होम /न्यूज /दुनिया /म्यांमार में हुए हवाई हमले में 7 बच्चों समेत 13 लोगों की मौत: प्रत्यक्षदर्शी

म्यांमार में हुए हवाई हमले में 7 बच्चों समेत 13 लोगों की मौत: प्रत्यक्षदर्शी

म्यांमा में सरकारी हेलीकॉप्टरों द्वारा एक हमले में 7 बच्चे सहित 13 लोगों की मौत हो गई. (फोटो-Karenni Nationalities Defence Force via AP)

म्यांमा में सरकारी हेलीकॉप्टरों द्वारा एक हमले में 7 बच्चे सहित 13 लोगों की मौत हो गई. (फोटो-Karenni Nationalities Defence Force via AP)

Myanmar Air Attack: स्कूल की एक प्रशासक ने कहा कि गांव के उत्तर में मंडरा रहे चार में से दो एमआई -35 हेलीकॉप्टर ने मशीन ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

सरकारी हेलीकॉप्टरों ने एक स्कूल और एक गांव पर हमला किया.
इस हमले में 7 बच्चे सहित 13 लोगों की मौत हो गई.

बैंकॉक. म्यांमा में सरकारी हेलीकॉप्टरों ने एक स्कूल और एक गांव पर हमला किया है, जिसमें सात बच्चों समेत 13 लोगों की मौत हो गई है. स्कूल प्रशासक और एक सहायता कर्मी ने सोमवार को यह जानकारी दी. देश के दूसरे सबसे बड़े शहर मंडाले से लगभग 110 किमी दूर तबायिन के लेट यॉट कोन गांव में शुक्रवार को यह हमला हुआ. स्कूल की एक प्रशासक ने कहा कि गांव के उत्तर में मंडरा रहे चार में से दो एमआई -35 हेलीकॉप्टर ने मशीनगनों और भारी हथियारों से स्कूल पर हमला करना शुरू कर दिया तो वह छात्रों को भूतल पर स्थित कक्षाओं में सुरक्षित स्थानों पर ले जाने की कोशिश करने लगी. उन्होंने कहा कि स्कूल में छह छात्रों की मौत हो गई और पास के एक गांव में 13 वर्षीय एक लड़के की भी गोली मारकर हत्या कर दी गई.

लोकतंत्र समर्थक विद्रोहियों और उनके सहयोगियों पर सैन्य सरकार के हमलों में अक्सर नागरिक हताहत होते हैं. हालांकि, पिछले शुक्रवार को सागाइंग क्षेत्र के ताबायिन टाउनशिप में हवाई हमले में मारे गए बच्चों की संख्या पिछले साल फरवरी में सेना द्वारा सत्ता पर कब्जा करने के बाद से सबसे अधिक दिखाई दी. सेना के अधिग्रहण ने देश भर में बड़े पैमाने पर अहिंसक विरोध शुरू किया. सेना और पुलिस ने घातक बल के साथ जवाब दिया. इस महीने यूनिसेफ द्वारा जारी एक रिपोर्ट के अनुसार, सागाइंग में लड़ाई विशेष रूप से भयंकर रही है, जहां सेना ने कई आक्रामक अभियान शुरू किए हैं. कुछ मामलों में गांवों को जला दिया गया है, जिसमें आधे मिलियन से अधिक लोग विस्थापित हुए हैं.

शुक्रवार का हमला देश के दूसरे सबसे बड़े शहर मांडले से लगभग 110 किलोमीटर (70 मील) उत्तर-पश्चिम में तबायिन के लेट यॉट कोन गांव में हुआ, जिसे डेपायिन के नाम से भी जाना जाता है. स्कूल प्रशासक मार मार ने कहा कि वह छात्रों को ग्राउंड फ्लोर की कक्षाओं में सुरक्षित स्थानों पर ले जाने की कोशिश कर रही थी, जब गांव के उत्तर में मंडरा रहे चार में से दो एमआई -35 हेलीकॉप्टर ने स्कूल में मशीनगनों और भारी हथियारों से हमला करना शुरू कर दिया. उन्होंने कहा कि उन्हें किसी हमले की उम्मीद नहीं थी. क्योंकि विमान बिना किसी घटना के गांव के ऊपर से गुजर चुका था.

Tags: Myanmar

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें