होम /न्यूज /दुनिया /इराक के बगदाद में अमेरिकी दूतावास के पास फिर रॉकेट से हमला

इराक के बगदाद में अमेरिकी दूतावास के पास फिर रॉकेट से हमला

अक्टूबर 2019 के बाद से यह 19 वां हमला था (तस्वीर - Reuters)

अक्टूबर 2019 के बाद से यह 19 वां हमला था (तस्वीर - Reuters)

अक्टूबर 2019 के बाद से दूतावास या इराक में तैनात करीब 5200 अमेरिकी सैनिकों को निशाना बनाकर किया गया यह 19वां हमला था.

    बगदाद. इराक (Iraq) की राजधानी बगदाद (Baghdad) में अमेरिकी दूतावास (US Embassy) के करीब रॉकेट से हमले की खबर है. इस हमले के तुरंत बाद राजनयिक परिसर के भीतर साइरन बजने लगे.

    समाचार एजेंसी AFP के अनुसार, अमेरिकी दूतावास के सूत्र ने बताया कि इस बारे में फिलहाल विस्तृत जानकारी नहीं मिल सकी है कि वास्तव में क्या हुआ और कितने रॉकेट्स से हमला किया गया.  समाचार लिखे जाने तक किसी के हताहत या घायल होने की सूचना नहीं थी.

    एएफपी के संवाददाताओं ने उच्च सुरक्षा वाले अमेरिकी दूतावास के ग्रीन जोन के समीप मंडरा रहे विमान से धमाकों की कई आवाज सुनी. यह अमेरिकी दूतावास या इराक में स्थानीय बलों के साथ तैनात लगभग 5,200 अमेरिकी सैनिकों को निशाना बनाकर किया गया अक्टूबर, 2019 से अब तक का 19वां हमला है.

    अमेरिकी सेना को खदेड़ने के लिए ‘उल्टी गिनती’!
    इन हमलों की कभी किसी ने जिम्मेदारी नहीं ली. लेकिन अमेरिका ने ईरान समर्थित समूह हशद अल-शाबी पर संदेह जताया है. दिसंबर में उत्तरी इराक में एक रॉकेट हमले में अमेरिका का एक ठेकेदार मारा गया था.

    अमेरिका ने इसके कुछ दिनों बाद पश्चिमी इराक में कट्टरपंथी हशद गुट के खिलाफ हमले किए. बगदाद में अमेरिका के एक ड्रोन हमले में ईरान के शीर्ष जनरल कासिम सुलेमानी और उनका दाहिना हाथ माने जाने वाले हशद के उपप्रमुख अबू महदी अल-मुहांदिस मारे गए थे. हशद गुट ने इन मौतों का बदला लेने की बात कही थी.

    रविवार के हमले से कुछ घंटों पहले हशद के ईरान समर्थित एक गुट हरकत अल-नुजबा ने देश से अमेरिकी सेना को खदेड़ने के लिए ‘उल्टी गिनती’ शुरू की थी. (एजेंसी इनपुट के साथ)

    यह भी पढ़ें: अमेरिका ने श्रीलंका के सेना प्रमुख की एंट्री पर लगाया बैन, जानिए क्या है वजह

    Tags: America, World, World news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें