लाइव टीवी

चीन ने हजारों लोगों की जान खतरे में डाला, कोरोना वायरस पर अब भी छिपा रहा जानकारी- अमेरिका

News18Hindi
Updated: March 25, 2020, 9:39 AM IST
चीन ने हजारों लोगों की जान खतरे में डाला, कोरोना वायरस पर अब भी छिपा रहा जानकारी- अमेरिका
अमेरिका ने चीन पर आरोप लगाया है कि वो कोरोना वायरस को लेकर पूरी दुनिया से जानकारी छिपा रहा है.

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो (Mike Pompeo) ने कहा कि बीजिंग ने कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण की जानकारी साझा करने में देरी की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 25, 2020, 9:39 AM IST
  • Share this:
वाशिंगटन: अमेरिका (America) ने एक बार फिर (China) चीन पर आरोप लगाया है कि वो कोरोना वायरस (Coronavirus) पर जानकारी पूरी दुनिया से छिपा रहा है. अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने मंगलवार को चीन के कोरोना वायरस से निपटने के तौर तरीकों की तीखी आलोचना की. उन्होंने कहा कि चीन की कम्यूनिस्ट पार्टी अभी भी कोरोना वायरस को लेकर जानकारी पूरी दुनिया से छिपा रही है. संक्रमण के मामलों को रोकने के लिए सही जानकारी की जरूरत है.

वाशिंगटन वाच रेडियो से बात करते हुए पॉम्पियो ने चीन पर लगाए अपने पुराने आरोप फिर दोहराए. उन्होंने कहा कि बीजिंग ने कोरोना वायरस के संक्रमण की जानकारी साझा करने में देरी की. इससे पूरी दुनिया के लोगों पर खतरा पैदा हो गया. उन्होंने हजारों लोगों की जान को खतरे में डाला.

चीन ने हजारों लोगों की जान को खतरे में डाला- अमेरिका
माइक पॉम्पियो ने कहा कि ‘मेरी दिलचस्पी इस बात में है कि चीन की कम्यूनिस्ट पार्टी अभी भी कोरोना वायरस को कवर अप करने में लगी है, वो इस बारे में गलत जानकारी दे रही है. चीन अभी भी दुनिया को वो जानकारी नहीं दे रहा है, जिसके जरिए संक्रमण को रोका जा सके और इसके दोबारा पैदा होने के खतरे को कम किया जा सके.’



माइक पॉम्पियो ने ईरान और रूस पर भी गलत जानकारी देने के कैंपेन में शामिल होने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि चीन के साथ रूस और ईरान भी गलत जानकारी देने के कैंपेन में शामिल हैं. उन्होंने कहा कि वेलोग कह रहे हैं कि हो सकता है अमेरिकी सेना से संक्रमण फैला हो या फिर वो इटली को इसके लिए जिम्मेदार मान रहे हैं. ये सब जिम्मेदारी से भागने का तरीका है.

भविष्य में अमेरिका चीन के रिश्तों में आ सकता है बदलाव
माइक पॉम्पियो ने चीन की खूब आलोचना की. लेकिन वो कोरोना वायरस को चीन का या वुहान का वायरस नहीं बताया. पिछले दिनों ऐसा कहने पर बीजिंग ने आपत्ति जताई थी.

माइक पॉम्पियो ने कहा कि दुनिया को पता चलन चाहिए कि आखिर हो क्या रहा है. उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर संकट का वक्त है. हम चाहते हैं कि इस वक्त हर देश पारदर्शी तरीके से काम करे. वो जानकारी साझा करे कि आखिर चल क्या रहा है. ताकि पूरी दुनिया के स्वास्थ्य और ग्लोबल हेल्थ केयर को संक्रमण से निपटने में आसानी हो.

पॉम्पियो लगातार चीन की कम्यूनिस्ट पार्टी और बीजिंग की आलोचना करते रहे हैं. उन्होंने कहा कि भविष्य में इस पर बड़ा फैसला लिया जा सकता है कि चीन और अमेरिका के रिश्तों की दिशा क्या हो.

ये भी पढ़ें:

न्यूयॉर्क पूरी दुनिया के लिए बना ‘वुहान’, WHO ने दी चेतावनी
काफिर और मूर्तिपूजा करने वाले देशों को खुदा का दिया जवाब है कोरोना वायरस- ISIS
कोरोना वायरस फैला तो शराब बनाने वाली ये मशहूर कंपनी बनाने लगी हैंड सैनेटाइजर
मॉस्को में 65 साल से ऊपर होंगे घरों में कैद, 67 साल के पुतिन नियम से बाहर
व्हाइट हाउस के कोरोना वायरस एक्सपर्ट गायब, ट्रंप से हुआ था मतभेद

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अमेरिका से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 25, 2020, 9:35 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर