मोदी सरकार ने हमें दुनिया से काटने की कोशिश की, नहीं मिली सफलता: पाकिस्तान

मोदी सरकार ने हमें दुनिया से काटने की कोशिश की, नहीं मिली सफलता: पाकिस्तान
पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान (File Photo)

प्रधानमंत्री इमरान खान के कार्यालय (Pakistan PMO) की ओर से यह बयान जारी कर कहा गया है कि भारत ने हमेशा पाकिस्तान को दुनिया से काटने के कोशिश की है, लेकिन उसे इसमें सफलता नहीं मिल पाई है.

  • Share this:
इस्लामाबाद. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (PM Imran Khan) के कार्यालय की ओर से यह बयान जारी कर कहा गया कि उसकी विदेश नीति (Foriegn Policy) बहुत सफल रही है. इसमें यह भी कहा गया है कि भारत ने हमेशा पाकिस्तान को दुनिया से काटने के कोशिश की है, लेकिन उसे इसमें सफलता नहीं मिल पाई है.प्रधानमंत्री कार्यालय ने कहा है कि प्रधानमंत्री इमरान खान वर्तमान समय के बहुत ही लोकप्रिय नेता (World Popular Leader) हैं.

अमेरिका और यूएई से रिश्ते मजबूत किए

पीएमओ ने कहा कि इमरान सरकार ने अमेरिका और यूएई से रिश्ते मजबूत किए हैं. प्रधानमंत्री इमरान ने विदेश नीति पर काफी अच्छा काम किया है और इसी वजह से वे इस वक्त दुनिया में पॉपुलर नेता हैं. पीएमओ ने कहा कि भारत ने कई मोर्चों पर पाकिस्तान को दुनिया में अलग-थलग करने की कोशिश की है. पीएमओ ने साफ रूप से यह कहा है कि भारत की मोदी सरकार इसमें कामयाब नहीं हो पाई.



आज पाकिस्तान मजबूत स्थिति में है: पीएमओ
इमरान ने दुनिया के कई नेताओं से बहुत अच्छे रिश्ते कायम किए. पाकिस्तान ने अपनी पीठ खुद थपथपा कर कहा कि आज पाकिस्तान मजबूत स्थिति में है. इमरान सरकार ने अमेरिका से भी अपने रिश्ते बेहतर बनाए हैं. यूएई से भी संबंध बहुत सुधरे हैं. यह दिलचस्प है कि यूएई ने पिछले दिनों 700 से ज्यादा पाकिस्तानी नागरिकों को वापस भेज दिया.

कश्मीर के मुद्दे पर यूएन में नहीं मिला किसी का साथ

इमरान खान ने कुछ महीने पहले यूएन में कश्मीर का मुद्दा उठाने के कोशिश की थी। इस दौरान सिर्फ मलेशिया के तत्कालीन प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद और तुर्की रिसेप तैयप एर्डोगन ने उनका साथ दिया था. देश लौटने के कुछ दिन बाद महातिर की कुर्सी ही चली गई. अब नए प्रधानमंत्री मोइनुद्दीन ने भारत से रिश्ते सुधारने पर फोकस किया है.

ये भी पढ़ें: अमेरिकी नौसेना के जहाज में विस्फोट और भयंकर आग लगने से 21 लोग घायल

ब्रिटेन में न्यू इमिग्रेशन लॉ होगा लागू, क्रिमिनल ब्रैकग्राउंड वाले को किया जाएगा बैन

इससे इतर यूएई प्रशासन ने यह स्पष्ट कर दिया था कि अगर पाकिस्तानी नागरिक फर्जी दस्तावेजों का इस्तेमाल करेंगे तो उन्हें यूएई में सजा भी दी जा सकती है। वहीं, आतंकवाद के मुद्दे पर अमेरिका पाकिस्तान को लगातार फटकार लगाता रहा है।
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज