उम्र करीब 30 साल रही होगी. उसकी मौत फर्स्ट सेंचुरी BC में हुई होगी. (फोटो- Science alert)

माना जाता है कि यह दुनिया के सबसे पुराना भ्रूण (Egyptian fetus) है. इस भ्रूण को मिस्र से आज से करीब 200 साल पहले पोलैंड लेकर जाया गया था. दिसंबर 1826 में इस ममी को वारसॉ विश्वविद्यालय को दान में दिया गया था. तब माना जा रहा था कि यह ममी एक महिला (Mummified fetus) की है, लेकिन 1920 के दशक में इस पर मिस्र के पुजारी का नाम लिखा पाया गया.

अधिक पढ़ें ...

    काहिरा. मिस्र में एक ममी (Egyptian fetus)के पेट से मिले 28 महीने के भ्रूण के रहस्य को सुलझा लिया गया है. यह भ्रूण पिछले 2000 साल से ममी के पेट में सुरक्षित था. यह भ्रूण ठीक वैसा ही है जैसे अचार कई साल तक प्रिजर्व रहता है. इसे मिस्र की पहली गर्भवती ममी माना जा रहा है. मौत के वक्त इस महिला की उम्र करीब 30 साल रही होगी. उसकी मौत फर्स्ट सेंचुरी BC में हुई होगी. ममी (Mummified fetus)को रिसर्चर्स ने मिस्टीरियस लेडी नाम दिया है. भ्रूण का पता लगाने के लिए उसका सीटी स्कैन किया गया था. इसके बाद यह हैरान करने वाली जानकारी सामने आई.

    रोचक खोज ने छोड़ा अहम सवाल
    2021 में खोज के बाद से ही यह वैज्ञानिकों के लिए रहस्य बना हुआ था. अब बताया गया है कि महिला के शरीर के विघटित होने के बाद इस भ्रूण को अम्लीकरण के जरिए सुरक्षित रखा गया था. वारसॉ विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं की टीम ने पिछले साल अप्रैल में सीटी और एक्स-रे स्कैन के जरिए अजन्मे बच्चे के अवशेषों की उपस्थिति का खुलासा किया था.

    जिन सफेद बालों का उड़ाते थे मज़ाक, अब वही ज़ुल्फें छूने को तरसते हैं लोग !

    mummy

    वारसॉ विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं की टीम ने पिछले साल अप्रैल में सीटी और एक्स-रे स्कैन के जरिए अजन्मे बच्चे के अवशेषों की उपस्थिति का खुलासा किया था.

    विश्वविद्यालय की टीम 2015 से इस प्राचीन मिस्र की ममी पर काम कर रही है. पिछले साल स्कैन में जब ममी के पेट के अंदर एक छोटा सा पैर दिखा, तब उन्हें समझ आया कि उनके हाथ क्या लगा है.

    प्रसव के दौरान नहीं हुई थी महिला की मौत
    शोधकर्ताओं ने भ्रूण की स्थिति और बर्थ कैनाल का अध्ययन कर बताया कि इस रहस्यमय महिला की प्रसव के दौरान मौत नहीं हुई थी. मौत के समय इस महिला के पेट में मौजूद भ्रूण 26 से 30 हफ्ते का था. टीम ने आशा जताई है कि यह बहुत संभव है कि अन्य गर्भवती ममी भी दुनिया के अलग-अलग सग्रहालयों में रखी हों. ऐसे में हमें उन सबकी जांच करने की आवश्यक्ता है. इस रहस्यमय महिला और उसके अजन्मे बच्चे का अध्ययन पोलैंड के वारसॉ विश्वविद्यालय के पुरातत्वविद् और पैलियोपैथोलॉजिस्ट मार्जेना ओलारेक-स्ज़िल्के और उनके सहयोगियों ने किया है.

    सीरियाई शरणार्थी बच्चे को मिला बर्थडे सरप्राइज, बच्चे का रिएक्शन कर देगा भावुक, देखें Viral Video

    ममी का सीटी स्कैन किया गया तो पता चला कि मरते समय महिला के पेट में भ्रूण पल रहा था. सीटी स्कैन में बताया गया है कि यह भ्रूण सदियों से ममी के पेट के अंदर बॉग बॉडीज की तरह सुरक्षित रहा. बॉग बॉडीज इंसानी शवों को कहा जाता है, जब ये प्राकृतिक तौर पर ममी बनते हैं. यानी इनके ममी बनने में बहुत ज्यादा एसिड और बेहद कम ऑक्सीजन का रोल होता है. यह पीट बॉग कहलाता है.

    डॉ. वोजसीज एसमंड ने कहा कि हमारी रिसर्च में पता चला कि भ्रूण की हड्डियां बच नहीं पाईं. हो सकता है यह तब हुआ हो जब गर्भवती महिला को ममी बनाया जा रहा हो, या फिर उसके ममी बनने के कुछ दिन बाद हड्डियां गल गईं होंगी लेकिन आकार रह गया.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर