शख्स का दावा! मेरी पत्नी ने 10 साल तक किया मेरा रेप, 5 घंटे तक बनाती थी संबंध

शख्स का दावा! मेरी पत्नी ने 10 साल तक किया मेरा रेप, 5 घंटे तक बनाती थी संबंध
सामान्य स्थिति में यदि 30 मिनट सेक्स करने के बाद भी चरमोत्कर्ष की प्राप्ति नहीं हो पाती है तो इसे डिलेड इजेकुलेशन माना जा सकता है.

यूक्रेन (Ukraine) में एक शख्स ने दावा किया है कि उसकी पत्नी ही बीते 10 साल से उसका रेप (Rape) करती रही है. इस शख्स के मुताबिक उसे न सिर्फ जबरदस्ती घंटों तक दर्दनाक सेक्स (Sexual violence) के लिए मजबूर किया जाता रहा है

  • Share this:
कीव. आमतौर पर घरेलू हिंसा के मामले औरतों के खिलाफ ही पेश आते हैं और पुरुषों के खिलाफ होने वाली घरेलू हिंसा दक्षिण एशियाई समाज में फिलहाल कोई मुद्दा नहीं बन पायी है. उधर यूक्रेन (Ukraine) में एक शख्स ने दावा किया है कि उसकी पत्नी ही बीते 10 साल से उसका रेप (Rape) करती रही है. इस शख्स के मुताबिक उसे न सिर्फ जबरदस्ती घंटों तक दर्दनाक सेक्स (Sexual violence) के लिए मजबूर किया जाता रहा है बल्कि मानसिक तौर पर भी उसे काफी प्रताड़ित किया गया है.

BBC यूक्रेन में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक यूक्रेन के एक युवक ने नाम न बताने की शर्त पर अपनी कहानी साझा की है. इस युवक के मुताबिक उसे हाल ही में एहसास हुआ कि बीते 10 सालों से उसकी पत्नी ही उसका बलात्कार कर रही थी. लड़के के मुताबिक उसकी पत्नी ने ही उसे प्रपोज किया और बाद में उनकी शादी हो गयी. इस शख्स ने बताया- मैंने सेक्स करने की पहली कोशिश सबसे पहले इरा (पत्नी) के ही साथ की थी. हालांकि हमारा सेक्स सामान्य नहीं था. ये दर्दनाक और आक्रामक था. हमारा पहला सेक्स लगभग पांच घंटे तक हुआ और उसके बाद मुझे बुरी तरह दर्द होता रहा. हमारा सेक्स औसतन एक-दो घंटे तक होता था.

मना किया लेकिन नहीं रुकी पत्नी
इस शख्स ने बताया कि मैं इस तरह के सेक्स से तंग आ चुका था लेकिन मेरे मना करने के बावजूद भी वो नहीं रुकी. इसी दिन मुझे एहसास हुआ कि मर्दों के साथ भी रेप हो सकता है. शख्स के मुताबिक ऑफिस से लौटकर अगर मैं आराम भी करना चाहता था तो वो मुझे सेक्स के लिए मजबूर करती थी. मेरे इनकार करने पर वो मुझे मारने लगती थी और फिर मैं कुछ नहीं कर पाता था. वो मुझे अपने नाख़ूनों से चोट पहुंचाती थी, मुझे मुक्का मारती थी. उन्होंने बताया कि सबसे बुरे वीकेंड होते थे क्योंकि शनिवार रात से लेकर रविवार सुबह तक टॉर्चर जारी रहता था. जब भी मैं ‘कोई ग़लती’ करता, वो मुझ पर चीख़ती और मेरी पिटाई करती.
ऐसे मिली मदद


इस शख्स के मुताबिक एक थेरेपिस्ट के जरिए मुझे मदद मिली जिसने मुझे एहसास दिलाया कि मेरे साथ गलत हुआ है और ये और नहीं होना चाहिए. थेरेपी सेशन में मुझे और इरा, दोनों को बात करनी होती थी और जब मैं बोल रहा होता, उसे मुझे टोकने की मनाही थी. इस सेशन में मैंने पहली बार अपने उत्पीड़न की बात कही. इरा मेरी बात सुनकर बहुत ग़ुस्सा हुई, वो मुझ पर चिल्लाई और उसने कहा कि मेरी बातें झूठ हैं. इसके बाद उसने तलाक के लिए कहा और मैंने हां कर दिया, एक महीने बाद मुझे तलाक़ के काग़ज़ात मिल गए. वो मेरी ज़िंदगी का सबसे ज़्यादा ख़ुशी वाला दिन था. इस शख्स ने बताया कि मैं यूक्रेन में पहले जिस थेरेपिस्ट से मिला उसने मेरा मज़ाक़ उड़ाया था. उसने कहा था, 'ऐसा नहीं होता. तुम पुरुष हो, वो महिला है.' मैंने छह थेरेपिस्ट बदले तब जाकर मुझे सही मदद मिली.

 

यह भी पढ़ें:

जानिए, ट्विटर पर कैसे हुई एक नई प्रजाति की खोज, ट्विटर पर ही रखा गया उसका नाम

मंगल पर जल्दी ही उगाई जा सकेगी सलाद, इस शोध से वैज्ञानिकों को बंधी उम्मीद

अंतरिक्ष को जानने के लिए वैज्ञानिक क्यों उपयोग करते हैं अलग-अलग टेलीस्कोप

घूम रही है पृथ्वी की Inner Core, जानिए शोधकर्ताओं ने इसे कैसे जाना
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज