म्यांमार की जुंटा सरकार ने पार की हद! उधर सेना ने मारे 114 नागरिक इधर डिनर पार्टी की तैयारी कर रहे थे सैन्य शासक

 मिन आंग हलैंग (फाइल फोटो)

मिन आंग हलैंग (फाइल फोटो)

म्यांमार (Myanmar) में तानाशाही क्रूरता के चरम पर है. एक ओर जहां वहां की सेना सड़कों पर तानाशाही का विरोध कर रहे लोगों को खुलेआम मार रही है तो वहीं दूसरी ओर सेना का मुखिया डिनर पार्टी कर रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 30, 2021, 12:39 PM IST
  • Share this:
यांगून. म्यांमार (Myanmar) में सैनिक तानाशाही क्रूरता के चरम पर है. एक ओर जहां वहां की सेना सड़कों पर तानाशाही का विरोध कर रहे लोगों को खुलेआम मार रही है तो वहीं दूसरी ओर सेना का मुखिया मिन आंग हलैंग शानदार डिनर पार्टी कर रहा है. म्यांमार की सेना के क्रूरता के फलस्वरूप हजारों लोग थाइलैंड की सीमाओं की ओर भाग रहे हैं ताकि वह अपनी जान बचा सकें. म्यामांर सेना की इस कार्रवाई की व्यापक स्तर पर निंदा हो रही है.

दूसरी ओर सोशल मीडिया पर पोस्ट की गई तस्वीरों में हैलंग बो टाई में सजे हुए और सफेद, मेडल वाली जैकेट पहने डिनर में मौजूद लोगों का अभिवादन करते हुए लाल कालीन पर चलते हुए दिख रहे हैं. एक अन्य तस्वीर में वह सशस्त्र सेना दिवस पर भोजन करने के लिए बैठे हुए देखे जा सकते हैं. स्वतंत्र म्यांमार समाचार समाचार संस्था द्वारा एक रिपोर्ट के अनुसार, शनिवार को पुलिस और सेना द्वारा देश भर के 44 कस्बों और शहरों में बच्चों सहित कम से कम 114 लोगों की हत्या  की गई.

म्यांमार के हवाई हमले के बाद थाईलैंड की ओर भाग रहे हजारों लोग
म्यांमार की सेना द्वारा हवाई हमले के बाद सोमवार को करेन गांव के हजारों लोग भागकर थाईलैंड से लगी देश की सीमा पर जा रहे हैं और वहां मौजूद थाई अधिकारी इसके लिए खुद को तैयार कर रहे हैं. मानवीय सहायता के क्षेत्र में काम करने वाली संस्था ‘फ्री बर्मा रेंजर्स’ के मुताबिक म्यांमार के विमानों ने रविवार को रात भर हवाई हमले किए. एजेंसी के एक सदस्य ने बताया कि हमले में एक बच्चा घायल हुआ है लेकिन लेकिन किसी की मौत नहीं हुई.
थाई प्रधानमंत्री प्रयुत चान ओछा ने सोमवार को कहा कि वह देश की पश्चिमी सीमा पर समस्याओं से परिचित हैं. उन्होंने कहा कि उनकी सरकार भारी मात्रा में लोगों के आने की तैयारी कर रही है. प्रयुत ने कहा, 'हम अपने क्षेत्र में सामूहिक प्रवास नहीं चाहते लेकिन हम मानवाधिकारों के लिए चिंतित हैं.'





अब तक मारे गए 510 लोग- AAPP
एडवोकेसी ग्रुप फॉर पॉलिटिकल प्रिजनर्स (AAPP) ने कहा कि सोमवार के दौरान, देश भर में दरारें और गोलीबारी जारी रही और कम से कम 14 लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी गई. AAPP के मुताबिक तख्तापलट के बाद से कम से कम 510 लोग मारे गए हैं.

AAPP ने बताया, 'क्युक म्यांग, तमवे टाउनशिप, यांगून रीजन में लोगों ने बर्तन पीट कर सेना का विरोध किया. उस समय सेना ने लोगों से कहा कि बर्तन पीटना जारी रहा तो वह आगजनी करेंगे. सोशल मीडिया पर ऐसे कई वीडियो सामने आए हैं जिसमें सेना और पुलिस लोगों को बर्तन पीटने से रोक रही है. देश में सेना का विरोध बर्तन पीट करना आम बात हो गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज