PAK: मरयम नवाज भी हो सकती हैं गिरफ्तार, सिंध पुलिस और सेना तकरार के मूड में

पाकिस्तान में सिंध पुलिस और सेना के बीच तनाव
पाकिस्तान में सिंध पुलिस और सेना के बीच तनाव

पूर्व पीएम नवाज़ शरीफ (Nawaz Sharif) की बेटी मरयम नवाज़ (Maryam Nawaz) पर भी अब गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है. इससे पहले उनके पति मोहम्मद सफ़दर को भी गिरफ्तार कर लिया गया था. सफ़दर की गिरफ्तारी के बाद सिंध पुलिस ने सेना पर उनके आईजी को बंधक बनाने का आरोप भी लगाया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 22, 2020, 12:04 PM IST
  • Share this:
इस्लामाबाद. पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज की उपाध्यक्ष मरयम नवाज (Maryam Nawaz) पर गिरफ्तारी की तलवार लटक गई है. उनको जमानत की शर्तों के उल्लंघन के आरोप में गिरफ्तार किया जा सकता है. मिली जानकारी के मुताबिक राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो जमानत उल्लंघन का मामला तैयार कर रहा है और उनकी जमानत रद्द की जा सकती है. उधर सिंध पुलिस ने सेना और इमरान सरकार से मोर्चा लेने का मन बना लिया है और जल्द ही पुलिस की एक बड़ी हड़ताल भी देखने को मिल सकती है.

इससे पहले मरयम के पति मुहम्मद सफदर को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है. हालांकि, उनको कुछ देर बाद जमानत पर रिहा भी कर दिया गया था. पाकिस्तान के इतिहास में शायद ये पहली बार है, जब ऐसा आरोप लगा है कि पुलिस के एक बड़े अफ़सर को ही 'अग़वा' कर लिया गया और उनसे ज़बरदस्ती एक नेता को गिरफ़्तार करवाने के लिए दस्तख़त करवाए गए. और वो नेता थे पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ के दामाद और रिटायर्ड फ़ौजी कैप्टन मोहम्मद सफ़दर.

पुलिस हड़ताल के मूड में
अब पुलिस वालों ने इसे अपनी इज़्ज़त का मामला बना लिया और फिर अफ़सर और उनके एक दर्जन से ज़्यादा दूसरे अफ़सरों ने दो महीने के लिए छुट्टी पर जाने की दरख़्वास्त डाल दी. इसके बाद पुलिस अफ़सरों ने अपनी छुट्टी की अर्ज़ी को और 10 दिन के लिए टाल दिया है. इस मामले को लेकर अब सत्ता पक्ष और विपक्ष आमने-सामने आ गए हैं.
हालाँकि, दोनों के बीच टकराव इस घटना से कुछ समय पहले ही शुरू हो गया था और इस हफ़्ते जो भी हुआ वो उसी की एक कड़ी है. सिंध के पुलिस प्रमुख मुश्ताक महार ने अपनी छुट्टी टाल दी है और उन्होंने अपने अधिकारियों से भी देश के व्यापक हित में 10 दिनों के लिए छुट्टी टालने का अनुरोध किया है. सफदर की गिरफ्तारी के हालात की सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा द्वारा जांच का आदेश दिए जाने के बाद पुलिस प्रमुख ने अधिकारियों से यह अनुरोध किया है.



मौलाना डीजल ने भी दी चेतावनी
उधर पाकिस्तान में विपक्ष ने मंहगाई, बिजली नहीं रहने और दूसरे आर्थिक मुद्दों को लेकर इमरान ख़ान सरकार को घेरना शुरू कर दिया है. वहाँ विपक्षी दलों ने मिलकर पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) नाम का एक गठबंधन बनाया है. इस बीच, जमीयत उलमा-ए-इस्लाम (एफ) के प्रमुख मौलाना फजलुर रहमान ने बुधवार को पाकिस्तानी सेना को चेतावनी दी कि वह सरकार और पुलिस के मामलों में दखल देना बंद करे, अन्यथा देश में एकता नहीं रह पाएगी. रहमान ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि कराची की हालिया घटनाओं से साफ हो गया है कि पाकिस्तान में हर चीज पर सेना का सख्त नियंत्रण है.



पूर्व पीएम नवाज़ शरीफ (Nawaz Sharif) की बेटी मरयम नवाज़ (Maryam Nawaz) पर भी अब गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है. इससे पहले उनके पति मोहम्मद सफ़दर को भी गिरफ्तार कर लिया गया था. सफ़दर की गिरफ्तारी के बाद सिंध पुलिस ने सेना पर उनके आईजी को बंधक बनाने का आरोप भी लगाया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज