लाइव टीवी

नासा ने 47 साल बाद खोला वो रहस्‍यमयी डिब्‍बा, जिसमें दफन हैं चांद के राज

News18Hindi
Updated: November 11, 2019, 11:55 PM IST
नासा ने 47 साल बाद खोला वो रहस्‍यमयी डिब्‍बा, जिसमें दफन हैं चांद के राज
नासा ने ब्रम्‍हांड का कुछ रहस्‍य खोला है.

नासा (NASA) ने 1972 में अपने अपोलो 17 (Apollo 17 Mission) चंद्र मिशन (Moon mission) के तहत तीन अंतरिक्ष यात्रियों को चांद पर भेजा था. इनमें से दो ने चांद (Moon) की सतह से मिट्टी और चट्टानों के नमूने लिए थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 11, 2019, 11:55 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. चांद (Moon) के रहस्‍यों को उजागर करने और वहां पानी व जीवन की संभावनाएं तलाशने के लिए स्‍पेस एजेंसियां (Space Agency) कई साल से शोध कर रही हैं. इसी के तहत अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा (NASA) ने 47 साल बाद वो डिब्‍बा खोला है, जिसमें चांद के रहस्‍य छिपे हैं. दरअसल इसमें चांद की मिट्टी और चट्टानों के सैंपल (Moon Soil Sample) हैं. इन्‍हें 1972 में नासा के अपोलो 17 (Apollo 17 Mission) चंद्र अभियान के दौरान लिया गया था. अब नासा इन पर शोध करके इनसे प्राप्‍त नतीजों को 2024 में लॉन्‍च होने वाले आर्टिमिस मिशन के लिए इस्‍तेमाल करेगी.

नासा ने 1972 में अपने अपोलो 17 चंद्र मिशन के तहत तीन अंतरिक्ष यात्रियों को चांद पर भेजा था. इसमें यूगीन सरनन, हैरसिन स्मिथ और रोनाल्‍ड इवंस शामिल थे. इनमें से सरनन और स्मिथ ने चांद की सतह से मिट्टी और चट्टानों के नमूने लिए थे. नासा के सभी अपोलो मिशन के तहत चांद से करीब 386 किलोग्राम नमूने लाए गए थे.

नासा ने नमूनों का अध्‍ययन शुरू किया.


कुल 386 नमूने लाए गए थे चांद से

नासा ने 5 नवंबर को इनमें से कुछ नमूनों को खोला है. इसे ह्यूस्‍टन में स्थित नासा के जॉनसन स्‍पेस सेंटर की लूनर क्‍यूरेशन लैबोरेटरी में वैज्ञानिकों ने खोला है. चांद से लाए गए कुल 386 नमूनों में से नासा ने कुछ नमूने सुरक्षित रख लिए थे. नासा का मानना था कि भविष्‍य में जब इनके अध्‍ययन की और बेहतर तकनीक आ जाएंगी तो इन्‍हें निकालकर शोध किया जाएगा.

भविष्‍य के अभियानों में मिलेगी मदद
नासा के वैज्ञानिक डॉक्‍टर साराह नोबल ने कहा कि इस वक्‍त हम वे शोध भी करने में सक्षम हैं जो उस समय नहीं थे, जब ये नमूने लाए गए थे. उनके अनुसार इन नमूनों के अध्‍ययन से भविष्‍य में होने वाले चंद्र अभियानों में इस्‍तेमाल होने वाली तकनीकों और वैज्ञानिकों के शोध में काफी मदद मिलेगी. इससे नई संभावनाएं भी उजागर होंगी.
Loading...

दूसरा डिब्‍बा जनवरी में खुलेगा
नासा ने सभी नमनों में से दो सैंपल अध्‍ययन के लिए चुने हैं. इन्‍हें वैज्ञानिक नाम 73002 और 73001 दिया गया है. 73002 को नासा के वैज्ञानिकों ने पूरी तरह से खोल दिया है. जबकि 73001 को माना जा रहा है कि जनवरी 2020 में खोला जाएगा. इन दोनों नमूनों को दो फुट लंबे ट्यूब में लिया गया था. इन्‍हें चांद के लारा क्रेटर के पास हुए भूस्‍खलन की साइट से लिया गया था. नासा ने इनको खोलने से पहले इनका एक्‍सरे लिया था. ये सैंपल एक डिब्‍बे में रखे हैं. इनके अंदर सूखी नाइट्रोजन है. ऐसा इन्‍हें खराब होने से बचाने के लिए किया गया है.

यह भी पढ़ें: चंद्रमा के पास से गुजरे अमेरिकी मिशन को नहीं मिला विक्रम लैंडर का कोई सुराग: नासा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अमेरिका से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 11, 2019, 7:06 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...