इस पॉलिटिकल पार्टी ने समर्थकों से कहा- यहूदी और मुस्लिमों को करो कोरोना से संक्रमित

इस पॉलिटिकल पार्टी ने समर्थकों से कहा- यहूदी और मुस्लिमों को करो कोरोना से संक्रमित
फोटो सौ. (CNN)

कमीशन फ़ार काउंटरिंग एक्सट्रीमिज़्म का कहना है कि चरमपंथी संगठनों ने कोरोना महामारी (Coronavirus) को अपने एजेंडे के लिए इस्तेमाल किया है.

  • Share this:
लंदन. ब्रिटेन में नियो नाज़ी कहे जाने वाले संगठन ने अपने समर्थकों से कहा है कि वह देश में मुसलमानों (Muslims) और यहूदियों (Jews) के बीच कोरोना वायरस फैलाएं. सीएनएन में छपी ख़बर के अनुसार फ़ार-राइट चरमपंथी कहे जाने वाले नियो नाज़ी संगठन ने इसके साथ ही जातीय अल्पसंख्यकों की कोरोना वायरस से अधिक मौत का जश्न भी मनाया है. कमीशन फ़ार काउंटरिंग एक्सट्रीमिज़्म की जांच से यह बात सामने आई कि कई प्रकार के चरमपंथी संगठन हैं जो समाज में नफ़रत फैला रहे हैं और यह रिपोर्टें मिली हैं कि नियो नाज़ी संगठन मुसलमानों के बारे में यह झूठ फैला रहे हैं कि वह कोरोना वायरस की महामारी से ख़ुश हैं इसे ईश्वर की नेमत समझते हैं जो पश्चिमी देशों को दंडित करने के लिए दी गई है.

साथ ही अति दक्षिणवादी चरमपंथियों की वेबसाइट पर कोरोना वायरस की महामारी में जातीय अल्पसंख्यकों की कोरोना से होने वाली मौतों की अधिक दर पर ख़ुशी मनायी जा रही है. कमीशन फ़ार काउंटरिंग एक्सट्रीमिज़्म का कहना है कि चरमपंथी संगठनों ने महामारी को अपने एजेंडे के लिए इस्तेमाल किया है.

रेस्टोरेंट में खाने पर मिलेगी 50 फीसद की छूट
वहीं, दूसरी तरफ ब्रिटेन की सरकार ने रेस्टोरेंट उद्योग के लिए आर्थिक पैकेज की घोषणा की है. यहां अगस्त तक रेस्टोरेंट में खाने वालों को 50 फीसद की छूट मिलेगी. इसके लिए 'ईट आउट टू हेल्प आउट' योजना शुरू की गई है. जिसका मकसद रेस्टोरेंट उद्योग को घाटे से उबारना और नौकरी पैदा करना है. कोरोना वायरस से उपजी परिस्थिति के बाद ब्रिटेन ने रेस्टोरेंट उद्योग को बड़ी सौगात दी है. रोस्टोरेंट इंडस्ट्री को बोझ से उबारने के लिए सरकार ने नए आर्थिक पैकेज का ऐलान किया है. 'ईट आउट टू हेल्प आउट' योजना के तहत रेस्टोरेंट में खानेवालों को 50 फीसद की छूट मिलेगी. इसके अलावा भी घाटे में चल रहे रेस्टोरेंट को उबारने के लिए कई उपाय किए गए हैं. जिसमें खाने-ठहरने पर लगनेवाले टैक्स को 20 फीसद से घटाकर 5 फीसद कम कर दिया गया है.
ये भी पढ़ें: PNB Fraud: ब्रिटेन में 6 अगस्त तक बढ़ी नीरव मोदी की न्यायिक हिरासत



सरकार ने शुरू की 'ईट आउट टू हेल्प आउट' योजना
गौरतलब है कि लॉकडाउन के कारण रेस्टोरेंट बंद कर दिए गए थे. इस दौरान रेस्टोरेंट मालिकों को भारी किराया चुकाना पड़ा. जब रेस्टोरेंट दोबारा खोलने की इजाजत मिली तो उद्योग संगठन ने सरकार से अपील की. रेस्टोरेंट मालिकों ने बताया कि सोशल डिस्टेंसिंग के चलते अभी भी उद्योग को फायदा नहीं पहुंच रहा है. लिहाजा उनकी मांग पर सरकार मदद को आगे आई और राहत पैकेज की घोषणा की. सरकार के उठाए गए कदम पर रेस्टोरेंट मालिकों ने मिली जुली प्रतिक्रिया दी है. कुछ लोगों ने इसे बड़ी राहत अपने लिए बताया है तो कुछ लोग रेस्टोरेंट उद्योग को घाटे से उबारने के लिए अभी और उपाय करने उम्मीद जता रहे हैं. उन्होंने किराए के मुद्दे पर भी सरकार का ध्यान अपनी तरफ खींचा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading