राहुल गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ने वाले NDA कैंडिडेट तुषार चेक बाउंस मामले में यूएई में गिरफ्तार

भाषा
Updated: August 22, 2019, 7:51 PM IST
राहुल गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ने वाले NDA कैंडिडेट तुषार चेक बाउंस मामले में यूएई में गिरफ्तार
तुषार वेल्लापल्ली (Thushar Vellapally) को होटल से तब गिरफ्तार किया गया जब उन्हें मामले के संबंध में चर्चा करने के लिए वहां बुलाया गया था.

तुषार वेल्लापल्ली (Thushar Vellapally) को होटल से तब गिरफ्तार किया गया जब उन्हें मामले के संबंध में चर्चा करने के लिए वहां बुलाया गया था.

  • Share this:
केरल में भाजपा नीत राजग (BJP-NDA) की गठबंधन सहयोगी भारत धर्म जन सेना (BDJS) के अध्यक्ष तुषार वेल्लापल्ली (Thushar Vellapally) को 19 करोड़ रुपये के चेक बाउंस मामले में जमानत मिल गई है. उन्हें संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के अजमान में गिरफ्तार कर लिया गया था. तुषार वेल्लापल्ली ने केरल की वायनाड लोकसभा सीट से राजग उम्मीदवार के रूप में कांग्रेस नेता राहुल गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ा था. इस सीट पर इस साल 23 अप्रैल को मतदान हुआ था.

खलीज टाइम्स ने गुरुवार को बीडीजेएस के एक स्थानीय सूत्र के हवाले से कहा कि वेल्लापल्ली को अजमान स्थित एक होटल से मंगलवार को गिरफ्तार किया गया था.

गल्फ न्यूज ने वेल्लापल्ली के संबंधी के. एस. वाचस्पति के हवाले से कहा कि अजमान लोक अभियोजन ने वेल्लापल्ली को जमानत दे दी है, लेकिन वह दीवानी मामले के निस्तारण तक यात्रा नहीं कर सकते.

'यह पूरी तरह धोखाधड़ी का मामला'

वाचस्पति ने कहा, 'हमने जमानत हासिल करने की शर्तों को माना है, उन्हें यात्रा के लिए दीवानी मामले का निपटारा करना होगा. हमें विश्वास है कि वह ऐसा करने में सफल होंगे. यह पूरी तरह धोखाधड़ी का मामला है क्योंकि उन्होंने शिकायतकर्ता के नाम इस तरह का चेक कभी भी जारी नहीं किया. यह चुराया गया चेक हो सकता है. या फिर हो सकता है कि उनके किसी विश्वस्त ने धोखा किया हो जिसके पास वह यात्रा के समय खाली चेक रखते हों.'

यह भी पढ़ें :  पी चिदंबरम के बचाव में आए शशि थरूर, कहा- अंत में न्याय होगा

होटल से हुए गिरफ्तार
Loading...

वेल्लापल्ली को होटल से तब गिरफ्तार किया गया जब उन्हें मामले के संबंध में चर्चा करने के लिए वहां बुलाया गया था. वेल्लापल्ली श्री नारायण धर्म परिपालन (एसएनडीपी) योगम के उपाध्यक्ष भी हैं. यह संगठन राज्य के पिछड़ा इझावा समुदाय का एक प्रमुख संगठन है.

खलीज टाइम्स ने सूत्रों के हवाले से कहा कि वेल्लापल्ली ने 2009 में एक निर्माण कंपनी को एक करोड़ दिरहम (लगभग 19 करोड़) रुपये का एक चेक दिया था जो बाउंस हो गया. चेक बाउंस होने की शिकायत त्रिशूर से ताल्लुक रखने वाले और अब अजमान में रह रहे उप-ठेकेदार एन अब्दुल्ला ने दर्ज कराई थी. वह वेल्लापल्ली के स्वामित्व वाली बोइंग कंस्ट्रक्शन कंपनी एलएलसी के लिए काम करता था. यह कंपनी अब निष्क्रिय है.

 पिनराई विजयन ने हस्तक्षेप करने की मांग
केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने गुरुवार को विदेश मंत्री एस जयशंकर को पत्र लिखकर मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की. पत्र की प्रति मीडिया को जारी की गई जिसमें उन्होंने वेल्लापल्ली की कुशलक्षेम और उनके स्वास्थ्य को लेकर चिंता जताई.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 22, 2019, 7:30 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...