लाइव टीवी

नेपाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 'सागरमाथा संवाद' के लिए आमंत्रित किया

भाषा
Updated: January 24, 2020, 3:24 PM IST
नेपाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 'सागरमाथा संवाद' के लिए आमंत्रित किया
इस आयोजन में भारत, पाकिस्तान समेत दक्षेस देशों के नेताओं को भी आमंत्रित किया गया है.

सागरमाथा संवाद फोरम में वैश्विक, क्षेत्रीय और राष्ट्रीय महत्व के मुद्दों पर चर्चा की जाएगी. सागरमाथा संवाद का आयोजन 02 से 04 अप्रैल के बीच किया जाएगा. इसका विषय 'जलवायु परिवर्तन, पर्वत और मानवता का भविष्य' होगा.

  • Share this:
काठमांडू. नेपाल (Nepal) के विदेश मंत्री प्रदीप कुमार ग्यावली ने शुक्रवार को कहा है कि उनके देश ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) को पहले सागरमाथा संवाद फोरम में हिस्सा लेने के लिए आमंत्रित किया है, जिसका आयोजन इस वर्ष अप्रैल में किया जाएगा.

विदेश मंत्री ने बताया कि सागरमाथा संवाद फोरम में वैश्विक, क्षेत्रीय और राष्ट्रीय महत्व के मुद्दों पर चर्चा की जाएगी. नेपाल के दौरे पर गये भारतीय संवाददाताओं के एक समूह को संबोधित करते हुए विदेश मंत्री ने कहा 'सागरमाथा संवाद' का आयोजन 02 से 04 अप्रैल के बीच किया जाएगा. इसका विषय 'जलवायु परिवर्तन, पर्वत और मानवता का भविष्य' होगा.

ग्यावली ने बताया, 'हमने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आमंत्रित किया है और इसकी पुष्टि की प्रतीक्षा कर रहे हैं.' उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम में पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) समेत दक्षेस देशों के सभी नेताओं को आमंत्रित किया गया है और इन सभी क्षेत्रीय नेताओं की मेजबानी कर नेपाल को प्रसन्नता होगी ताकि क्षेत्र के समक्ष उत्पन्न चनौतियों पर वे सब एक दूसरे के साथ चर्चा कर सकें. ग्यावली ने बताया कि दुनिया के सबसे ऊंचे पर्वत सागरमाथा (माउंट एवरेस्ट) के नाम पर इस कार्यक्रम का नाम 'संवाद' रखा गया है, जो दोस्ती का प्रतीक है.

नेपाल के विदेश मंत्री ने बताया कि इसका मुख्य उद्देश्य जलवायु संकट और इसके दुष्प्रभाव से निपटने के लिए राजनीतिक नेताओं की दृढ़ इच्छाशक्ति को बढावा देने के लिए आपस में

एक आम सहमति बनाना है. दक्षेस देशों में अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, भारत, मालदीव, नेपाल, पाकिस्तान और श्रीलंका शामिल है.

 
ये भी पढ़ें-सऊदी अरब में मकानों का किराया क्‍यों कम हो रहा है?

 

ICJ में रोहिंग्या शरणार्थियों की जीत, कोर्ट ने म्यांमार से कहा-नरसंहार रोको

 

 

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 24, 2020, 3:24 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर