होम /न्यूज /दुनिया /नासा के शक्तिशाली टेलीस्कोप ने खींची ब्रह्मांड की शानदार तस्वीरें, आपने देखीं क्या?

नासा के शक्तिशाली टेलीस्कोप ने खींची ब्रह्मांड की शानदार तस्वीरें, आपने देखीं क्या?

ये तस्वीरें नासा की सोफ़िया टेलिस्कोप द्वारा खीचीं गईं हैं.   (फोटो-NASA/Instagram)

ये तस्वीरें नासा की सोफ़िया टेलिस्कोप द्वारा खीचीं गईं हैं. (फोटो-NASA/Instagram)

नासा के स्ट्रैटोस्फेरिक ऑब्जर्वेटरी फॉर इन्फ्रारेड एस्ट्रोनॉमी (SOFIA) विमान ने गुरुवार को अपनी अंतिम उड़ान शुरू की. अम ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

नासा ने SOFIA द्वारा आकाशीय पिंडो की खीचीं तस्वीर साझा की है.
SOFIA नासा की उड़ने वाली ऑब्जर्वेटरी टेलिस्कोप है.
2010 में इसने पहली उड़ान भरी थी और 2022 इसका आखिरी वर्ष होगा.

वॉशिंगटन:  नासा के स्ट्रैटोस्फेरिक ऑब्जर्वेटरी फॉर इन्फ्रारेड एस्ट्रोनॉमी (SOFIA) विमान ने गुरुवार को अपनी अंतिम उड़ान शुरू की. अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी (NASA) ने SOFIA द्वारा लिए गए ब्रह्माण्ड के कुछ रोमांचकारी तस्वीरों को साझा किया है. नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (NASA) ने इंस्टाग्राम पर जानकारी दी कि SOFIA टेलीस्कोप, दुनिया का सबसे बड़ा एयरबोर्न टेलीस्कोप, बोइंग 747 के मॉडिफाइड विमान में रख कर उड़ाया गया था. SOFIA  2010 से अब तक 921 उड़ानें भरी चुका है.

ये टेलिस्कोप कुछ अंतरिक्ष यात्रिओं के संग राउंड ट्रिप के लिए उड़ान भरा था. नासा ने कैप्शन में लिखा, “रात के अंधेरे और सुबह के अंधेरे में लगभग 41,000 फीट (12,500 मीटर) की ऊंचाई पर मंडराते हुए, सोफिया ने बहुत से आकाशीय पिंडों अवलोकन किया है.”

View this post on Instagram

A post shared by NASA (@nasa)

नासा द्वारा शेयर की गई तस्वीरों का विवरण इस प्रकार है-

  • पहली तस्वीर ‘सेंटोरस ए-आकाशगंगा की है – इसके केंद्र में नारंगी और गहरे लाल धूल वाली पथ हैं और इसके बाहरी इलाके में नीले रंग का एक हल्का खोल होता है.
  • दूसरी तस्वीर में ‘ओरियन नेबुला’ का एक 3D दृश्य है, जो एक “बुलबुला” सहित नेबुला की विस्तृत संरचना को प्रकट करती है, जिसे एक शक्तिशाली तारकीय हवा द्वारा गैस और धूल से साफ किया गया है.
  • तीसरी तस्वीर ‘सिगार गैलेक्सी’ की है.ये केंद्रीय विस्फोट के कारण लाल स्ट्रीमलाइन बाहर की ओर जाती हुई दिखती है. इसके केंद्र के चारों ओर भूरे रंग का स्टारलाइट का छल्ला दिखता है और इस छल्ले के चारो ओर लाल रंग हाइड्रोजन की उपस्थिति और पीले रंग धूलकण की वजह से दिखाई देती है.”
  • चौथी तस्वीर ‘ओमेगा नेबुला’ का है और पांचवीं तस्वीर सूर्यास्त के समय उड़ते हुए सोफिया मिशन का है.

SOFIA, जिसके लिए NASA ने जर्मन अंतरिक्ष एजेंसी (DLR) के साथ भागीदारी की थी, यह एक उड़ने वाली ऑब्जर्वेटरी है. SOFIA को बनाने का कार्य 1996 में शुरू किया था.  SOFIA ने अपनी पहली उड़ान 2010 में भरी थी, हालांकि इसकी पूर्ण कार्य क्षमता 2014 में विकसित हुई थी. सन 2020 में चांद की सूर्य की रोशनी से प्रकशित भाग पर पानी के साक्ष्य खोजने में मदद की थी.  2022 भी सोफ़िया के लिए बहुत दिलचस्प रहा है क्यूंकि इसने चांद के सतह पर और भी पानी खोजने में मदद की थी.

Tags: Astrology, Nasa, Nasa study

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें