इस्लामिक स्टेट का आखिरी ठिकाना भी धवस्त, ट्रकों में भरकर निकाले गए लोग

इस्लामिक स्टेट के आतंकियो में पूरी तरह से डर का माहौल था, इसलिए उन्होंने विरोध करने के बजाय सरेंडर कर दिया.

News18Hindi
Updated: February 23, 2019, 2:57 PM IST
इस्लामिक स्टेट का आखिरी ठिकाना भी धवस्त, ट्रकों में भरकर निकाले गए लोग
सेना ने करीब चालीस ट्रकों में आदमियों, औरतों और बच्चों को भरकर जगह खाली करवाई. (AP फोटो)
News18Hindi
Updated: February 23, 2019, 2:57 PM IST
अमेरिका की अगुवाई वाली नाटो सेना ने पिछले चार सालों से दुनिया में आतंक का पर्याय बन चुके इस्लामिक स्टेट के अंतिम अड्डे सीरिया के बागूज को भी मुक्त करा लिया है. अमेरिका के नेतृत्व में नाटो की सेना ने सीरिया डेमोक्रेटिक फोर्स के साथ मिलकर इस कार्रवाई को अंजाम दिया और बड़े पैमाने पर आतंकवादियों को सरेंडर करवाया.

सेना ने नागरिकों को ट्रकों में भरकर वहां से मुक्त कराया. इसके साथ ही पिछले चार सालों से सीरिया और ईराक के कुछ इलाकों में फैला हुआ इस्लामिक स्टेट का आतंक खत्म हो गया. सेना ने करीब चालीस ट्रकों में आदमियों, औरतों और बच्चों को भरकर जगह खाली करवाई.

ये भी पढ़ें- 'सबसे खतरनाक देश है पाकिस्तान, आतंकी हमले का रिस्क सीरिया से 3 गुना अधिक'

आतंकियो में पूरी तरह से डर का माहौल था, इसलिए उन्होने विरोध करने के बजाय सरेंडर कर दिया. इससे पहले नाटो की सेना ने इन पर दबाव बनाने के लिए हवाई हमले भी किए थे.

डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक सेना ने इराक के करीब बसे इस इलाके की करीब एक हफ्ते से घेराबंदी कर रखी थी. इसके बावजूद सीरियाई सेना इन्हें निशाना नहीं बनाया, क्योंकि बहुत से आम नागरिक यहां फंसे हुए थे.

2017 में मोसुल और रक्का में हारने के बाद इस्लामिक स्टेट के कब्जे में यह आखिरी गांव था. डोनाल्ड ट्रंप ने पिछले साल दिसंबर में घोषणा की थी कि सीरिया से 2000 सैनिकों को वापस बुलाया जाएगा. ट्रंप का कहना था कि इस्लामिक स्टेट को हराया जा चुका है. हालांकि, अभी भी अमेरिका सीरिया में करीब 200 सैनिकों को रखेगा.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 23, 2019, 1:34 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...