पाकिस्तान में नवाज और जरदारी का ऐलान-ए-जंग, इमरान की बढ़ेगी मुसीबत

फोटो सौ. (रॉयटर्स)
फोटो सौ. (रॉयटर्स)

पाकिस्तान (Pakistan) में घरेलू मामलों में घिरी इमरान सरकार की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं. दरअसल, विपक्षी दल रविवार को सर्वदलीय सम्मेलन का आयोजन कर रहे हैं. खास बात यह कि इसे पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ (Nawaz sharif) भी संबोधित करने वाले हैं. जाहिर है, विपक्षी दल इमरान सरकार की नाकामियां गिनाएंगे और इस्तीफा मांगेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 20, 2020, 5:10 PM IST
  • Share this:
इस्लामाबाद. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) के खिलाफ अब पूरा विपक्ष एकजुट हो रहा है. रविवार को पाकिस्तानी पीपुल्स पार्टी के आसिफ अली जरदारी और बिलावल भुट्टो अपने प्रतिद्वंदी पीएमएल के प्रमुख नवाज शरीफ (Nawaz Sharif) और शहबाज शरीफ के साथ मिलकर इमरान के खिलाफ जंग का ऐलान करेगी. सभी नेता वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए इस रैली को संबोधित करेंगे. बताया जा रहा है कि पाकिस्तानी सेना का भी इमरान खान से अब मोहभंग हो चुका है, इसलिए वह विपक्ष को खड़ा करने की कोशिश कर रहा है. पाकिस्तान पीपुल्ल पार्टी ने एक बयान जारी कर कहा कि इस सभा का लाइव टेलिकॉस्ट किया जाएगा. इसे पीपीएल-एन सुप्रीमो नवाज शरीफ और पीपीपी के अध्यक्ष आसिफ अली जरदारी भी संबोधित करेंगे. इस बयान में यह भी कहा गया है कि पार्टी अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर एक लिंक उपलब्ध करवाएगी. इसी लिंक पर क्लिक कर यूजर्स अपने नेता का भाषण सुन सकेंगे.

इमरान खान के राजनीतिक सलाहकार शाहबाज गिल ने चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर नवाज शरीफ के भाषण का सोशल मीडिया पर प्रसारण होता है तो पाकिस्तान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया नियामक प्राधिकरण और अन्य कानूनी एजेंसियां कार्रवाई करेंगी. वहीं, नवाज की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज ने ऐलान किया है कि वे हर हाल में इस रैली को संबोधित करेंगे. बताया जा रहा है कि इस रैली में जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम-फजल के प्रमुख मौलाना फजल-उर-रहमान और अवामी नेशनल पार्टी के सफंदरयार वली भी शामिल हो सकते हैं. पीपीपी के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो जरदारी ने जेयूआई-एफ के प्रमुख फजल-उर-रहमान को उनके घर जाकर निमंत्रण दिया था. इसके अलावा बिलावल ने बलूचिस्तान नेशनल पार्टी-मेंगल (बीएनपी-एम) के प्रमुख अख्तर मेंगल को भी निमंत्रण दिया है. हालांकि जमात-ए-इस्लामी ने इस रैली में शामिल होने से इनकार कर दिया है.

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान के पूर्व PM नवाज शरीफ कर रहे फिर से राजनीति में वापसी की तैयारी



सभी विपक्षियों को किया एकजुट
बेनजीर भुट्टो और आसिफ अली जरदारी के बेटे बिलावल भुट्टो काफी पहले से इमरान के खिलाफ विपक्ष को एकजुट करने का प्रयास कर रहे थे. इमरान खान सरकार ने सभी विपक्षी नेताओं पर किसी न किसी आरोप में मुकदमा दर्ज किया हुआ है. जिसके बाद विपक्षी पार्टियां इमरान खान सरकार को हटाने के लिए एकजुट हो रही हैं. माना जा रहा है कि अगले चुनाव में ये पार्टियां गठबंधन भी कर सकती हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज