Home /News /world /

सऊदी अरब के किंग सलमान का फरमान, नाबालिगों को नहीं मिलेगी सज़ा ए मौत

सऊदी अरब के किंग सलमान का फरमान, नाबालिगों को नहीं मिलेगी सज़ा ए मौत

सऊदी अरब में नाबालिगों को फांसी देने पर किंग सलमान ने रोक लगा दी है.

सऊदी अरब में नाबालिगों को फांसी देने पर किंग सलमान ने रोक लगा दी है.

किंग सलमान (King Salman) के नए आदेश के तहत अब नाबालिगों को गंभीर अपराध के बावजूद सज़ा ए मौत नहीं दी जाएगी

    सऊदी अरब (Saudi Arab) में कट्टर इस्लामिक कानूनों में बदलाव करते हुए नाबालिगों (Juvenile) की मौत की सज़ा पर रोक लगा दी गई है. सऊदी अरब के किंग सलमान (King Salman) ने नाबालिगों को किसी भी गंभीर अपराध में दोषी पाए जाने के बावजूद सज़ा ए मौत न देने का फरमान सुनाया है. एक दिन पहले ही अपराधियों को कोड़े मारने की सज़ा पर रोक लगाई गई है.

    रविवार को सऊदी अरब के किंग सलमान ने कट्टर इस्लामिक कानून में बदलाव करते हुए ऐतिहासिक फरमान सुनाया. किंग सलमान के नए आदेश के तहत अब नाबालिगों को गंभीर अपराध के बावजूद सज़ा ए मौत नहीं दी जाएगी. किंग सलमान के हुक्मनामे के मुताबिक नाबालिग को किसी गंभीर अपराध के लिए मौत की सज़ा अब नहीं मिल सकेगी बल्कि उसे किशोर जेल में 10 साल की सज़ा का सामना करना पडेगा.

    सऊदी सरकार के मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष अब्वाद अल्वाद ने हुक्मनामे की पुष्टि करते हुए इसे राजशाही की आधुनिक दंड संहिता बताया. उन्होंने कहा कि यह सऊदी राजशाही के अधिक सुधारवादी कदम उठाने की प्रतिबद्धता को दर्शाता है. दरअसल सऊदी अरब के किंग सलमान कट्टरपंथी इस्लामिक कानून में बदलाव कर उदारवाद और प्रगतिवाद के साथ आधुनिक छवि बनाने की कोशिश में हैं. यही वजह है कि इससे पहले सऊदी अरब में अपराध करने पर कोड़े मारने की सजा को खत्म करने का फरमान सुनाया गया. इस आदेश के बाद सऊदी अरब में कोड़े मारने की सजा के बजाए कैद और जुर्माना जैसी सज़ा दी जाएगी. अदालत ने कोड़े मारने की सज़ा खत्म करते हुए कहा कि सऊदी अरब के किंग सलमान के आदेश पर इस सज़ा का खात्मा किया गया है. इस फैसले को किंग सलमान और उनके बेटे प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के मानवाधिकार सुधार कार्यक्रम का विस्तार बताया गया.

    राज्य समर्थित मानवाधिकार आयोग ने इसे सऊदी अरब के मानवाधिकार एजेंडे में महत्वपूर्ण कदम बताया. प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान मानवाधिकार के अलावा महिलाओं के अधिकारों को भी मजबूती देने की शुरुआत की है जिसके तहत महिलाएं गाड़ी चलाने और खेल-मनोरंजन के कार्यक्रम में शरीक हो सकती हैं. लेकिन उदारवाद के फरमानों से नई छवि गढ़ने के बीच सऊदी वाणिज्य दूतावास में पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या से समाज की आधुनिकिकरण के दावे को बड़ा झटका दिया है. इस घटना की दुनिया भर में कड़ी निंदा की गई थी जिसके केंद्र में शाही परिवार था.

    Tags: Saudi arabia

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर