लाइव टीवी
Elec-widget

मां ने की अपने ही दो बच्चों की हत्या, तीसरे को भी मारने की कोशिश, लेकिन...

News18Hindi
Updated: November 12, 2019, 11:38 PM IST
मां ने की अपने ही दो बच्चों की हत्या, तीसरे को भी मारने की कोशिश, लेकिन...
सराह ने अपने बच्चों को दवाओं का ओवर डोज देने के बाद अपने दोनों बच्चों की हत्या की.

पुलिस ने इसके लिए इस महिला सराह बारास (Sarah Barrass) और उसके एक रिश्तेदार ब्रेंडन मशीन (Brandon Machin) को गिरफ्तार कर लिया है. उसने इस महिला की बच्चों की हत्या में मदद की थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 12, 2019, 11:38 PM IST
  • Share this:
लंदन. कहते हैं बच्चों के लिए मां मौत से भी लड़ जाती है, लेकिन इंग्लैंड (England) में एक ऐसा मामला सामने आया, जिसे सुनकर ये धारणा टूटकर चकनाचूर हो जाएगी. इंग्लैंड में एक मां ने अपने दो मासूम बच्चों की बिन बैग से दबाकर हत्या कर दी. इतना ही नहीं उसने अपने बाकी के बच्चों की हत्या जहर देकर करने की कोशिश की. पुलिस ने इसके लिए इस महिला सराह बारास (Sarah Barrass) और उसके एक रिश्तेदार ब्रेंडन मशीन (Brandon Machin) को गिरफ्तार कर लिया है. उसने इस महिला की बच्चों की हत्या में मदद की थी.

पुलिस से पूछताछ में ब्रेंडन ने बताया कि उसने सराह के कहने पर इस हत्याकांड में मदद की. पुलिस से पूछताछ में सराह ने बताया कि पहले मैं अपने बच्चों को मारना चाहती थी, फिर बाद में खुद मैं अपने आपको मारना चाहती थी. उसने कहा, बच्चों की देखभाल की बजाए मैं उन्हें मार डाला. मैंने उन्हें जन्म दिया और मैंने ही उनका जीवन छीना. पुलिस के अनुसार, जब वह बच्चों के कमरे में पहुंची तो वहां पर सराह के दोनों बेटे ब्लेक और ट्राइस्टेन गंभीर रूप से घायल हालत में बिस्तर पर पड़े थे.

सराह ने अपने छह बच्चों को मारने की योजना ब्रेंडन के साथ मिलकर तैयार की थी. दो बच्चों को मारने के बाद सराह ने जब अपने तीसरे बच्चे को नहाने के दौरान मारने की कोशिश की, लेकिन वह किसी तरह से बच गया. इसी दौरान सराह ने पुलिस को फोन किया और उसने ब्रेंडन पर इसका आरोप लगाया. लेकिन जब पुलिस ने दबाव डालकर पूछताछ की, तो ये सारा मामला खुल गया.

सराह ने इस हत्याकांड को इसलिए अंजाम दिया, क्योंकि वह अपने छह बच्चों की देखभाल नहीं कर पा रही थी. और वह उन्हें केयर सेंटर भेजना नहीं चाहती थी. उसके सभी बच्चों की उम्र 14 साल से कम है. जिन बच्चों की उसने हत्या की, उसमें से ब्लेक की उम्र 14 और ट्राइस्टेन की उम्र 13 साल थी. अगले दिन जब उन दोनों की शवयात्रा निकाली गई तो सैकड़ों लोग उसमें शामिल हुए. 300 तो सिर्फ मोटरबाइक उन दोनों बच्चों की अंतिम यात्रा में शामिल हुईं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 12, 2019, 11:06 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...