लाइव टीवी

मॉस्को में 65 साल से ऊपर होंगे घरों में कैद, 67 साल के पुतिन नियम से बाहर

News18Hindi
Updated: March 24, 2020, 1:41 PM IST
मॉस्को में 65 साल से ऊपर होंगे घरों में कैद, 67 साल के पुतिन नियम से बाहर
कोरोना वायरस से निपटने के लिए रूस ने सख्ती बढ़ा दी है लेकिन पुतिन को नियमों से बाहर रखा गया है

कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से मॉस्को (Moscow) के मेयर ने बयान जारी कर सभी 65 साल के ऊपर के लोगों को घरों में रहने को कहा है. लेकिन 67 साल के पुतिन (Valdimir Putin) इस नियम से बाहर हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 24, 2020, 1:41 PM IST
  • Share this:
मॉस्को: मॉस्को (Moscow) ने अपने सभी 65 साल के ऊपर के लोगों को घर में रहने का आदेश दिया है. मॉस्को के मेयर ने कहा है कि कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण से बचने के लिए सभी 65 साल के ऊपर के बुजुर्ग अपने घरों में रहें. मेयर ने सख्ती लागू करते हुए कहा है कि या तो 65 साल के ऊपर के लोग घरों में रहें या फिर अपने देश चले जाएं. लेकिन इस नियम से 67 साल के रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) को बाहर रखा गया है.

डेली मेल की एक रिपोर्ट के मुताबिक मॉस्को के मेयर सर्गेई सोबयानिन ने अपने वेबसाइट पर जानकारी दी है कि ये नियम रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पर लागू नहीं होगा, क्योंकि वो जहां रहते हैं, वहीं से काम करेंगे. मेयर सोबयानिन ने कहा है कि हमें लोगों को घर में रहने को सख्ती से लागू करना होगा. ये नियम 26 मई से लेकर 14 अप्रैल तक कड़ाई से लागू होगा. ऐसा लोगों को वायरस के संक्रमण से बचाने के लिए किया जा रहा है. रूस में कोरोना वायरस के संक्रमण के 438 मामले सामने आ चुके हैं. इनमें से ज्यादातर मामले मॉस्कों में पाए गए हैं.

रूस में कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने को लेकर सख्ती
मेयर के ऊपर पूरे रूस को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने की जिम्मेदारी है. मेयर सोबयानिन ने कहा है कि हो सकता है कि आपको ये पसंद न हो. आप इसका विरोध करें. लेकिन मुझपर भरोसा कीजिए. आपको वायरस के संक्रमण से बचाने के लिए इसे सख्ती से लागू करना जरूरी है.



रूस में कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए कड़े कदम उठाए गए हैं. सभी तरह के सांस्कृतिक और खेलों के आयोजन कैंसिल कर दिए गए हैं. स्कूलों की बजाय डिस्टेंस लर्निंग से स्टूडेंट्स को पढ़ाया जा रहा है. फिटनेस क्लब बंद करवा दिए गए हैं. सभी गैर नागरिकों के लिए सीमा पूरी तरह से सील कर दी गई है.

हालांकि एशिया और यूरोप के देशों की तरह रूस में सरकार ने तालाबंदी नहीं की है. मेयर सोबायनिन ने कहा है कि आप दुकानों और फॉर्मेसी में जाकर जरूरत की चीजें खरीद सकते हैं. ऐसे नंबर भी जारी किए गए हैं, जिनसे मदद की गुहार की जा सकती है.

रूस में अभी तक संक्रमण से सिर्फ 1 मौत
मेयर सोबयानिन ने कहा है कि सबसे अच्छी बात है कि आप इन दिनों डाचा जा सकते हैं क्योंकि मौसम जल्द ही गर्म होने वाला है. रूस के बड़े शहरों के लोग गर्मियों के दिनों में छुट्टियां मनाने छोटी सी जमीन पर बने छोटे बगीचे वाले कॉटेज में चले जाते हैं. रूस में इसे डाचा कहते हैं.

इस दौरान रूस अपने बुजुर्गों की पेंशन की सुविधा जारी रखेगा. मेयर ने युवाओं को भी सलाह दी है कि वो ज्यादा लोगों के संपर्क में जाने से बचें. खासकर बुजुर्गों के साथ संपर्क न बनाएं. ऐसा करने से वो संक्रमित हो सकते हैं. रूस में कोरोना वायरस के संक्रमण से एक व्यक्ति की मौत हुई है. लेकिन इसे आधिकारिक तौर पर संक्रमण की वजह से हुई मौत नहीं बताया जा रहा है.

ये भी पढ़ें:

व्हाइट हाउस के कोरोना वायरस एक्सपर्ट गायब, ट्रंप से हुआ था मतभेद
कोरोना वायरस से बचने के लिए ट्रंप की ‘सलाह’ मानकर मर गया एक शख्स!
कोरोना वायरस: साउथ कोरिया से सीख सकते हैं, संक्रमण पर कैसे पाया जाता है काबू
कोरोना वायरस एक्सपर्ट से बुखार का नाम सुनते ही ट्रंप के छूटे पसीने!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 24, 2020, 1:39 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर