कोरोना चिंता के बीच शुरू हुआ रमजान का महीना, सोशल डिस्टेंसिंग के साथ इबादत जारी

इंडोनेशिया में रमजान की प्रार्थना के लिए कड़े नियमों के साथ मस्जिद खोलने की इजाजत दी गई है. (फोटो: AP)

इंडोनेशिया में रमजान की प्रार्थना के लिए कड़े नियमों के साथ मस्जिद खोलने की इजाजत दी गई है. (फोटो: AP)

Ramdan amid coronavirus: दुनिया के सबसे ज्यादा मुस्लिम आबादी वाले देश इंडोनेशिया (Indonesia) में कोविड के मामले बढ़ रहे हैं. लेकिन वैक्सीन कार्यक्रम जारी है और सरकार पाबंदियों में डील दे रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 13, 2021, 3:59 PM IST
  • Share this:
जकार्ता. रमजान के महीने की शुरुआत हो चुकी है. ऐसे में मुस्लिम समुदाय (Muslim Community) ने सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) के साथ मस्जिद पहुंचकर इबादत करना शुरू कर दिया है. खास बात है कि बीते साल इस दौरान मस्जिदें खाली थीं, क्योंकि दुनिया कोरोना वायरस की पहली लहर का सामना कर रही थी. कई जगहों पर समाज के लोगों को कोविड नियमों का पालन करते हुए मस्जिद में जाकर प्रार्थना करने की अनुमति मिली गई है.

दुनिया के सबसे ज्यादा मुस्लिम आबादी वाले देश इंडोनेशिया में कोविड के मामले बढ़ रहे हैं. लेकिन वैक्सीन कार्यक्रम जारी है और सरकार पाबंदियों में डील दे रही है. यहां रमजान की प्रार्थना के लिए कड़े नियमों के साथ मस्जिद खोलने की इजाजत दी गई है. वहीं, मुस्लिम आबादी वाले मलेशिया में भी पाबंदियों में ढील दी जा रही है. इंडोनेशिया में बीते साल अथॉरिटीज ने मस्जिदों को बंद कर दिया था और मौलवियों को फतवा जारी किया गया था.

इसमें मुसलमान समुदाय के लोगों से घर में रहकर प्रार्थना करने की अपील की गई थी. इसके अलावा देश की राजधानी जकार्ता में रविवार को 317 मस्जिदों को डिसइंफेक्ट किया गया. इस बात की जानकारी गवर्नर अनीस बासवेदान ने दी. इसके अलावा सोशल डिस्टेंसिंग के निशान भी लगाए गए हैं और साथ ही साबुन और सैनिटाइजर की व्यवस्था की गई है. सरकार ने लोगों को 'इफ्तार' के लिए रेस्त्रां, मॉल और कैफे जाने की इजाजत दे दी है. हालांकि, इन जगहों पर कड़े नियमों के साथ 50 फीसदी क्षमता की अनुमति है.


खास बात है कि इंडोनेशिया में रमजान के दौरान वैक्सीन कार्यक्रम भी जारी है. यहां अधिकारी इस बात चिंता को कम करने की कोशिश कर रहे हैं कि मुसलमानों को सूर्योदय और सूर्यास्त के बीच शरीर में कुछ भी प्रवेश करने देने से बचना चाहिए. भारत में भी कोरोना वायरस तेजी से फैल रहा है. ऐसे में मुस्लिम स्कॉलर्स अपने समुदाय से नियमों का सख्ती से पालन करने की अपील कर रहे हैं. देश के कई शहरों में कोरोना वायरस तेजी से फैल रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज