लाइव टीवी

चंद्रमा के पास से गुजरे अमेरिकी मिशन को नहीं मिला विक्रम लैंडर का कोई सुराग: नासा

भाषा
Updated: October 23, 2019, 12:38 PM IST
चंद्रमा के पास से गुजरे अमेरिकी मिशन को नहीं मिला विक्रम लैंडर का कोई सुराग: नासा
चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर का एक बार फिर कोई सुराग नहीं मिला

चंद्रमा ऑर्बिटर (Orbiter) द्वारा कैद की गई तस्वीरों में चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर (Vikram Lander) का कोई सुराग नहीं मिला है.

  • Share this:
वाशिंगटन. अंतरिक्ष एजेंसी नासा (NASA) ने कहा है कि चंद्रमा क्षेत्र के पास से हाल ही में गुजरे उसके चंद्रमा ऑर्बिटर द्वारा कैद की गई तस्वीरों में चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर (Vikram Lander) का कोई सुराग नहीं मिला है. यह ऑर्बिटर चंद्रमा के उस क्षेत्र से गुजरा था जहां भारत के महत्त्वाकांक्षी मिशन चंद्रयान-2 (Chandrayaan-2) ने सॉफ्ट लैंडिंग का प्रयास किया था.

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ने 7 सितंबर को चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर विक्रम की सॉफ्ट लैंडिंग कराने का प्रयास किया था लेकिन लैंडर से संपर्क टूट जाने के बाद से उसका कुछ पता नहीं चल सका. लूनर रिकॉनसन्स ऑर्बिटर (LRO) के परियोजना वैज्ञानिक नोआह एडवर्ड पेट्रो ने ई-मेल के जरिए विशेष बातचीत में पीटीआई-भाषा को बताया कि “एलआरओ मिशन ने 14 अक्टूबर को चंद्रयान-2 विक्रम लैंडर सॉफ्ट लैंडिंग वाले स्थान की तस्वीरों को कैद किया लेकिन उसे लैंडर का कोई सुराग नहीं मिला.”

पीट्रो ने बताया कि कैमरा टीम ने बहुत ध्यान से इन तस्वीरों का अध्ययन किया और बदलाव का पता लगाने वाली तकनीक का भी इस्तेमाल किया जिसमें लैंडिग की कोशिश से पहले की तस्वीर और 14 अक्टूबर को ली गई तस्वीर के बीच तुलना की गई. एलआरओ मिशन परियोजना के उप वैज्ञानिक जॉन केलर ने पीटीआई-भाषा को बताया कि यह संभव है कि विक्रम किसी छाया में छिपा हो या फिर जिस क्षेत्र में हमने उसे खोजा, वहां पर वह नहीं हो. यह क्षेत्र कभी भी छाया से पूरी तरह से मुक्त नहीं होता है.

इससे पहले 17 सितंबर को किए गए एक मिशन में भी एलआरओ टीम को लैंडर की तस्वीर लेने या उसका पता लगाने में कामयाबी नहीं मिली थी. 17 सितंबर को भी नासा का लूनर रिकॉनिस्सेंस ऑर्बिटर(एलआरओ) चांद के इसी इलाके से गुजरा था और उसने वहां तस्वीरें भी ली थीं, लेकिन उस फ्लाईओवर के दौरान ली गई तस्वीरों में भी वैज्ञानिक विक्रम का पता नहीं लग पाया था.

ये भी पढ़ें :

दो आतंकवादियों के बारे में विश्वसनीय सूचना देने पर 15 लाख रुपये का नकद इनाम

भारतीय-अमेरिकी अटॉर्नी रवि बत्रा बोले, आंतकवाद के जड़ से उखाड़ने की जरूरत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 23, 2019, 12:19 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...